पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हर बार मिला आश्वासन:जेठा-कलरों की ढाणी के वाशिंदों को हर बार मिला आश्वासन पर सड़क आज तक नहीं बनी

जैसलमेर17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

ग्राम पंचायत चांधन के अंतर्गत आने वाले जेठा एवं कलरों की ढाणी के निवासियों के लिए पक्की सड़क दूर की कौड़ी साबित हो रही है। मौसम चाहे कोई भी हो इस गांव ढाणी के वाशिंदों को आवागमन के लिए सड़क मार्ग के अभाव में परेशानी से जूझना पड़ता है। इसके साथ ही बरसात के दिनों में यहां के लोगो की परेशानियां और भी बढ़ जाती है।

सड़क मार्ग नही होने से आमजन को होने वाली परेशानियों से कई बार स्थानीय लोगों ने जन प्रतिनिधियों ओर संबधित विभाग को अवगत करवाया लेकिन आश्वासन के सिवाय अभी तक किसी ने भी यहां के लोगो को राहत मिले ऐसा कोई कदम नही उठाया गया है। डामरीकृत सड़क मार्ग नही होने से यहां के लोगो को कई बार आपात स्थिति में भारी परेशानी होती है।

गत बारिश में कलरो की ढाणी ओर जेठा पूरी तरह से ग्राम पंचायत मुख्यालय से कट गए थे। इसी दौरान कलरो की ढाणी मे एक प्रसव केस की आपात आ सामने आ गई। महिला एवं जन्म लेने वाले बच्चे की जान पर बन आई। विकट स्थिति को पहचानते हुए एक एएनएम ने मानवता का परिचय दिया और पानी-कीचड़ में तीन किलोमीटर पैदल चलकर महिला का सुरक्षित प्रसव करवाया था।

वर्तमान मे इन गांव ढाणी के आसपास के आसपास नलकूप खेती विकसित हो रही है। पक्की सडक के अभाव में किसानों परेशानी उठानी पड़ रही है। स्थानीय वाशिंदों ने संबधित विभाग को ग्राम पंचायत चांधन से जेठा, कलरो की ढ़ाणी, भोजराजसिंह की ढाणी को डामरीकृत सड़क मार्ग से जोड़ने की मांग की है।

खबरें और भी हैं...