ग्राम पंचायत तुर्को की बस्ती का मामला:फर्जी विवाह प्रमाण पत्र में घोटाला, ग्राम विकास अधिकारी सस्पेंड, ई मित्र संचालक भी फरार

जैसलमेर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

ग्राम पंचायत तुर्को की बस्ती के ग्राम विकास अधिकारी को बुधवार को निलंबित कर दिया। ग्राम विकास अधिकारी राजमल रैगर पर अनियमितताओं व गबन के चलते निलंबन की कार्रवाई की गई। गौरतलब है कि ग्राम विकास अधिकारी राजमल रैगर द्वारा ईमित्र संचालक के साथ मिलकर कई फर्जी विवाह पंजीयन बना दिए गए थे। जिसमें सरकारी योजना के तहत ग्राम विकास अधिकारी को बजट आवंटन होता था। इसके बाद ग्राम विकास अधिकारी द्वारा संबंधित लाभार्थी को सरकारी राशि दी जाती थी। लेकिन वीडीओ द्वारा फर्जी विवाह पंजीयन कर राशि खुद डकारना चाहता था। इसके लिए उसने ईमित्र संचालक अली नवाज के साथ मिलकर फर्जी आवेदन किए। इस योजना के तहत 4 लाख 14 हजार रुपए भी आवंटित हो गए थे। लेकिन इसके बाद इसकी जानकारी मिलने पर पुलिस में मुकदमा दर्ज किया तो दोनों फरार हो गए।

पुलिस की जांच में हुआ फर्जीवाड़े का खुलासा

मुकदमा दर्ज होने के बाद पुलिस द्वारा की गई जांच में यह बात साबित भी हो गई है कि ग्राम विकास अधिकारी व ईमित्र संचालक द्वारा फर्जीवाड़े से बनाए विवाह पंजीयन से सरकारी राशि का घोटाला किया है। मुकदमा दर्ज होने के बाद से ही वीडीओ राजमल रैगर व ईमित्र संचालक अली नवाज फरार चल रहे हैं। वहीं सम पुलिस उनकी सरगर्मी से तलाश कर रही है।

अली नवाज के खाते में आए 4 लाख 14 हजार

पुलिस की जांच में सामने आया कि उपहार योजना के तहत फर्जी विवाह पंजीयन से ईमित्र संचालक अली नवाज के खातों में 7 आवेदनों के 4 लाख 14 हजार रुपए जमा हो चुके है। जिसमें तीन खाते अली नवाज के नाम से है। इसके साथ ही एक खाते में जमा हुई राशि अली नवाज ने अपनी पत्नी के खाते में ट्रांसफर कर दिए। दो रिश्तेदारों के खातों में भी पैसे आए है। वो पैसे भी अली नवाज ने अपनी पत्नी के खाते में ट्रांसफर करवा लिए।

मुकदमा दर्ज होने के साथ ही ग्राम विकास अधिकारी राजमल रैगर व ईमित्र संचालक अली नवाज फरार हो गए है। जिनकी पुलिस द्वारा सरगर्मी से तलाश की जा रही है। इसके साथ ही मुकदमे के बाद की गई जांच में यह स्पष्ट हो गया है कि दोनों द्वारा मिलीभगत कर सरकारी राशि का गबन करने का प्रयास किया। इस संबंध में सभी रिकॉर्ड व दस्तावेज खंगाले जा चुके है। जल्द ही फरार चल रहे अपराधियों को भी पकड़ लिया जाएगा। -उर्जाराम, सम थानाधिकारी

खबरें और भी हैं...