पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

धर्म-समाज:करणी माता के भक्त डॉ. गुलाबसिंह की दंडवत यात्रा जयपुर से पहुंची तनोट मंदिर, सैलाब उमड़ा

रामगढ़12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • दो वर्ष में पूर्ण हुई 1265 किमी की दंडवत यात्रा, तनोट में उमड़ा आस्था का जन सैलाब

जयपुर से तनोट तक दंडवत यात्रा कर रहे करणी माता के भक्त डॉ. गुलाबसिंह की दंडवत यात्रा का रथ रविवार को तनोट पहुंचा। करणी माता के भक्त डॉ. गुलाबसिंह ने दंडवत करते हुए तनोट माता मंदिर में प्रवेश किया तथा तनोट माता के चरणों में शीश नवाया। तनोट माता की पूजा अर्चना करने के बाद उन्होंने तनोट माता की आरती की। इस दौरान तनोट मंदिर के ऊपर एक साथ 84 चील प्रकट हुई। उसके बाद तनोट माता मंदिर प्रांगण में प्रतिदिन की जाने वाली करणी माता की आरती की। जिसमें हजारों की संख्या में भक्त उपस्थित रहे। आरती के दौरान करणी माता ने चील के रुप में दर्शन दिए और माता के जयकारों से आसमान गुंजायमान हो गया। इस दौरान गुलाब बाईसा, महंत प्रतापपुरी महाराज सहित कई गणमान्य व्याक्ति व डॉ. गुलाबसिंह के पारिवारिक सदस्य उपस्थित रहे।

करणी माता के भक्त डॉ. गुलाबसिंह पेशे से चिकित्सक है तथा पूर्व में जयपुर नगर निगम में पार्षद रह चुके है। उन्होंने बताया कि तनोट माता करणी माता की इष्ट देवी है। इसलिए उन्होंने एक बार जयपुर से तनोट पैदल यात्रा की थी।

डॉ. गुलाबसिंह पिछले 48 वर्षों से लगातार करणी माता के दर्शन करने देशनोक जा रहे है। उन्होंने 52 बार जयपुर से देशनोक की पैदल यात्रा की है। करणी माता के 36 किमी ओरण की 559 बार परिक्रमा की तथा अब एक नाक निवण दण्डवत यात्रा कर रहे है। उन्होंने 1265 किमी की यह दंडवत यात्रा दो वर्षों में पूरी की।

डॉ. गुलाबसिंह ने विश्व कल्याण व नेहड़ी धाम स्थित कल्प वृक्ष को हरा भरा करने की मन्नत को लेकर जयपुर से तनोट माता मंदिर तक की दंडवत यात्रा 23 सितंबर 2019 को शुरु की थी। जो रविवार को पूर्ण हुई। बीच में कोरोना की पहली व दूसरी लहर के कारण यात्रा रुक गई थी।

प्रतिदिन की दो किमी करते थे दंडवत यात्रा

करणी माता के भक्त डॉ. गुलाबसिंह द्वारा प्रतिदिन दो किमी की दंडवत यात्रा करते तनोट पहुंचे। डॉ. गुलाबसिंह की दंडवत यात्रा के दौरान बड़ी संख्या में करणी माता के भक्त उनके साथ चलते रहे। रथ सारथी के रुप में हाकमदान चारण, रामबक्श, गोपालसिंह, नारायणसिंह, फतेसिंह, सवाईसिंह, गणपतसिंह, रतनसिंह, चैनसिंह व प्रितमसिंह चम्पावत उनके साथ रहे।

आवड़ माता (तनोट माता) की परिचय पट्टिका का किया उद‌्घाटन

इस अवसर पर गुलाब बाईसा, डॉ. गुलाबसिंह, महंत प्रतापपुरी व अन्य अतिथियों द्वारा तनोट माता मंदिर प्रांगण में आवड़ माता (तनोट माता) परिचय पट्टिका का उद्घाटन किया गया। डॉ. गुलाबसिंह की कनक दंडवत यात्रा पूरी होने पर तनोट में एक स्वागत समारोह का आयोजन किया गया।

जिसमें जैसलमेर के पूर्व विधायक छोटूसिंह भाटी व समाजसेवी नखतसिंह भाटी की ओर आयोजित स्वागत समारोह में गुलाब बाईसा, महंत प्रतापपुरी महाराज, संत निरंजन भारती व डॉ. गुलाबसिंह के पारिवारिक सदस्य एवं गणमान्य लोग उपस्थित रहे।

कार्यक्रम में डॉ. गुलाबसिंह का शॉल ओढ़ाकर, साफा पहनाकर स्वागत सम्मान किया। रथ सारथी के रुप में दो वर्ष साथ रहे हाकमदान चारण का भी स्वागत किया गया। समाजसेवी नखतसिंह भाटी पूनमनगर की ओर से तनोट में प्रसादी का वितरण किया गया।

खबरें और भी हैं...