मौसम की मार / शहर में देर रात तेज अंधड़ से पेड़ व पोल गिरे, गांवों में बूंदाबांदी

Trees and poles fell in the city late in the night due to heavy rains, drizzle in villages
X
Trees and poles fell in the city late in the night due to heavy rains, drizzle in villages

  • बालोतरा शहर व ग्रामीण क्षेत्रों में मौसम बदला, दिनभर छाए रहे बादलो से बारिश की संभावना

दैनिक भास्कर

Jun 02, 2020, 06:06 AM IST

बालोतरा. शहर सहित क्षेत्र में रविवार देर रात को मौसम में आए बदलाव के बाद धूल भरी आंधियां चली। इससे आसमान में धूल के गुब्बार उठने लगे। हवा का वेग तेज होने से कई जगहों पर खंभे व पेड़ गिरने से नुकसान उठाना पड़ा। आंधी के चलते जनजीवन पूरी तरह से अस्त-व्यस्त नजर आया। धूल भरी आंधी से घर रेत से भर गए। सुबह महिलाएं साफ-सफाई करती नजर आई। 
मोकलसर स्टेशन

क्षेत्र में रविवार रात्रि को मौसम में अचानक आए बदलाव से लोगो को परेशानियों का सामना करना पड़ा। रात्रि 9 से 1 बजे तक धूलभरी तेज हवाओं से एकाएक मौसम बदल गया। हवाओं से वातावरण में चारों ओर धूल के गुब्बार उठने लगे। क्षेत्र के मोकलसर, मवड़ी, मायलावास, रमणिया, मोतीसरा, लूदराड़ा सहित विभिन्न गांवों में धूलभरी आंधी से जनजीवन प्रभावित हुआ। सड़कों पर होर्डिंग बिखर गए। कई पेड़ धराशायी हो गए। तेज हवा के चलते कई पेड़ों की डालियां टूट गई।

मोकलसर रेलवे स्टेशन अधीक्षक के आवास के बाहर खड़ी कार के ऊपर एक बड़ा नीम का वृक्ष गिरने से कार पिचक गई।
मायलावास | कस्बे सहित आस-पास के गांवों में रविवार रात को तेज आंधी के साथ बूंदाबांदी हुई। रविवार को रात 10 बजे अचानक मौसम ने करवट ली। मायलावास, मोकलसर, मोतीसरा, फूलण, बालू, मवड़ी में रात 10 बजे तेज आंधी के साथ बूंदाबांदी हुई।

आंधी से कच्चे घरों की छतें उड़ी

रविवार को बारिश के साथ अंधड़ इतना तेज था कि सैकड़ों कच्चे घरों को नुकसान पहुंचाया है। ईंटों के बने कच्चे घरों की कहीं छतें अंधड़ के साथ उड़ गई तो कहीं कच्चे मकान ही पूरी तरह से जमींदोज हो गए। इससे सैकड़ों गरीब परिवार आसमान तले रहने को मजबूर हो गए। इससे गरीब परिवारों को आर्थिक नुकसान हुआ है। सरकार से ऐसे गरीब परिवारों ने सरकार से नुकसान का सर्वे कर उन्हें आर्थिक सहयोग देने की मांग की है।

आगे क्या: 6 जून तक आंधी-बारिश

मौसम विभाग के मुताबिक पश्चिमी विक्षोभ के कारण अचानक मौसम में बदलाव हो गया है। चक्रवात की स्थिति बन जाने से पश्चिमी राजस्थान सहित प्रदेश के कई हिस्सों में तेज तूफानी हवा, तेज गर्जना के साथ बारिश होगी। अंधड़ और रेतीले बवंडर से भी जनजीवन प्रभावित होगा। 6 जून तक मौसम में बदलाव की ये स्थिति बनी रही।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना