अनदेखी:5 डॉक्टरों के दूसरे जिलों में तबादले,जिले को एक मिला, स्वास्थ्य सेवाएं प्रभावित

जैसलमेर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जैसलमेर में पहले से डॉक्टरों के पद खाली

स्वास्थ्य विभाग ने जैसलमेर में कार्यरत 5 डॉक्टरों के दूसरे जिलों में तबादले कर दिए। वहीं जैसलमेर के लिए सिर्फ एक डॉक्टर को लगाया गया है। गौरतलब है कि जैसलमेर डॉक्टरों के रिक्त पदों का दंश झेल रहा है। जिसके बाद अब यहां पर गिनती के कार्यरत डॉक्टरों को भी अन्यत्र लगा दिया। जैसलमेर में पहले से डॉक्टरों की कमी चल रही है। इसके बाद स्थानांतरण सूची में जैसलमेर से 5 डॉक्टरों का ट्रांसफर कर दिया गया है। इससे जिले की स्वास्थ्य सेवाएं प्रभावित हो रही है।

भास्कर ने उठाया था मुद्दा

भास्कर ने हाल ही में जवाहर अस्पताल की दुर्दशा को लेकर गत 6 अगस्त को ‘जवाहर अस्प्ताल में आठ डॉक्टरों के पद पहले से ही खाली, छह डॉक्टर पीजी करने गए, मरीजों को नहीं मिल रही सेवाएं’ शीर्षक से प्रकाशित किया था। इसके बाद शनिवार को आई सूची से जैसलमेर के नोख, पोकरण, सम, टीबीसी जैसलमेर व चिन्नू से डॉक्टरों का स्थानांतरण कर दिया गया है। जिससे अब ग्रामीण अंचलों में भी डॉक्टरों की कमी होनी शुरू हो गई है। जैसलमेर में चिकित्सा व्यवस्था पूरी तरह से भगवान के भरोसे है।

सीएचसी में कार्यरत इन डॉक्टरों के हुए तबादले

जैसलमेर के सीएचसी नोख में कार्यरत डॉ. जगदीश का स्थानांतरण सीएचसी गडियाला बीकानेर, सीएचसी पोकरण में कार्यरत डॉ. सोहनलाल का जिला अस्पताल भीलवाड़ा, सीएचसी सम में कार्यरत डॉ. रजनीश का स्थानांतरण सीएचसी बड़ाऊ झुंझुनू, टीबीसी जैसलमेर में कार्यरत डॉ. संजीव मीना का स्थानांतरण पीएचसी रोलाहेडा चितौडग़ढ़ व पीएचसी चिन्नू में कार्यरत डॉ. दीपक जांगिड़ का स्थानांतरण झूंझुनू के उदयपुरवाटी में ब्लॉक सीएमएचओ के पद पर किया गया है। इसकी एवज में धौलपुर की पीएचसी बड़ागांव में कार्यरत डॉ. रविंद्र कुमार को सीएचसी नोख लगाया गया है। ​​​​​​​

जैसलमेर में पहले से डॉक्टरों की कमी है। उसके बाद ट्रांसफर के माध्यम से डॉक्टरों को यहां से भेजा जा रहा है। जिससे चिकित्सा व्यवस्था पूरी तरह से चरमराने के कगार पर है। -राजेंद्रसिंह, ग्रामीण।

गांवों में डॉक्टर बहुत ही कम है। लेकिन उसके बाद भी तबादले कर डॉक्टरों को रिलीव कर भेजा जा रहा है। यहां की परिस्थितियों को देखते हुए रिलीव ही नहीं करना चाहिए। -प्रेमाराम, ग्रामीण।

खबरें और भी हैं...