पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कार्यशाला का आयोजन:डाॅ. चौधरी ने कहा आशा सहयोगिनियां घर-घर जाकर शिशु स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार लाएं

जैसलमेर7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जैसलमेर में आशा सहयोगिनियों की एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन

जिला प्रशासन के निर्देशानुसार चिकित्सा, स्वास्थ्य सेवाओं में गुणावत्तापूर्ण वृद्धि लाने व एएए के सुदृढीकरण के लिए आशा सहयोगिनियों की एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन स्वास्थ्य भवन के सभागार में रविवार को सीएमएचओ डाॅ. कमलेश चौधरी की अध्यक्षता में किया गया। सीएमएचओ डाॅ. चौधरी ने कार्यशाला में संबोधित करते हुए कहा कि आशा सहयोगिनियां मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य सेवाओं में गुणवत्ता लाते हुए समुदाय को लाभांवित करें।

डाॅ. चौधरी ने बताया कि राज संगम कार्यक्रम में आशा सहयोगनी, एएनएम एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ता आपसी समन्वय रखते हुए समुदाय में बेहतर मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य सेवाएं देते हुए 12 सप्ताह के भीतर एएनसी, संस्थागत प्रसव एवं टीकाकरण से किसी भी गर्भवती महिला एवं शिशु को वंचित नहीं रहने दे। उन्होंने एएए से आशा डायरी, आरसीएच रजिस्टर एवं आंगनबाड़ी सर्वे रजिस्टर कोे पूर्ण करने के निर्देश दिए। कार्यशाला में डॉ. चौधरी ने मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य सेवाओं में बेहतरीन प्रगति लाने में उपयोग आने वाले चिकित्सीय उपकरण, थर्मामीटर, साॅल्टर मशीन, एआरआई टाइमर को भी मौके पर ही आशा सहयोगिनियों को सुपुर्द किए गए। कार्यशाला में उप मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एमडी सोनी ने राज्य सरकार की महत्वाकांक्षी मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के बारे में जानकारी देते हुए आशा सहयोगिनियों को निर्देशित किया कि आपके समुदाय में एक भी परिवार योजना से वंचित नहीं रहे।

सम के खण्ड मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ. राजेन्द्र पालीवाल ने कोविड 19 टीकाकरण एवं कोविड की संभावित तीसरी लहर के बारे में जानकारी दी। जिला कार्यक्रम प्रबंधक अजयसिंह कड़वासरा ने राष्ट्रीय टेली कंसलटेशन सेवा ई संजीवनी ओपीडी मोबाइल एप्प के बारे में जानकारी दी। जोधपुर जोन के आईसीएमआर एनआईआईआर एनसीडी के वैज्ञानिक सुरेश यादव ने जैसलमेर जिले में सर्पदंश पर किए जा रहे अनुसंधान की जानकारी देते हुए पीपीपी के माध्यम से आशा सहयोगिनियों की भूमिका एवं देय प्रोत्साहन राशि के संबंध में जानकारी दी। बैठक में आशा सहयोगिनियों के साथ डीएनओ आईएपी दीपक बिस्सा, पीएचसी आशा सुपरवाइजर सोहनलाल जाग्रत एवं पीएचएस रमेश मीणा भी उपस्थित रहे।

खबरें और भी हैं...