• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaisalmer
  • The Laxity Of The District Administration; Even After 14 Days, The Measurement Of The Land Was Not Done, The Victim's Family Was Upset

रिन्यू पॉवर पर मनमानी का आरोप:जिला प्रशासन की ढिलाई;14 दिन बीत जाने के बाद भी नहीं की गई ज़मीन की पैमाइश,पीड़ित परिवार परेशान

जैसलमेर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पैमाइश का इंतज़ार - Dainik Bhaskar
पैमाइश का इंतज़ार

फतेहगढ़ उपखंड क्षेत्र के ग्राम पंचायत उत्तम नगर लाला कराडा के ग्रामीणों ने रिन्यू पॉवर कंपनी की मनमानी के खिलाफ कलेक्टर, एडीएम व एसपी को ज्ञापन सौंपने के 14 दिन बीत जाने के बाद भी ग्रामीणों की समस्या का समाधान नहीं होने से ग्रामीणों में भारी रोष है।

खेत के पास कंपनी का काम जारी
खेत के पास कंपनी का काम जारी

गौरतलब है कि कांग्रेस नेत्री सुनीता भाटी के नेतृत्व में बड़ी संख्या में ग्रामीणो ने 12 अगस्त को जिला मुख्यालय पहुंचकर रिन्यू पॉवर कंपनी की मनमानी के खिलाफ कलेक्टर, एडीएम व एसपी को ज्ञापन सौंपा था। ज्ञापन में ग्रामीणों ने बताया था कि रिन्यू पॉवर कंपनी द्वारा खसरा नं 106, 107 में गलत पैमाइश करके जगमालराम, डलाराम, दुर्गाराम, झबरा राम, देवाराम, वगैरह की खातेदारी भूमि पर बने धोरा, टांका, तारबंदी को नष्ट करके अवैध व जबरदस्ती तरीके से कब्जा कर लिया है।

साथ ही रिन्यू पॉवर कंपनी के कर्मचारियों ने महिलाओं के साथ अभद्र व्यवहार करते हुए पुलिस प्रशासन का डर बताते हुए उनकी ज़मीन पर जबरदस्ती कार्य करने की कोशिश की। ग्रामीणों की मांग थी कि एक विशेष कमेटी भूमि को गांव के प्राचीन कुएं से पैमाइश करवाकर उनकी खातेदारी भूमि का सीमा ज्ञान करवाया जाए। कंपनी द्वारा ग्रामीणों को नुकसान पहुंचाया गया है उसका उचित मुआवजा दिलवाया जावे। खेतों में काम करने वाली औरतों के विरोध करने पर उनके साथ अभद्र व्यवहार किया जिसके विडियो भी सामने आए हैं।

इसके साथ साथ पीड़ित वर्ग ने एसपी जैसलमेर को भी अवगत कराया था कि कम्पनी का असंवैधानिक व गलत कार्य को पुलिस ने सहयोग किया तथा पीड़ित पक्ष के 15-16 लोगों के खिलाफ झूठा मुकदमा भी दर्ज किया। इनमें से कई लोग उस दिन गांव से बाहर थे, उन्होंने गांव के लोगों के खिलाफ जो मुकदमे दर्ज कराये वे झूठे हैं तथा वे वापिस लिए जाएं।

12 अगस्त को ज्ञापन देने आए ग्रामीण (फ़ाइल फोटो)
12 अगस्त को ज्ञापन देने आए ग्रामीण (फ़ाइल फोटो)

एडीएम ने दिया था आश्वासन-

वहीं अतिरिक्त जिला कलक्टर हरी सिंह मीना ने ग्रामीणों को आश्वासन दिया था कि खातेदारी भूमि की पैमाईश करवा के ही कार्य शुरू किया जाएगा। जब तक पैमाईश न हो तब तक कार्य बंद रखा जाएगा और किसानों को न्याय दिया जाएगा लेकिन 14 दिन बीत जाने के बाद भी अभी तक ना ही टीम गठित की गई और ना ही पैमाइश की गई ऐसे में पीड़ित ग्रामीणों में भारी रोष व्याप्त है।

ज़मीन में किए गड्ढे
ज़मीन में किए गड्ढे

रिन्यू पावर और ग्रामीणों में विवाद

जैसलमेर के लाला करड़ा गांव में खसरा नंबर 106 107 में करीब 15 से 20 किसान खेती करते हैं। उसके आसपास के खसरे रिन्यू पॉवर कंपनी ने लीज पर लिए हैं। मगर 106-107 वालों ने अपना खेत खेती के लिए रखा कंपनी को लीज पर नहीं दिया। कंपनी ने ऑनलाइन मैप में जब टैगिंग कि तब लीज की आधी ज़मीन 106 व 107 में आ रही है जिसको लेकर विवाद हुआ।

106 107 खसरे के किसानों ने कम्पनी को पैमाइश करवाने की बात कही। मगर कम्पनी मानने को तैयार नहीं है। ज़ोर आजमाइश से काम शुरू करना चाहती है जिसमें पुलिस प्रशासन भी कम्पनी का सहयोग करता नज़र आ रहे हैं जिसको लेकर ग्रामीणों ने 12 अगस्त को जैसलमेर जिला मुख्यालय पर ज्ञापन सौंपा था और उनको आश्वासन मिला था कि बहुत जल्द पैमाइश कारवाई जाएगी तब तक काम नहीं होगा। मगर 14 दिन बीत जाने के बाद भी पैमाइश का काम शुरू नहीं किया गया है और उसको ढीला छोड़ा जा रहा है। इस बारे में एडीएम हरी सिंह मीना से संपर्क साधने कि कोशिश की गई मगर उन्होने फोन नहीं उठाया।

खबरें और भी हैं...