वॉलीबॉल प्रतियोगिता:खेल में हार से निराश नहीं होकर अच्छा प्रदर्शन करने को तैयार रहना चाहिए:व्यास

जैसलमेर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • वॉलीबॉल प्रतियोगिता में आजाद क्लब ने द ऑरिजनल को हराकर खिताब जीता

पुष्करणा स्मार्ट यूथ क्लब द्वारा समाजसेवी मूलचंद हर्ष की स्मृति में छह दिवसीय डे नाइट वॉलीबॉल प्रतियोगिता का आयोजन पुष्करणा बेरा पर किया गया। समाजसेवी मूलचंद हर्ष की स्मृति में छह दिवसीय वॉलीबॉल प्रतियोगिता के समापन समारोह एवं पुरस्कार वितरण कार्यक्रम की अध्यक्षता जैसलमेर पुष्करणा समाज के अध्यक्ष एवं अतिरिक्त जिला शिक्षा अधिकारी कमल किशोर व्यास ने की। विशिष्ट अतिथि महेंद्र व्यास, शेखर व्यास, शिक्षक नटवर व्यास एवं मुख्य अतिथि सुरेश व्यास, ओमप्रकाश केवलिया, कमल व्यास व प्रदीप थानवी एवं सुरेश हर्ष थे। क्लब के सचिव तन्मय हर्ष ने बताया कि प्रतियोगिता में कुल 8 टीमों ने भाग लिया। फाइनल मैच में आजाद क्लब ने द ऑरिजनल को 2-1 से हराकर जीत का खिताब अपने नाम किया।

समारोह के अध्यक्ष कमल किशोर व्यास ने विजेता टीम आजाद क्लब के खिलाड़ियों को मैडल एवं स्मृति चिन्ह तथा विशिष्ट अतिथि शेखर व्यास ने उप विजेता टीम द ऑरिजनल क्लब के खिलाड़ियों को मैडल एवं स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित करते हुए उनकी हौसला अफजाई की। अतिथियों ने बेस्ट नेटर का अवार्ड विजेंद्र गोपा, बेस्ट सर्विस का अवार्ड प्रशांत थानवी, बेस्ट सेंटर यश व्यास, इमरजिंग प्लेयर अवार्ड अचुत आचार्य तथा फेयर प्ले का अवार्ड विकिंग्स टीम को दिया गया।

इसी कड़ी में प्रतियोगिता को सफल बनाने के लिए नेपाल सिंह, प्रशांत आचार्य एवं आनन्द श्रीपत को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। समारोह के अध्यक्ष कमल किशोर व्यास ने कहा कि स्वर्गीय मूलचंद हर्ष की स्मृति में कहा कि उनसे जब भी उनसे मुलाकात होती तो उनके चेहरे पर सदैव मुस्कान रहती थी वैसे ही किसी भी परिस्थिति में युवाओं के चेहरे पर भी मुस्कान रहनी चाहिए। व्यास ने कहा कि खेल में एक टीम जीतती है तथा एक टीम हारती है। हारने वाली टीम को निराश नहीं होना चाहिए तथा उन्हें अगली प्रतियोगिता में इससे भी अच्छा प्रदर्शन करने के लिए तैयार रहना चाहिए।

युवाओं को खेलों के साथ-साथ शिक्षा पर भी पूर्णरूप से ध्यान देना चाहिए तथा मोबाइल से दूर रहकर आत्मनिर्भर एवं स्वावलंबी बनाना चाहिए ताकि उनका परिवार एवं समाज का विकास हो सके। प्रतियोगिता के आयोजन के लिए हर्ष परिवार का आभार प्रकट किया गया। शिक्षाविद् नटवर व्यास ने कहा कि सर्वप्रथम में समाजसेवी मूलचंद हर्ष को नमन करता हूँ। इस प्रकार के आयोजन निरंतर होने चाहिए ताकि समाज का उत्थान हो सके। जैसे हम खेल अनुशासन से खेलते है वैसे ही जीवन में अनुशासन बना रहना चाहिए।

इस अवसर पर हर्ष परिवार के सदस्य सुरेश कुमार हर्ष, संजय हर्ष, गिरीराज हर्ष, जितेंद्र हर्ष एवं मृत्युंजय हर्ष ने खिलाड़ियों का हौसला बढ़ाया तथा पुष्करणा समाज एवं यूथ क्लब को प्रतियोगिता कराने के लिए अवसर देने पर आभार प्रकट किया। कार्यक्रम का संचालन मुकेश हर्ष ने किया।

खबरें और भी हैं...