पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

प्रतियोगिताएं:बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ थीम पर मेहंदी, रंगोली, पोस्टर एवं निबंध प्रतियोगिताएं

जैसलमेर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस सप्ताह के तहत बेटी जन्मोत्सव कार्यक्रम

वन स्टॉप सेन्टर सखी केन्द्र जैसलमेर में अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस सप्ताह 2020 के तहत सखी केन्द्र संचालनकर्ता हेकार्ड संस्था के सहयोग से बेटी जन्मोत्सव का आयोजन किया गया। सखी केंद्र प्रबंधक मधु पुरोहित द्वारा सभी का स्वागत किया गया। इस अवसर पर बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ थीम पर मेहंदी, गीत, रंगोली, पोस्टर एवं निबंध लेखन प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया।

बालिकाओं द्वारा गीत व कविता का प्रस्तुतीकरण भी किया गया। महिला अधिकारिता विभाग के सहायक निदेशक राजेंद्र कुमार चौधरी ने बताया कि बेटियों के जन्म के अवसर पर मुख्य अतिथि पूर्व जिला प्रमुख अंजना मेघवाल द्वारा केक काटकर बेटी जन्मोत्सव का आयोजन की शुरूआत की गई। मुख्य अतिथि अंजना मेघवाल, जिला ब्रांड एम्बेसडर द्वारा बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ रंगोली का अवलोकन किया गया तथा प्रतियोगिता में

भाग लेने वाले सभी प्रतिभागियों को बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ लोगों आधारित कप भेंटकर सम्मानित किया गया। पूर्व जिला प्रमुख मेघवाल ने कहा कि पूर्व की तुलना में जैसलमेर की बेटियां प्रगतिशील बनी हैं। उन्होंने कहा कि सभी माता पिता बेटियों के विकास के लिए संकल्प लें और बेटियों की शिक्षा दीक्षा एवं विकास के लिए अवसर प्रदान करें ताकि जैसलमेर का नाम विश्व पटल पर रोशन हो। सहायक निदेशक राजेंद्र चौधरी ने

सप्ताह भर में आयोजित किए गए कार्यक्रमों की रूपरेखा प्रस्तुत की। इस दौरान चन्द्रवीरसिंह भाटी सरंक्षण अधिकारी, कैलाशराम भाटी अतिरिक्त प्रशासनिक अधिकारी, चन्द्राकंवर महिला कल्याण अधिकारी, कांता आचार्य जे महिला पर्यवेक्षक, कांता आचार्य आर महिला पर्यवेक्षक, सरिता मौर्य जिला समन्वयक बीबीबीपी, बलवंतसिंह जिला समन्वयक एमएसके, ललिता सैनी जिला समन्वयक एमएसके रामगोपाल बेनीवाल, मधु शर्मा, अक्षिता, प्रियंका एवं साक्षी उपस्थित थे।

आज होगा समापन समारोह : अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस सप्ताह के अंतर्गत गुरुवार को डीआरडीए हॉल में सुबह 10.30 बजे समापन समारोह का आयोजन कलेक्टर आशीष मोदी की अध्यक्षता में किया जाएगा। जिसमें प्रतिभाशाली बालिकाओं को सम्मानित किया जाएगा तथा एक अथवा दो बेटियों पर नसबंदी करवा चुकी माताओं का भी सम्मान किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...