मलेरिया डेंगू को लेकर गंभीर हुआ स्वास्थ्य विभाग:मौसमी बीमारियों की रोकथाम के लिए कॉलोनियों में की जा रही एन्टी लार्वा गतिविधियां, CMHO ने की मॉनिटरिंग

जैसलमेर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
स्वास्थ्य महकमा कर रहा जांच। - Dainik Bhaskar
स्वास्थ्य महकमा कर रहा जांच।

जिले में लगातार बढ़ते मलेरिया, डेंगू एवं मौसमी बिमारियो की रोकथाम के लिए अब चिकित्सा विभाग अपनी नींद से जागा है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. कमलेश चोधरी ने बताया कि जिले में काम कर रही ANM, आशा सहयोगिनियों एवं चिकत्सा विभाग के कर्मचारियों द्वारा मौसमी बिमारियों की रोकथाम के लिए लगातार एन्टी लार्वा गतिविधियाॅ आयोजित की जा रही हैं। महकमे की टीमों द्वारा बुखार के रोगियों का पंजीयन व खून की स्लाइड लेने के साथ ही मौसमी बीमारियों के लक्षण व बचाव के संबंध में आमजन को जागरूक करना। तथा टांकों में टेमोफोज डालने संबंधी आदि के काम करवाए जा रहे हैं।

सीएमएचओ ने किया गतिविधियों का निरीक्षण।
सीएमएचओ ने किया गतिविधियों का निरीक्षण।

सीएमएचओ ने एन्टी लार्वा गतिविधियों का किया निरीक्षण

डा कमलेश चौधरी द्वारा गुरूवार को जैसलमेर शहर की अचल वंशी कॉलोनी में चिकित्सा की टीम द्वारा की जा रही एन्टी लार्वा गतिविधियों का निरीक्षण किया गया। उन्हाँने मौजूद लोगों को मौसमी बिमारियों से बचाव के संबंध में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि जिले में एन्टी लार्वा के कामों के तहत कर्मचारियों द्वारा पानी से भरे गढढो में एमएलओ तथा टांकों व पानी के इकट्ठे होने वाली जगहों में टेमो फोस लगातार डाला जा रहा है। चौधरी ने जिले में लगातार हो रही बारिश को देखते हुए सभी को मौसमी बिमारियो से बचाव के लिए सजग व सतर्क रहने की अपील की है।

उन्होंने जिले के समस्त लोगो से अपील कर कहा है कि वे अपने आस-पास स्वच्छता बनाये रखें, मच्छरो को पनपने न दें, घरों में गमले व कूलर में जमा पानी को खाली करें। बुखार आना, सर्दी लगना, सिर में दर्द होना, बदन में दर्द होना, उल्टी आना आदि मलेरिया व डेंगू के लक्षण होने पर या अन्य मौसमी बीमारियों से पीड़ित होने पर तत्काल जागरूक रह कर नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्र में जाकर डॉक्टरों को दिखाएं। उन्होंने बताया कि प्रारम्भिक लक्षणों में ही समय पर उपचार लेने पर मलेरिया, डेंगू आदि मौसमी बीमारियों पर नियन्त्रण पाया जा सकता है।

खबरें और भी हैं...