पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रेत धंसने से हुआ हादसा:अवैध खनन के गड्ढे में रेत में दबे 3 मासूम, साथ खेल रहे बच्चे व जेसीबी चालक की तत्परता से बची तीन जिंदगियां

जैसलमेर4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
जैसलमेर. जिम्मेदारों की उदासीनता के चलते डेडानसर मैदान में भी हो रहा अवैध खनन। - Dainik Bhaskar
जैसलमेर. जिम्मेदारों की उदासीनता के चलते डेडानसर मैदान में भी हो रहा अवैध खनन।
  • डेडानसर मैदान के पीछे रेत धंसने से हुआ हादसा, तीनों मासूम जोधपुर रेफर

शहर के डेडानसर मैदान के पीछे रेत पर खेल रहे तीन बच्चे अचानक रेत धंसने से उसके नीचे दब गए। साथ खेल रहे कुछ बच्चे तो वहां से डर के मारे भाग गए,लेकिन एक बच्चे ने सूझबूझ दिखाई और पास ही काम कर रही जेसीबी के पास पहुंचा और उसके चालक को घटना के बारे में बताया।

जेसीबी चालक ने तत्परता दिखाते हुए वहां पहुंचकर हाथों से रेत हटाकर पहले एक बच्चे को बाद में पास ही काम कर रहे श्रमिकों की मदद से अन्य दोनों बच्चों को बाहर निकाला। 108 को फोन पर सूचना दी गई और सीधे ही तीनों बच्चों को जवाहर अस्पताल लाया गया। यहां प्राथमिक उपचार के बाद तीनों को जोधपुर रेफर कर दिया गया। मंगलवार दोपहर करीब ढाई बजे रेत धंसने से उसके नीचे अजय (12) पुत्र खमाणाराम, विशाल (13) पुत्र बलूराम व राजेश (9) पुत्र मनोहरलाल दब गए। अजय का भाई सुनील भी वहां मौजूद था। उसने जेसीबी चालक को बुलाया और तीनों बच्चों को बचाया जा सका।

जवाहर अस्पताल में बच्चों का किया उपचार।
जवाहर अस्पताल में बच्चों का किया उपचार।

अवैध खनन के चलते 10 से 12 फीट गहरे गड्‌ढ़े

डेडानसर मैदान के पीछे रेत के बड़े बड़े टीले थे और वर्तमान में वहां अवैध खनन करने वालों ने 10 से 12 फीट गहरे गड्ढे बना दिए हैं। मतलब साफ है रोजाना यहां से रेत का अवैध खनन हो रहा है और खनन विभाग, नगरपरिषद व प्रशासन पूरी तरह से मौन है। मंगलवार को अवैध खनन का यह इलाका जानलेवा साबित हो सकता था। आसपास के लोगों ने बताया कि यहां से रोजाना कई ट्रेक्टर मिट्‌टी भरकर ले जाते हैं।

गनीमत रही कि महोत्सव को लेकर चल रहा था काम

जब यह घटना हुई तब कुछ बच्चे तो वहां से डर के चलते भाग गए एक बच्चा सुनील (7) पहले किसी को बुलाने के लिए चिल्लाया लेकिन किसी ने नहीं सुना। गनीमत रही कि वहां मरु महोत्सव का काम चल रहा था। जेसीबी चालक को पता चलते ही वहां आया और उसने तीन मासूम जिंदगियों को बचाने में अहम भूमिका निभाई। 50 मीटर दूरी पर ही जेसीबी चालक खड़ा था यदि काम नहीं चल रहा होता तो यहां कोई नहीं होता।

सिटी हीरो : चालक दीपाराम

जब मैं जेसीबी चला रहा था तो एक बच्चे ने आकर बताया कि उसका भाई रेत के नीचे दब गया। मैं सीधे ही जेसीबी लेकर वहां पहुंचा। जैसे रेत को हटाने के लिए जेसीबी के पंजे को ऊपर उठाया तो रेत में दबे एक बच्चे का थोड़ा सिर नजर आया। तब समझ में आया कि रेत ज्यादा नहीं है और पंजे से उसे चोट पहुंच सकती है।

हाथों से रेत हटानी शुरू की और एक बच्चे को बेहोशी की हालत में बाहर निकाला। इतने में मुझे बुलाने आए बच्चे ने कहा कि दो और बच्चे भी इसके नीचे दबे हुए हैं। तब तक मेरे साथ काम कर रहे श्रमिक व नगरपरिषद के अधिकारी भी पहुंच गए। सब ने मिलकर फटाफट हाथों से रेत हटाई और दो अन्य बच्चों को भी बाहर निकाल लिया।

लापरवाह सिस्टम के आगे जीते मासूम

अवैध खनन का गहरा गड्ढा लापरवाह सिस्टम का बड़ा उदाहरण है। तीनों बच्चों को नहीं पता था कि सिस्टम की लापरवाही उन पर भारी पड़ेगी, वे तो साथियों के साथ खेलने में व्यस्त थे। अचानक रेत धंसी और उसके नीचे दब गए। जिम्मेदारों की लापरवाही यहां तक नहीं थी। जब बच्चों को अस्पताल लाया गया तो वहां उन्हें आसानी से ऑक्सीजन भी नसीब नहीं हुई। ऑक्सीजन की फिटिंग तो है लेकिन उसमें सप्लाई नहीं है।

पहले एक सिलेंडर लाया गया वह किसी कारणवश सही नहीं था। बाद में दूसरा सिलेंडर लाया गया तब जाकर ऑक्सीजन लगाई गई। करीब 15 से 20 मिनट की देरी यहां भी हो गई। फिर भी बच्चों की सांसों की डोर चल रही थी। बाद में प्राथमिक उपचार शुरू हुआ और तीनों को 108 एंबुलेंस में जोधपुर रेफर कर दिया गया।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आप प्रत्येक कार्य को उचित तथा सुचारु रूप से करने में सक्षम रहेंगे। सिर्फ कोई भी कार्य करने से पहले उसकी रूपरेखा अवश्य बना लें। आपके इन गुणों की वजह से आज आपको कोई विशेष उपलब्धि भी हासिल होगी।...

    और पढ़ें