बढ़ रहा क्राइम का ग्राफ:जसोल में पुलिस थाना सदर खोलने का प्रस्ताव भेजा बढ़ते अपराधों पर अंकुश लगेगा,17 पंचायतें जुड़ेगी

बालोतरा17 दिन पहलेलेखक: स्वरुपसिंह सोढ़ा
  • कॉपी लिंक
बालोतरा थाना क्षेत्र में आपराधिक घटनाओं व दुर्घटनाओं का ग्राफ वर्ष दर वर्ष बढ़ रहा है। - Dainik Bhaskar
बालोतरा थाना क्षेत्र में आपराधिक घटनाओं व दुर्घटनाओं का ग्राफ वर्ष दर वर्ष बढ़ रहा है।

बालोतरा थाना क्षेत्र में आपराधिक घटनाओं व दुर्घटनाओं का ग्राफ वर्ष दर वर्ष बढ़ रहा है। इधर, बालोतरा को जिला बनाने की कवायद भी तेज हो रही है, इसे देखते हुए पुलिस महकमा खुद बालोतरा क्षेत्र में सदर थाना की स्वीकृति की मांग कर रहा है। इसे लेकर जसोल में सदर थाना स्वीकृति के लिए पुलिस उच्चाधिकारियों को प्रस्ताव भिजवाया गया है। इसमें जसोल-बिठूजा सहित 17 ग्राम पंचायतों को शामिल किया गया है।

सदर थाना निर्माण को लेकर जसोल फांटा के समीप नगर परिषद की अवाप्ति की गई जमीन भी उपलब्ध है। जहां पर हाल ही में जिला एवं सेशन न्यायालय परिसर के लिए 9 बीघा जमीन आवंटित की गई है। स्थानीय विधायक व पुलिस उच्चाधिकारियों के मुताबिक मार्च माह तक सदर थाने को स्वीकृति मिल सकती है।

ऐसे में नया थाना खुलने से वर्तमान में लंबित प्रकरणों का निस्तारण भी समय पर हो पाएगा। साथ ही जाब्ता बढ़ने से रात्रि गश्त भी सुचारु हो पाएगी। इससे क्षेत्र में घटित आपराधिक वारदातों पर अंकुश लगने के साथ ही फरियादियों को समय पर न्याय मिल पाएगा।

उल्लेखनीय है कि शहर में लगातार बढ़ रहे अपराधों पर अंकुश लगाने में स्थानीय पुलिस नाकाम साबित हो रही है। इसका सबसे बड़ा कारण स्थानीय पुलिस थाने में पर्याप्त पुलिस बल का नहीं होना है। बालोतरा थानांतर्गत पहले से ही तीन बड़े इंस्ट्रीयल एरिया आ रहे है, इस पर अब रिफाइनरी कार्य शुरु होने के बाद हजारों बाहरी श्रमिक आ गए हैं। ऐसे में दुर्घटनाओं के साथ आपराधिक घटनाएं भी बढ़ी है।

सालाना 600 से अधिक क्राइम वाले इस थाने में लंबे समय से जाब्ता की कमी चल रही है, ऐसे में लंबित आपराधिक प्रकरणों का समय पर निस्तारण नहीं हो रहा है। वहीं आपराधिक वारदातों व चोरी की घटनाओं पर अंकुश लगाने में भी पुलिस नाकाम साबित हो रही है। ऐसे में बालोतरा थाने में पद भरने के साथ ही आबादी के लिहाज से यहां पर सदर थाने की जरुरत महसूस की जा रही है। इसे लेकर पुलिस महकमे ने उच्चाधिकारियों को जसाेल क्षेत्र में सदर थाना खोलने के लिए प्रस्ताव भिजवाया है।

जसोल में सदर थाना स्वीकृति के लिए भेजा प्रस्ताव
पुलिस महकमे की ओर से भेजे गए प्रस्ताव में जसोल गांव में सदर थाना स्वीकृति की अनुशंषा की गई है। इसमें जसोल के साथ बिठूजा ग्राम पंचायत व औद्योगिक क्षेत्र को शामिल किया गया है। इसके अलावा बुड़ीवाड़ा, कालुड़ी, माजीवाला, मेवानगर, कितपाला, किटनोद, सिणली जागीर, तिलवाड़ा, भाखरीभेड़ा, जागसा, सुरसिंह का ढाणा, वरिया वरेचा, टापरा, आसोतरा व असाड़ा गांव सहित 17 ग्राम पंचायतों को शामिल किया गया है। इन ग्राम पंचायतों की आबादी 84550 है। साथ ही जसोल औद्योगिक क्षेत्र की 300 व बिठूजा औद्योगिक क्षेत्र की 200 इकाइयां शामिल है, इसमें 10 हजार से अधिक श्रमिक कार्यरत है। इसके अलावा जसोल ग्राम पंचायत की आबादी 16 हजार है।

तीन बड़े धार्मिक स्थल, हाइवे भी शामिल
सदर थाना के अंतर्गत तीन बड़े धार्मिक स्थल आएंगे। इसमें जसोल माता राणी भटियाणी धाम, देश विख्यात जैन तीर्थ नाकोड़ा व ब्रह्मधाम तीर्थ आसोतरा है। इन तीनों की प्रमुख धार्मिक स्थलों में हर माह हजारों लोग दर्शन के लिए पहुंचते हैं। साथ ही नाकोड़ा रोड पर स्थित एक दर्जन रिसोर्ट/होटलों में बड़े-बड़े सामाजिक व वैवाहिक आयोजन होते हैं। इसके साथ ही सदर थाना के अंतर्गत सांडेराव से बालोतरा नेशनल हाइवे व पंजाब को गुजरात से जोड़ने वाला मेगा हाइवे आएगा। इन राजमार्गों पर आए दिन होने वाली सड़क दुर्घटनाओं पर पुलिस त्वरित मौके पर पहुंच सकती है।

इतने पुलिस जाब्ते की होगी जरुरत
सदर थाने के लिए सीआई रैंक का थानाधिकारी के साथ दो एसआई, 7 एएसआई, 9 हैड कांस्टेबल, 45 कांस्टेबल व 2 कांस्टेबल ड्राइवर के पद स्वीकृति का प्रस्ताव भिजवाया गया है। वर्तमान में बालोतरा थाने में स्वीकृत कांस्टेबल के 45 पदों की जगह 25 स्टाफ ही कार्यरत है। वहीं एएसआई के स्वीकृत 10 पदों पर सिर्फ 3 स्टाफ ही नियुक्त है।

सदर थाने में ग्राम पंचायतों में गत वर्षों में दर्ज हुए मुकदमे

  • साल - मुकदमें
  • वर्ष 2018 - 140
  • वर्ष 2019 - 179
  • वर्ष 2020 - 174
  • वर्ष 2021 - 175 से अधिक

सदर थाने में ग्राम पंचायतें: 17
आबादी क्षेत्र: 84550
जसोल की आबादी:16000

बालोतरा में प्रति वर्ष 600 के करीब मुकदमे दर्ज होते हैं। बालोतरा थानांतर्गत तीन औद्योगिक क्षेत्र पहले से ही आ रहे है, इस पर रिफाइनरी लगने से आपराधिक घटनाओं व दुर्घटनाओं में इजाफा हुआ है। गत वर्षों में बढ़ रही आपराधिक वारदातों व क्षेत्र को देखते हुए बालोतरा में नए थाना की बहुत ही जरुरत है। इसके लिए सदर थाना स्वीकृत करवाने के लिए उच्चाधिकारियों को प्रस्ताव भिजवाया है। - बाबूलाल रेगर, थानाधिकारी बालोतरा

खबरें और भी हैं...