रीट परीक्षा का असली अभ्यर्थी गिरफ्तार:भाई को अपनी जगह बिठाया था परीक्षा देने, भाई और ई-मित्र वाला पहले ही गिरफ्तार

जैसलमेर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस गिरफ्त में विकास। - Dainik Bhaskar
पुलिस गिरफ्त में विकास।

रीट परीक्षा में अपनी जगह अपने भाई को परीक्षा दिलवाने वाला आखिरकार पुलिस की हिरासत में पहुंच गया। जैसलमेर पुलिस ने विकास विश्नोई नामक युवक को जोधपुर से गिरफ्तार किया। मंगलवार को उसे कोर्ट में पेश किया गया। कोर्ट ने अपराधी विकास को जेल भेज दिया।

सब इंस्पेक्टर देवकिशन ने बताया कि विकास विश्नोई निवासी सियागों की ढाणी जोधपुर का रीट भर्ती परीक्षा में जैसलमेर एसबीके कॉलेज सेंटर आया था। लेकिन उसने अपनी जगह अपने भाई मनोहर विश्नोई को परीक्षा देने भेजा। मनोहर विश्नोई सिरोही जिले में शिक्षा विभाग में बाबू की नौकरी कर रहा था। विकास ने मनोहर विश्नोई का फर्जी आधार कार्ड जोधपुर के शिकारगढ स्थित गुरुकृपा ई-मित्र संचालक रमेश विश्नोई से बनाया। विकास के फर्जी आधार कार्ड पर उसके भाई मनोहर ने जैसलमेर में रीट का एक्जाम दिया, मगर वो पकड़ा गया। पुलिस ने मनोहर और उसका फर्जी आधार कार्ड बनाने वाले ई-मित्र संचालक रमेश विश्नोई को और फर्जी आधार कार्ड बनाने में इस्तेमाल किए गए कम्प्यूटर, प्रिंटर व मशीने भी जब्त की गई। दोनों की गिरफ्तारी के बाद से विकास विश्नोई फरार चल रहा था। आखिरकार जैसलमेर पुलिस ने 2 महीने की कड़ी मेहनत से उसको जोधपुर से पकड़ने में कामयाबी हासिल की। उसको बुधवार को कोर्ट में पेश किया गया। कोर्ट ने विकास विश्नोई को जेल भेजने के आदेश दिए।

खबरें और भी हैं...