मासूमों को बचाने मां टांके में कूदी, तीनों की मौत:दीपावली की खुशियां बदली मातम में, हंसता-खेलता परिवार उजड़ा

जैसलमेर21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मौके पर पुलिस - Dainik Bhaskar
मौके पर पुलिस

जिले के धोलिया गांव के पास स्थित गंगाराम की ढाणी में दीपावली की खुशियां उस समय मातम में बदल गईं, जब घर में खेलते हुए दो मासूम बच्चों की टांके में डूब जाने पर मौत हो गई। उन्हें बचाने के प्रयास में मां भी कूद गई। उसे भी नहीं बचाया जा सका। इस दर्दनाक हादसे में तीनों की मौत हो गई। मां व एक बेटी व बेटे की मौत की खबर से गंगाराम की ढाणी में सनसनी फैल गई। इस घटना से एक बसा-बसाया परिवार उजड़ गया।

शवों को टांके से निकालते पुलिसकर्मी
शवों को टांके से निकालते पुलिसकर्मी

खेलते समय हुआ हादसा

लाठी थानाधिकारी अचलाराम जाट के अनुसार, गंगाराम की ढाणी में बंशीलाल का परिवार निवास करता है। बंशीलाल के एक पुत्र अभिजीत (5) व पुत्री अनुसुइया (7) शुक्रवार की सुबह खेल रही थी। खेलते-खेलते दोनों भाई-बहन टांके के पास पहुंच गए। ढक्कन खुला होने के कारण टांके में गिर गए। उनकी मां कुमता (26) घर का काम कर रही थी। टांके में गिरने की आवाज सुनकर वह दौड़ी। उन्हें बचाने के लिए वह भी टांके में कूद गई। तीनों की डूबकर मौत हो गई।

परिजन आने पर टांके से शव निकाले बाहर

दर्दनाक हादसे की सूचना पर पोकरण सीओ मोटाराम गोदारा, पोकरण एसएचओ महेंद्र सिंह व लाठी थानाधिकारी अचलाराम ढाका मौके पर पहुंचे। पुलिस ने कुमता के परिजनों को घटना की जानकारी देकर बुलाया। शुक्रवार शाम को उसके पीहर पक्ष के लोग मौके पर पहुंचे। परिजनों की आपसी सहमति के बाद शवों को टांके से बाहर निकालकर उनका अंतिम संस्कार कर दिया गया। इस संबंध में किसी भी पक्ष की ओर से पुलिस में मामला दर्ज नहीं करवाया गया है। गांव में दर्दनाक हादसे से दीपावली की खुशियां मातम बदल गई।

खबरें और भी हैं...