पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

धर्म समाज:नेकी और सच्चाई की राह में सब कुछ कुर्बान करने का पैगाम देता है ईद-उल-अजहा:सालेह

जैसलमेर13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • मंत्री ने अदा की ईद की नमाज, लोगों को दी मुबारकबाद, कोरोना से बचाव के लिए सतर्क रहने को कहा

अल्पसंख्यक मामलात, वक्फ एवं जन अभियोग निराकरण विभाग के मंत्री व पोकरण विधायक सालेह मोहम्मद ने बुधवार को अपने पैतृक गांव भागू का गांव में त्याग, बलिदान व कुर्बानी का पर्व ईद-उल-अजहा का त्यौहार मनाया। केबिनेट मंत्री सालेह मोहम्मद ने अपने परिजनों के साथ सरकार की गाइडलाइन की पालना करते हुए घर पर ही सोशल डिस्टेंसिंग के साथ बुधवार सुबह साढ़े सात बजे ईद की नमाज अदा की।

इसके बाद अपने निवास पर उपस्थित लोगों को ईद की मुबारकबाद पेश की। इस मौके पर मंत्री सालेह मोहम्मद ने कहा कि ईद-उल-अजहा त्याग, बलिदान व कुर्बानी का पर्व है। यह पर्व नेकी व सच्चाई की राह में सबकुछ कुर्बान करने का पैगाम देती है। उन्होंने ईद के मौके पर लोगों से आपसी प्रेम व भाईचारा बनाए रखने की बात कही।

ईद के मौके पर नगर परिषद जैसलमेर के सभापति हरिवल्लभ कल्ला, कांग्रेस जिलाध्यक्ष गोविंद भार्गव, पूर्व सभापति अशोक तंवर, मेघराज परिहार, उप सभापति अशोक तंवर सहित बड़ी संख्या में लोग भागू का गांव पहुंचे। उन्होंने मंत्री सालेह मोहम्मद, पूर्व जिला प्रमुख अब्दुला फकीर, पूर्व प्रधान अमरदीन फकीर, बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष अमीन खान, पीराणे खान से मुलाकात की तथा ईद की मुबारकबाद पेश की।

चांधन चांधन सहित जिले भर में कुर्बानी का प्रतीक ईद-उल-अजहा का पावन पर्व हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। इस अवसर पर मुस्लिम भाइयों ने घरों में रहकर ईद की नमाज अदा करते हुए देश में अमन चैन खुशहाली की दुआएं की।

इसके साथ ही ओर दो गज की दूरी ओर मास्क के साथ एक दूसरे से सलाम करके ईद की मुबारकबाद दी। ईद को लेकर सुबह से ही खासा उत्साह देखा गया। कोरोना गाइड लाइन की पालना करते घरों के अंदर ही ईद की नमाज अदा की।

पूर्व जिला प्रमुख अब्दुला फकीर ने कहा कि इस ईद पर एक वादा खुद से जरूर करे। कोरोना के मुश्किल वक्त में एक दूसरे के सहयोगी बन कर नेकी की भावना को मजबूत करे और अपनी इबादत में इस मुश्किल वक्त पर इंसानियत की विजयी की दुआएं करें।

मुस्लिम यूथ फाउंडेशन के संरक्षक व बाल कल्याण समिति के जिलाध्यक्ष अमीन खान ने कहा कि ईद के पावन अवसर पर युवा अपनी जिम्मेदारी तय करते हुए कौम को रचनात्मक मंच पर ले आए। साथ ही उनकी शिक्षा, चिकित्सा सहित सभी बुनियादी मुद्दों पर सजक रहे। सोशल नेटवर्किंग साइट पर दिन भर ईद ओर कौमी एकता से सरोबार संदेशों के जरिए भी एक दूसरे को ईद पर बधाइयां दी गई।

ईद-उल-अजहा के अवसर पर पूर्व जिला प्रमुख व जिला परिषद सदस्य अंजना मेघवल ने बुधवार को ग्रामीण क्षेत्रों का दौरा कर विभिन्न स्थानों पर ईद की मुबारकबाद दी। उन्होंने केर फकीर की ढाणी में हुसैन फकीर, भागू का गांव में अल्पसंख्यक मामलात मंत्री सालेह मोहम्मद एवं सुभान खान चनिया, सगरों की बस्ती में पंचायत समिति सम सदस्य जनाब खान, रासला सरपंच मुरीद खां मेहर, छत्रैल में सलीम खान, बलिदाद की बस्ती में खेरदीन दर्ष व अली खान सरपंच प्रतिनिधि, निम्बा बीदा में सरपंच लियाकत अली, कोरिया फलेडी के सरपंच इशाक खान, बईया में वरिष्ठ कांग्रेसी नेता समाये खान, तुर्के की बस्ती, मंगलियावास, लूणों की बस्ती सम, सियालों की बस्ती सरपंच यार मोहम्मद, केसुवों की बस्ती कनोई, कूबर फकीर की ढाणी लेडी में ईद की मुबारकबाद दी। पूर्व जिला प्रमुख के साथ में सलीम खान एवं खेरदीन दर्ष सहित अन्य कार्यकर्ता भी मौजूद रहे। उन्होंने सभी के परिवारजनों पर अल्लाह की रहमत सदा बरसने की दुआ की।

पोकरण त्याग और कुर्बानी का त्योहार ईद बुधवार को पोकरण उपखंड में मुस्लिम समुदाय के लोगों ने धूमधाम से मनाई। ईद को लेकर मुस्लिम समाज के लोगों में काफी दिनों से उत्साह बना हुआ है। बुधवार को लोगों ने पर्व को मनाकर एक दूसरे को बधाई दी। कोरोना संक्रमण के कारण शहर के प्रमुख इस्लामिया मदरसा सहित ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित मदरसों में सामूहिक रूप से नमाज अदा करने का कार्यक्रम आयोजित नहीं हुआ। लोगों ने महामारी को ध्यान में रख कर सरकार की एडवाजरी का पालन करते हुए अपने-अपने घरों में रहकर नमाज अदा की। इस दौरान भी लोगों ने सोशल डिस्टेंसिंग के साथ मुंह पर मास्क लगाए रखे।

ईद पर कोरोना महामारी के कारण किसी भी प्रकार के सामूहिक आयोजन पर रोक होने के कारण बुधवार को ईद के मौके पर शहर के जैसलमेर रोड़ स्थित मदरसा इस्लामिया के द्वार बंद रहे। सुबह के समय मदरसे के काजी ने ईद के मौके पर नमाज अदा कर क्षेत्र में अमन चैन व खुशहाली की कामना की। वहीं लोगों को घरों में ही नमाज अदा करने का आह्वान किया। इस दौरान शहर के प्रमुख मदरसों के आगे क्षेत्र में शांति व कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए पुलिस तैनात रही। हालांकि लोगों ने भी पुलिस प्रशासन का सहयोग प्रदान करते हुए सरकारी नियमों का पूर्ण रूप से पालन किया।

ईद-उल-अजहा के मौके पर सुबह ही बाजार में रौनक नजर आई। बच्चे, बुर्जुग, महिलाओं व युवतियों ने इस मौके पर जमकर खरीददारी की। स्थानीय जयनारायण व्यास चौराहा, फलसूंड तिराहा, केन्द्रीय बस स्टैंड मार्केट व गांधी चौक में ईद के मौके पर लोगो ने विभिन्न वस्तुओं की जमकर खरीददारी की। शहर की दुकानों पर लोगों की भीड़ जमा होने से स्थानीय दुकानदारों के चेहरे भी खिल उठे।
लाठी बुधवार को ईद उल अजहा बड़े धूमधाम से मनाया गया। लोगों ने पारंपरिक तरीके से थोड़ा हटकर इस बार यह त्योहार मनाया। संक्रमण को देखते हुए न तो कहीं भीड़ एकत्रित हुई और न ही सरेआम कुर्बानी दिए जाने की रस्म निभाई गई। लोगों ने मस्जिद में एक साथ नमाज अदा करने की प्रक्रिया से भी परहेज किया। क्षेत्र में लगभग स्थानों पर कोरोना प्रोटोकॉल का ध्यान रखते हुए ईद-उल-अजहा का त्योहार मना।लोगों ने एक दूसरे के घर जाकर मुबारकबाद दी।

फलसूंड बुधवार को ईद उल अजहा के मौके पर फलसूंड मस्जिद में मुस्लिम समाज लोगों ने नमाज पढ़ी। मस्जिद में फलसूंड क्षेत्र के समस्त मुस्लिम समाज के युवाओं व बुजुर्गों ने सामूहिक रूप से सोश्यल डिस्टेंस व कोविड गाइड लाइन का पालन करते हुए नमाज अदा की। इसके साथ ही देश मे अमन व शांति की मालिक से दुआ मांगी। सभी एक दूसरे को बधाइयां दी व मिठाइयां बांटी। इस मौके पर स्वामीजी की ढाणी सरपंच कादर खां, सोहनपुरा सरपंच पठान खां, पूर्व सरपंच प्रतिनिधि मंगे खां, पदमपुरा पटवारी शकूर खां, सालम खां जेतपुरा, गाजी खां जैतपुरा, उम्मेद खां जेतपुरा सहित कई लोगों ने उपस्थित होकर एक दूसरे को ईद की बधाई दी।

मंत्री ने कोरोना के प्रति सजग रहने की बात कही

ईद-उल-अजहा के मौके पर केबिनेट मंत्री सालेह मोहम्मद के आवास पर बधाई देने पहुंचे लोगों उन्होंने कोरोना के प्रति सजग रहने को कहा। मंत्री ने कहा कोरोना संक्रमण का असर अभी तक खत्म नहीं हुआ है। ऐसे में प्रत्येक व्यक्ति को अभी तक सावचेती रखने की आवश्यकता है। उन्होंने सरकार की ओर से जारी गाइडलाइन की पालना करते हुए आवश्यक रूप से मास्क लगाने, सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने, भीड़ से दूर रहने, सैनेटाइजर का उपयोग करने का आह्वान किया।

खबरें और भी हैं...