होटल फोर्ट रजवाड़ा लोन स्कैम:SBI के पूर्व चेयरमैन की गिरफ्तारी की वजह बने होटल की पूरी कहानी, बिग-बी को भी पसंद है यह

जैसलमेर7 महीने पहलेलेखक: सिकंदर शेख

देश भर में चर्चा का विषय बनी एसबीआई के पूर्व चेयरमैन प्रतीप चौधरी की गिरफ्तारी को लेकर हर कोई अचंभित है। जैसलमेर में हुए एक लोन स्कैम के आरोप में पकड़े गए प्रतीप चौधरी को सोमवार को कोर्ट ने 14 दिन के लिए जेल भेज दिया है। आइए आपको उस होटल से रूबरू करवाते हैं, जिसके पीछे ये सारा घटनाक्रम हुआ है।

होटल रजवाड़ा का किले नुमा दरवाजा
होटल रजवाड़ा का किले नुमा दरवाजा

होटल फोर्ट रजवाड़ा
जैसलमेर में पर्यटन की शुरुआत 1980 के बाद से बताई जाती है। उस वक्त इस शहर में बहुत कम ही होटल थे। ज्यादातर लोग डाक बंगले में रुका करते थे। 1998 में इस होटल का निर्माण दिलीप सिंह राठौड़ ने 6 एकड़ जमीन में करवाया था। रेगिस्तान के बीच एक किले की तरह बनी यह शानदार इमारत राजशाही स्थापत्य कला का एक बेजोड़ नमूना है।

एक प्रसिद्ध जर्मन ओपेरा महिला डिजाइनर स्टेफनी एंजेलन ने इस होटल को डिजाइन किया था। शानदार लॉबी, गार्डन के साथ इस किले नुमा इमारत में जैसलमेर के पीले पत्थर का उपयोग किया गया है।

होटल का खूबसूरत बाहरी हिस्सा।
होटल का खूबसूरत बाहरी हिस्सा।

महानायक का पसंदीदा होटल
इस महल में सभी सुख सुविधाएं हैं, जो किसी भी सितारा होटल में होती है। इस होटल में 450 साल पुरानी जैसलमेर पत्थर की बनी हवेलियों के झरोखे इसकी विशाल लॉबी की शोभा है। अपने बनने के 2 साल में ही इस होटल की चर्चा पश्चिमी राजस्थान के हर इवेंट ऑर्गेनाइजर और टूर ऑपरेटर की जुबान पर था। यह अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त कलाकार पोल मेकटोनी और फेमस सिंगर स्टिंग के साथ-साथ महानायक अमिताभ बच्चन को भी खासा पसंद है।

बिग-बी अमिताभ बच्चन की जैसलमेर में पसंदीदा जगह है यह।
बिग-बी अमिताभ बच्चन की जैसलमेर में पसंदीदा जगह है यह।

104 कमरों का आलीशान होटल
इस आलीशान होटल में 104 कमरे बने हैं। इसकी विशालकाय लॉबी में लगी बड़े-बड़े राजा-महाराजाओं की पेंटिंग, विशाल पुराने झरोखे, संगमरमर पत्थर से चमकता फर्श और जैसलमेर पत्थर से बनी कलाकृतियां मौजूद हैं। आलीशान रेस्टोरेंट, कॉफी हाउस के साथ ही एक लंबा-चौड़ा बार इसकी शोभा को और बढ़ाते हैं। इसकी खासियतों के कारण बहुत से दिग्गजों की नजरें इस पर रही हैं।

लाउंज की सुंदरता हर किसी को भाती है।
लाउंज की सुंदरता हर किसी को भाती है।

1998 में 25 करोड़ से ज्यादा में हुआ था निर्माण
विवादों से घिरा यह होटल 1998 में 25 करोड़ रुपए से ज्यादा में बनकर तैयार हुआ था। आज इसकी कीमत 200 करोड़ के आसपास लगाई जाती है। रेगिस्तान के बीच होटल में मौजूद स्विमिंग पूल, राम-कृष्ण मंदिर, सोनार दुर्ग को निहारता रूफटॉप रेस्टोरेंट, जिम और चारों ओर हरा-भरा गार्डन इसकी कीमत को कई गुना करता है। जिस समय इस होटल का निर्माण हुआ था, तब जैसलमेर में इतना बड़ा कोई और होटल नहीं था। जैसे ही यह बनकर तैयार हुआ, इसकी तुलना हैरिटेज भवन के रूप में की जाने लगी थी।

होटल का रूफ टॉप रेस्टोरेंट।
होटल का रूफ टॉप रेस्टोरेंट।

बड़े-बड़े ग्रुप की नजर थी फोर्ट रजवाड़ा पर
होटल मालिक दिलीप सिंह के पुत्र हरेन्द्र सिंह बताते हैं कि एक कमरे का औसत किराया 6 से 7 हजार रुपए और सालाना टर्नओवर 10 से 14 करोड़ के बीच था। जिस होटल की मार्केट वेल्यू 150 से 200 करोड़ हो उसको 25 करोड़ के लोन के लिए प्लान करके हड़प लेना गले नहीं उतर रहा है। हमने मुकदमा किया और आज साजिश करने वाले सलाखों के पीछे हैं।

आलीशान स्विमिंग पूल सहित होटल की शान ने ही दिग्गजों को आकर्षित किया।
आलीशान स्विमिंग पूल सहित होटल की शान ने ही दिग्गजों को आकर्षित किया।

धोखाधड़ी में SBI के पूर्व चेयरमैन गिरफ्तार

अब जेल में मनेगी दिवाली

11 कंपनियों का डायरेक्टर कॉलोनी में छिपे रहे, बेटे की कार से आए पकड़ में