पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

अनदेखी :शहर का ट्रैफिक सिस्टम फेल, 96 हजार वाहनों का संचालन, फिर भी पार्किंग नहीं

जैसलमेर16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
शहर में ट्रैफिक सिस्टम ही नहीं है
  • पर्यटक नगरी में ट्रैफिक दबाव लगातार बढ़ने के बावजूद पार्किंग स्थल की सुविधा नहीं
Advertisement
Advertisement

जैसलमेर में पिछले कुछ सालों से वाहनों का बोझ लगातार बढ़ रहा है। पिछले कुछ सालों में तो वाहनों में बेतहाशा वृद्धि हुई है। वाहनों की संख्या में हर साल बढ़ोतरी हो रही है लेकिन पार्किंग की सुविधा पर कहीं भी ध्यान नहीं दिया जा रहा है। जबकि बड़े शहरों में यह नियम भी है कि वाहनों की खरीद से पहले उसकी पार्किंग की जगह बतानी पड़ती है लेकिन जैसलमेर में यह नियम कहीं भी लागू नहीं हो रहा है। इससे शहर में सरपट दौड़ते वाहन आमजन के लिए परेशानी खड़ी कर रहे है। 

जैसलमेर पुरानी बसावट के लिए प्रसिद्ध शहर है। यहां की संकडी गलियां देखने के लिए देश विदेश से सैलानी पहुंचते है। लेकिन इन्हीं संकडी गलियों में दुपहिया वाहनों की भरमार है। पुराना शहर होने के कारण शाम के समय रोजाना ट्रेफिक जाम होना अब आम बात हो गया है।

इसके लिए ट्रेफिक पुलिस को भी काफी मशक्कत का सामना करना पड़ता है। हालांकि ट्रैफिक की समस्या के लिए प्रशासन व पुलिस द्वारा समय समय पर प्लानिंग की जाती रही है, लेकिन आज तक शहर में पार्किंग की ठाेस व्यवस्था नहीं होने से यह प्लानिंग कभी पूरी नहीं हो पा रही है। ऐसे में वाहन चालकों के साथ पर्यटकों को भी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।
पर्यटन सीजन में पार्किंग बन जाती है मुसीबत

परिवहन विभाग के आंकड़ों पर अगर बात की जाए तो जैसलमेर में करीब 96 हजार वाहन रजिस्टर्ड हुए है। इसमें चौपहिया मालवाहक 8178, तिपहिया मालवाहक 235, टैक्सी 2265, कार 7447, दुपहिया वाहन 59559, बस 432, टैक्सी कार 2738, कन्स्ट्रक्शन वाहन 564 व 14411 ट्रैक्टर हैं, लेकिन इन वाहनों की पार्किंग के लिए कोई भी स्थान चिन्हित नहीं किया गया है।

पर्यटन नगरी होने के कारण हर साल यहां लाखों की तादाद में सैलानी पहुंचते हैं। पहले की तुलना में अब ज्यादातर सैलानी अपना निजी वाहन लेकर ही जैसलमेर आ रहे हैं। इससे पर्यटन सीजन के समय वाहन पार्किंग की समस्या अब स्थाई हो गई है। पर्यटन सीजन के समय जैसलमेर में वाहन पार्क करने की जगह नहीं मिलता आम बात है।  इसके बावजूद जिम्मेदारों द्वारा जैसलमेर की पार्किंग व्यवस्था को लेकर कोई ठोस कदम नहीं उठाए जा रहे हैं।

जैसलमेर में पहले से वाहनों की पार्किंग सुविधा नहीं होने के बाद लाखों की संख्या में यहां पहुंचने वाले सैलानियों के लिए भी परेशानी खड़ी हो जाती है। जैसलमेर भ्रमण पर आए सैलानी हर जगह अपना वाहन लेकर नहीं जा सकते। इसके लिए उन्हें पार्किंग की आवश्यकता लगती है, लेकिन जैसलमेर में कहीं भी पार्किंग की सुविधा नहीं है। हालांकि नगर परिषद द्वारा किले के पीछे रिंग रोड़ पर पार्किंग की अस्थाई व्यवस्था की जाती है लेकिन पर्यटकों की भारी आवाजाही को लेकर वे भी नाकाफी साबित हो रही है।

भास्कर विचार : सिर्फ ट्रैफिक सिस्टम की ही नहीं स्थाई समाधान के लिए ठोस रणनीति बनाने की जरूरत
जैसलमेर में बढ़ रहे ट्रैफिक से यातायात पुलिस कर्मियों को भी काफी मशक्कत करनी पड़ रही है। जैसलमेर के अधिकारियों द्वारा सिर्फ ट्रेफिक व्यवस्था को सुधारने के नाकाफी प्रयास किए जा रहे है। प्रशासन द्वारा इसमें नगर परिषद के जिम्मेदारों को साथ लेकर शहर में पार्किंग की व्यवस्था को सुधारना चाहिए। इससे आम दिनों के साथ सैलानियों को भी पार्किंग की समस्या से निजात मिल सके।

  • नगर परिषद द्वारा पूर्व में जो महाराणा प्रताप मैदान में अंडरग्राउंड पार्किंग प्रस्तावित है। उस काम को तुरंत शुरू करवाया जाना चाहिए ताकि शहर में पार्किंग की समस्या से निजात मिल सके। इसे साथ ही नगर परिषद को शहर में अलग अलग जगहों पर पार्किंग बनानी होगी ताकि शहर को पार्किंग व ट्रैफिक की समस्या से छुटकारा मिल सके। -नरेंद्र गाेयल, पार्षद
  • चौपहिया वाहन लेने वाले लोगों द्वारा पार्किंग के संबंध में लिखित में बताया जाता है। हालांकि परिवहन विभाग द्वारा समय समय पर कार्रवाई की जाती है लेकिन इस संबंध में ट्रेफिक पुलिस को भी लगातार कार्रवाई कर पार्किंग व्यवस्था सुदृढ़ करवानी चाहिए ताकि आमजन को परेशानी नहीं हो। -टीकूराम पूनड़, जिला परिवहन अधिकारी
Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज का दिन पारिवारिक और आर्थिक दोनों दृष्टि से शुभ फलदायी है। व्यक्तिगत कार्यों में सफलता मिलने से मानसिक शांति का अनुभव करेंगे। कठिन से कठिन कार्य को आप अपने दृढ़ निश्चय से पूरा करने की क्षमत...

और पढ़ें

Advertisement