राजस्थान में पेट्रोलियम पदार्थों की तलाश:जैसलमेर, जोधपुर और बीकानेर के 3339 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में तेल की खोज करेगी ऑयल इंडिया; सरकार ने दो ब्लॉक के लाइसेंस दिए

जैसलमेर-जयपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
डेमो पिक। - Dainik Bhaskar
डेमो पिक।

केंद्र सरकार की अनुशंसा के बाद अब तय हो गया है कि ऑयल इंडिया राज्य के तीन जिलों में खनिज तेल और प्राकृतिक गैस की खोज करेगी। जैसलमेर, जोधपुर और बीकानेर के 3339 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में यह खोज की जाएगी। इसके लिए राज्य सरकार ने दो ब्लॉक आवंटित भी कर दिए हैं।

एसीएस माइंस एवं पेट्रोलियम डॉ. सुबोध अग्रवाल ने बताया कि राज्य सरकार ने जैसलमेर व बीकानेर बेसिन में 3 व 4 साल के लिए ऑयल इंडिया कंपनी को ये ब्लॉक आवंटित किए गए हैं। इनसे क्रूड ऑयल व प्राकृतिक गैस खोज के यह दोनों लाइसेंस केन्द्र सरकार के पेट्रोलियम एवं गैस मंत्रालय की अनुशंसा पर जारी किए गए हैं।

95 करोड़ का निवेश, 250 लोगों को सीधे रोजगार
बीकानेर-जोधपुर में 1520.08 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में एक ब्लाॅक तथा बीकानेर-जैसलमेर क्षेत्र में 1819.48 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में दूसरा ब्लाॅक आवंटित किया है। इस काम पर करीब करीब 95 करोड़ रुपए का निवेश किया जाएगा। इसके दौरान करीब 250 लोगों को सीधे व लगभग एक हजार लोगों को अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार मिलेगा। इसके साथ ही उत्पादन आरंभ होने पर खनिज तेल के उत्पादन पर 12.5 प्रतिशत और प्राकृतिक गैस के उत्पादन पर 10 प्रतिशत की दर से प्रदेश को राजस्व प्राप्ति होगी।

पेट्रोलियम बेसिन 1.5 लाख वर्ग किलोमीटर में
राज्य में पेट्रोलियम बेसिन करीब डेढ़ लाख वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैले हए हैं। बाड़मेर-सांचोर बेसिन में बाड़मेर व जालौर, जैसलमेर बेसिन में जैसलमेर व बीकानेर और बीकानेर-नागौर बेसिन में बीकानेर, नागौर, श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़ आदि का हिस्सा शामिल है। प्रदेश में लगभग 1 लाख 20 हजार से 1 लाख 22 हजार बैरल प्रतिदिन कच्चे तेल का उत्पादन हो रहा है। करीब 33 से 35 लाख घनमीटर प्राकृतिक गैस का उत्पादन हो रहा है।

अभी यह स्थिति
राज्य में क्रूड ऑयल व प्राकृतिक गैस के दोहन के लिए 13 लाइसेंस जारी किए हुए हैं। इनमें वेदांता को 2, ओएनजीसी को 9 व बीपीआरएल को 2 लाइसेंस जारी किए हुए हैं। इन पर उत्पादन चल रहा है। राज्य में पेट्रोलियम खोज के पहले से 14 लाइसेंस जारी कर खोज कार्य किया जा रहा है। इनमें वेदांता को 9, ओएनजीसी को 2 और ऑयल इंडिया को 2 लाइसेंस पहले से जारी हैं। अब ऑयल इंडिया को दो नए ब्लाकों में खोज कार्य के लिए लाइसेंस और जारी किए गए हैं।

खबरें और भी हैं...