पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अच्छी खबर:141 दिनों बाद कोरोना 0 (शून्य), 252 की रिपोर्ट निगेटिव, अब 72 एक्टिव केस

जैसलमेर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिले में एक भी पॉजिटिव केस नहीं, पांच माह बाद सबसे कम मरीज, इस माह लंबे संघर्ष के बाद कोरोना से जंग जीतने की उम्मीद

अब वह दिन दूर नहीं है जब जैसलमेर में कोरोना का एक भी मरीज नहीं होगा। इसकी शुरूआत बुधवार से हो चुकी है। जब 252 सैंपल में से एक भी पॉजिटिव नहीं आया। करीब 141 दिन बाद ऐसा दिन आया जब एक भी पॉजिटिव नहीं मिला। दूसरी तरफ एक्टिव केस भी लगातार कम हो रहे हैं।

अब सिर्फ 72 एक्टिव केस रह गए हैं। जानकारों के अनुसार यदि लगातार जीरो पॉजिटिव आने शुरू हो जाते हैं तो जल्द ही एक्टिव केस भी रिकवर हो जाएंगे। 5 अप्रैल से जैसलमेर में कोरोना ने दस्तक दी थी। शुरूआती तीन माह तो मामला सामान्य रहा लेकिन उसके बाद गंभीरता बढ़ गई। मौतों का सिलसिला भी शुरू हो गया। अगस्त से लेकर दिसंबर तक सर्वाधिक केस सामने आए। आखिरकार जनवरी में उम्मीद की किरण दिखाई दे रही है।

राहत;18 अगस्त के 141 दिन बाद एक भी पॉजिटिव केस नहीं आया
बुधवार को 141 दिन बाद राहत का शून्य आया है। इससे पहले 18 अगस्त को एक भी केस पॉजिटिव नहीं आया था। उसके बाद से लेकर 5 जनवरी तक लगातार पॉजिटिव केस सामने आए। अब उम्मीद लगाई जा रही है कि आगामी दिनों में धीरे धीरे इसी तरह से कोरोना हारेगा।

भर्ती मरीजों की संख्या सिर्फ दो जैसलमेर में रिकवरी का ग्राफ भी बढ़ रहा है। यहां अब एक्टिव केस सिर्फ 72 रह गए हैं जिसमें 70 जने घर पर ही इलाज ले रहे हैं और सिर्फ दो मरीज ही अस्पताल में भर्ती है। दूसरी तरफ सरकारी कोविड सेंटर पूरी तरह से खाली पड़े हैं।

कोरोना को लेकर जैसलमेर काफी बेहतर स्थिति में है। कोविड सेंटर पूरी तरह से खाली है। 18 अगस्त के बाद 6 जनवरी को एक भी पॉजिटिव केस नहीं आया। यह सुखद है और शुभ संकेत भी। वर्तमान में कोरोना पूरी तरह से नियंत्रण में है।
डॉ. सलीम जावेद, जिला सलाहकार

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आपकी प्रतिभा और व्यक्तित्व खुलकर लोगों के सामने आएंगे और आप अपने कार्यों को बेहतरीन तरीके से संपन्न करेंगे। आपके विरोधी आपके समक्ष टिक नहीं पाएंगे। समाज में भी मान-सम्मान बना रहेगा। नेग...

    और पढ़ें