पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

चुनाव:सरपंच चुनावों के बाद अब प्रधान व जिला प्रमुख की दौड़ शुरू, इस बार समीकरण बदलेंगे

जैसलमेर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सरपंच चुनावों के बाद भाजपा आश्वस्त तो कांग्रेस की मुश्किलें बढ़ी

जिले में सरपंच चुनाव संपन्न हो चुके हैं और अब आगामी चुनावों की दौड़ शुरू हो चुकी है। भाजपा व कांग्रेस के लिए प्रधान व जिला प्रमुख के चुनाव ही महत्वपूर्ण है। हालांकि इन चुनावों का आधार सरपंच चुनाव होते हैं और सरपंच चुनावों से ही ब्लॉक सदस्य की जीत तय होती है। ऐसे में सरपंच चुनावों के बाद लोग अलग अलग कयास लगा रहे हैं। इस बीच कई राजनीतिक जानकारों ने भी इन चुनावों के बाद समीकरण व रणनीति बदलने की बात कही है।

जानकारी के अनुसार पंचायती राज चुनावों में हमेशा से ही कांग्रेस का दबदबा रहा है। हर बार सरपंच चुनावों से पहले या साथ ब्लॉक सदस्यों के चुनाव होते हैं, ऐसे में इन चुनावों की रणनीति बनाने में कांग्रेस आगे रहती है और भाजपा पिछड़ जाती है। इस बार सरपंच चुनाव पहले हो चुके हैं जिसके चलते दोनों ही दलों को अपनी रणनीति बदलनी पड़ेगी, हर बार की तरह एक से अधिक सरपंच उम्मीदवारों को लॉलीपोप देने वाली रणनीति नहीं चलेगी।

  • जनता कांग्रेस के शासन से त्रस्त है। सरपंच चुनावों में अधिकांश सरपंच भाजपा समर्थित है। ऐसे में आगामी प्रधान व प्रमुख चुनावों में भाजपा कांग्रेस को करारी शिकस्त देगी। - सवाईसिंह गोगली, महामंत्री, भाजपा

पंचायत चुनावों में भाजपा-कांग्रेस बराबर स्थिति में
राजनीतिक जानकारों ने इस बार के सरपंच चुनावों का एनालिसिस किया है जिसमें भाजपा को फायदा होता दिखाई दे रहा है। उनके अनुसार जिले की 206 पंचायतों में से 50 प्रतिशत ग्राम पंचायतों में भाजपा समर्थित उम्मीदवार जीते हैं। वहीं 50 प्रतिशत पर कांग्रेस समर्थित, लेकिन कांग्रेस के दो गुट है, इसलिए कांग्रेस को नुकसान है। कांग्रेस समर्थित 50 प्रतिशत उम्मीदवारों में 20 प्रतिशत धनदे परिवार के और 30 प्रतिशत फकीर परिवार के हैं।

आगामी चुनावों में भाजपा को मिल सकता है फायदा
इस बार सरपंच चुनाव पहले होने से भाजपा को पहले ही फायदा नजर आ रहा था और अब उनके समर्थित उम्मीदवार भी ज्यादा जीते हैं। ऐसे में भाजपा के खेमे में खुशी नजर आ रही है। वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस असमंजस की स्थिति में है।

जिला प्रमुख सीट पर 20 साल से कांग्रेस का कब्जा जिला प्रमुख सीट पर कांग्रेस पिछले 20 सालों से काबिज है। भाजपा हर बार चुनावों में पिछड़ती नजर आई है। कांग्रेस की रणनीति के आगे भाजपा पूरी तरह से फेल रही है। लेकिन इस बार बाजी पलटने के आसार है। भाजपा आगामी चुनावों में कांग्रेस को कड़ी टक्कर देने को तैयार है।

{महंत प्रतापपुरी का असर | राजनीतिक जानकारों के अनुसार पंचायती राज चुनावों में महंत प्रतापपुरी की सक्रियता के चलते भाजपा फायदे की स्थिति में पहुंची है। गौरतलब है कि प्रतापपुरी महाराज पिछले काफी दिनों से ग्रामीण क्षेत्रों के दौरे पर थे और उन्होंने इन चुनावों में अपनी अहम भूमिका निभाने के साथ ही प्रधान व प्रमुख चुनावों में सक्रिय रहकर भाजपा को जिताने का आह्वान किया है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- पिछले रुके हुए और अटके हुए काम पूरा करने का उत्तम समय है। चतुराई और विवेक से काम लेना स्थितियों को आपके पक्ष में करेगा। साथ ही संतान के करियर और शिक्षा से संबंधित किसी चिंता का भी निवारण होगा...

और पढ़ें