परिवार के साथ 100 दिन रह सकेंगे जवान:अमित शाह बोले: सभी अस्पतालों में होगा कैशलेस इलाज, परिवार के लोगों को मिलेगा हेल्थ कार्ड

जैसलमेर7 महीने पहले
सैनिक सम्मेलन को संबोधित करते अमित शाह। अपने दौरे पर उन्होंने जवानों को हेल्थ कार्ड की सौगात दी।

जैसलमेर दौरे पर आए गृहमंत्री अमित शाह ने जवानों को दो बड़ी सौगात दी है। BSF सहित अर्धसैनिक बलों के जवान अब परिवार के साथ 100 दिन रह पाएंगे। गृहमंत्री अमित शाह शनिवार को रोहतास चौकी पहुंचे। यहां सैनिक सम्मेलन में कहा कि जवान एक साल में 100 दिन अपने परिवार के साथ रह पाए, इसकी भी व्यवस्था हम कर रहे हैं। उन्होंने हेल्थ कार्ड की भी सौगात दी है। शाह बोले कि भी जवानों का कैशलेस इलाज होगा। इसके लिए फरवरी महीने तक करीब 25 लाख कार्ड जारी किए जाएंगे। इसके तहत जवान अपने परिवार के लोगों का नि:शुल्क इलाज करा सकेंगे। उन्होंने सैनिक सम्मेलन में तनोट माता मंदिर के चमत्कार का भी जिक्र किया। जवानों को संबोधित करते हुए बोले कि आज मैं यहां आप लोगों के बीच में भारत-पाकिस्तान सीमा पर एक रात रहने आया हूं। दरअसल, यह एक प्रयास है। आपकी कठिनाई भरी जिंदगी को समझ कर, उन कठिनाइयों को हम कैसे कम कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि बीएसएफ को अब तक साढ़े चार लाख हेल्थ कार्ड दे चुके हैं। फरवरी तक सभी के परिवार सदस्यों तक यह कार्ड पहुंच जाएंगे।

यहां सिर कटाएं है, झुकाएं नहीं है
शाह बोले कि आप लोगों के साथ खाना खाना है। वे बोले कि आप जहां तैनात है, वो पूरे देश में वीरों की भूमि के रूप में जानी जाती है। यहां न झुकने का सिलसिला रहा है। सिर कटा दिए, लेकिन झुकाएं नहीं। राजस्थान ऐसे ही वीरों की भूमि है। सैनिक सम्मेलन के बाद गृहमंत्री ने जवानों के साथ बैठकर रात का खाना खाया और उनसे बातचीत भी की।

अमित शाह व केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत 10 मिनट तक मंदिर में रुके। इसके बाद सेना के जवानों से भी मुलाकात की।
अमित शाह व केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत 10 मिनट तक मंदिर में रुके। इसके बाद सेना के जवानों से भी मुलाकात की।

तनोट माता मंदिर के दर्शन किए, रोहतास बॉर्डर पर सनसेट देखा

इससे पूर्व गृहमंत्री अमित शाह शनिवार दोपहर 3:30 बजे तनोट माता मंदिर से दर्शन किए। शाम 5 बजे वह रोहतास बॉर्डर पहुंचे। यहां से वह मोर्चा नंबर तीन पर सनसेट देखने निकले। भारत-पाकिस्तान सीमा पर तारबंदी पर पहुंचे। यहां उन्होंने तारबंदी के साथ शिफ्टिंग सेंड्यूज की जानकारी ली। इसके बाद वे यहां से सैनिक सम्मेलन में पहुंचे। यहां सेना के जवानों से मुलाकात करेंगे। रात्रि विश्राम वे रोहतास बॉर्डर पोस्ट पर बिताएंगे। उनके साथ केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत भी मौजूद है। इससे पूर्व उन्हें बीएसएफ की ओर से उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। शाह ने विजय स्तंभ पर पुष्पचक्र अर्पित शहीदों को श्रद्धांजलि दी। उन्होंने बीएसएफ की हैट भी पहनी। सेना के जवानों के साथ सेल्फी भी ली।

शाह ने सेना के जवानों से भी मुलाकात की। इस दौरान जवानों ने सेल्फी भी ली।
शाह ने सेना के जवानों से भी मुलाकात की। इस दौरान जवानों ने सेल्फी भी ली।

इससे पहले वे दोपहर 2:30 बजे जैसलमेर एयरफोर्स स्टेशन पहुंचे। एयरफोर्स स्टेशन पहुंचने पर भाजपा पदाधिकारियों की ओर से उनका स्वागत किया गया। यहां से वे बॉर्डर के नजदीक स्थित तनोट माता मंदिर के दर्शन करने के लिए रवाना हो गए हैं। राजस्थान दौरे से पहले उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि अपने दो दिवसीय प्रवास पर वीरभूमि राजस्थान में रहूंगा। आज जैसलमेर में BSF के बॉर्डर आउट पोस्ट पर बहादुर जवानों से मुलाकात करूंगा।

यह देश की सीमा का आखिरी बॉर्डर है। अमित शाह रात यहीं बिताएंगे।
यह देश की सीमा का आखिरी बॉर्डर है। अमित शाह रात यहीं बिताएंगे।
बॉर्डर पोस्ट पर दीवारों पर लिखे जोशीले स्लोगन।
बॉर्डर पोस्ट पर दीवारों पर लिखे जोशीले स्लोगन।
रोहतास चौकी पर मोर्चा नंबर तीन। यहां से गृहमंत्री शाह सनसेट देखा।
रोहतास चौकी पर मोर्चा नंबर तीन। यहां से गृहमंत्री शाह सनसेट देखा।
पाकिस्तान बॉर्डर के पास बने इस गेस्ट हाउस में वह रात्रि विश्राम करेंगे।
पाकिस्तान बॉर्डर के पास बने इस गेस्ट हाउस में वह रात्रि विश्राम करेंगे।
रोहितास चौकी के परिसर को सजाया गया है। देशभक्ति के स्लोगन हर दीवार पर लिखे गए हैं।
रोहितास चौकी के परिसर को सजाया गया है। देशभक्ति के स्लोगन हर दीवार पर लिखे गए हैं।
रोहितास बॉर्डर पोस्ट अंतरराष्ट्रीय सीमा से महज कुछ ही दूरी पर है। तारबंदी में नजर आ रहा पाकिस्तान बॉर्डर है।
रोहितास बॉर्डर पोस्ट अंतरराष्ट्रीय सीमा से महज कुछ ही दूरी पर है। तारबंदी में नजर आ रहा पाकिस्तान बॉर्डर है।