पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अभियोग निराकरण:मंत्री ने गांवों में ग्रामीणों से मास्क पहनने के साथ सोशल डिस्टेंसिंग के लिए की समझाइश

जैसलमेर21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कैबिनेट मंत्री सालेह मोहम्मद ने जैसलमेर जिले के कई गांवों का किया दौरा

अल्पसंख्यक मामलात, वक्फ एवं जन अभियोग निराकरण मंत्री सालेह मोहम्मद ने रविवार को जैसलमेर जिले के विभिन्न ग्रामीण क्षेत्रों का दौरा कर सम सामयिक हालातों की जानकारी ली। ग्रामीणों से चर्चा कर पानी बिजली, लोक स्वास्थ्य, खाद्य आपूर्ति सहित लोक जीवन से संबंधित तमाम जरूरी विषयों पर बातचीत की, जन समस्याएं जानी तथा इनके समयबद्ध निस्तारण का आश्वासन दिया।

अल्पसंख्यक मामलात मंत्री ने चिन्नू, भारेवाला, रोहिड़ो वाला आदि ग्राम पंचायत क्षेत्रों के साथ ही मोहम्मद नगर, 235 आरडी एवं समीपवर्ती ग्रामीण इलाकों का दौरा किया और इस दौरान जगह जगह सोशल डिस्टेंसिंग के साथ ग्रामीणों की छोटी छोटी चौपालें लेकर गांवों और ग्रामीणों के वर्तमान हालातों को लेकर चर्चा की तथा क्षेत्र के हालातों की वस्तुस्थिति और ग्राम्य लोक जीवन से रूबरू हुए।

अल्पसंख्यक मामलात मंत्री ने राज्य सरकार द्वारा कोविड महामारी पर नियंत्रण के लिए लगातार की जा रही भरसक कोशिशों के बारे में ग्रामीणों को बताया और कहा कि वे इस महामारी से किसी भी प्रकार से भयभीत न हों बल्कि इससे बचने का सबसे बढ़िया, सहज सर्वमान्य और सरल उपाय यही है कि हम सरकार द्वारा जारी गाइड लाइन और सभी प्रकार की पाबंदियों का पूरा पूरा पालन करें। उन्होंने ग्रामीणों से कहा कि अनावश्यक घर से बाहर न निकलें, जरूरी हो तब ही बाहर निकलें पर मास्क का अनिवार्य उपयोग करें, परस्पर दूरी बनाए रखें, साबुन से बार बार हाथ धोएं, सैनेटाइजर का उपयोग करें और तमाम प्रकार की ऐहतियात बरतें।

ऎसा होने पर ही हम कोरोना से मुक्त रह सकते हैं। उन्होंने ग्रामीणों से कहा कि कोरोना के मामले में किसी भी प्रकार की ढिलाई या लापरवाही न बरतें और पूरी पूरी सावधानी बनाए रखें। स्वयं भी इससे बचाव के लिए सतर्क रहें तथा दूसरे लोगों को भी समझाएं, जागरुक करें तथा अपने गांव ढाणियों को सुरक्षित बचाए रखें। उन्होंने ग्रामीणों से कहा कि किसी भी प्रकार की बीमारी के संकेत होने पर नजदीकी अस्पताल में जाकर डॉक्टर को दिखाएं और पर्याप्त इलाज लें, इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही नहीं बरतें।

इसके साथ ही चिकित्सकीय सर्वे के लिए आने वाली टीमों को परिवार के स्वास्थ्य की सही सही जानकारी दें ताकि समय पर दवाइयों और इलाज के लिए परामर्श प्राप्त हो सके।शाले मोहम्मद ने नहरबंदी के मद्देनजर ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजल की पर्याप्त व्यवस्था पर जोर देते हुए ग्रामीणों को बताया कि इस बारे में शासन प्रशासन के स्तर पर सभी संबंधित विभागों को निर्देशित किया हुआ है कि पेयजल प्रबंधन के प्रति गंभीर रहें और जहां कहीं पानी की समस्या सामने आए, उसका तत्काल समाधान कर ग्रामीणों को राहत प्रदान करें। उन्होंने पशुओं के पीने के पानी के प्रबंधों के प्रति गंभीर रहने के निर्देश जलदाय से संबंधित अधिकारियों को दिए। उन्होंने ग्रामीणों द्वारा बताई गई समस्याओं के प्राथमिकता से समाधान करने का आश्वासन दिया।

खबरें और भी हैं...