माता रानी भटियाणी मंदिर में यज्ञ:21 पंडितों के साथ किया जा रहा वेदपाठ, रंग-बिरंगे फूलों से सजाया माता रानी का दरबार

बालोतरा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शारदीय नवरात्रि पर्व को लेकर जसोलधाम में 'सर्वजन हिताय व सर्वजन सुखाय' की भावना को लेकर आचार्य पंडित अभिषेक जोशी व पंडित मनोहरलाल अवस्थी के सानिध्य में चारों वेदों के ज्ञाता 21 पंडितों के साथ वेद पाठ का आयोजन किया जा रहा है। साथ ही मंदिर प्रांगण में दुर्गा सप्तसती पाठ व बीज मंत्रों का प्रतिदिन जाप करते हुए विद्वान ब्राह्मणों के द्वारा मां भगवती की आराधना कर लोक कल्याण की कामना की जा रही हैं।

आचार्य पंडित अभिषेक जोशी ने मातृ भक्तों को शारदीय नवरात्र के महात्म्य पर प्रकाश डालते हुए बताया कि शक्ति की साधना में शारदीय नवरात्र को विशेष महत्व दिया गया है। दुर्गा सप्तशती में देवी स्वयं कहती हैं कि शरद ऋतु में जो वार्षिक महापूजा की जाती है, उस अवसर पर जो भक्त श्रद्धा-भक्ति से मेरी पूजा करेगा, वह मनुष्य मेरी अनुकंपा से सब बाधाओं से मुक्त होगा। श्री राणी रूपादे मन्दिर पालिया में आचार्य विवेक द्वारा श्रीसुक्त पाठ, सप्तशती पाठ तथा आचार्य तोयराज द्वारा रुद्राभिषेक करते हुए हवन में विश्व मंगल की कामना की जा रही हैं।

इससे पूर्व जूना अखाड़ा अंतरराष्ट्रीय प्रवक्ता नारायण गिरी महाराज ने नागाणा धाम में माता नागणेची के दर्शन पूजन किया।

सजा माता का दरबार

शारदीय नवरात्रि के पावन दिन चल रहे हैं। इन नौ दिनों में माता रानी के नौ अलग-अलग स्वरूपों की पूजा की जा रही है। वहीं 8वें दिन यानी कि अष्टमी तिथि को मां दुर्गा के आठवें स्वरूप माता महागौरी की पूजा की गई। नवरात्रि पर्व को लेकर श्री राणी भटियाणी मन्दिर संस्थान की ओर से माता रानी के दरबार को रंग-बिरंगे फूलों और लाइटों से सजाकर सुबह-शाम आरती और भजन-कीर्तन किए जा रहे हैं। नवरात्रि के दौरान पूरा माहौल भक्तिमय नजर आ रहा है।

खबरें और भी हैं...