पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मोहनगढ़ के जीरो आरडी की घटना,नहर बंद करवाई:नहर में नहाने गई एक ही परिवार की दो बेटियां पानी में डूबी

जैसलमेरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • रेस्क्यू ऑपरेशन से एक शव निकाला, फातिमा की तलाश

नहर में बुधवार को नहाने गई दो मासूम बच्चियां डूब गई। रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू कर एक बेटी का शव बाहर निकाला गया। वहीं दूसरी बेटी की तलाश की जा रही है। जीरो आरडी के पास ही मुख्य नहर के सामने की तरफ स्थित ढाणी में रहने वाली आसमा (13) पुत्री रमजान खान व फातिमा (12) पुत्री राणे खान बुधवार को नहर में नहाने के लिए गई। इस दौरान उनका भाई भी साथ में नहाने गया था। पहले दोनों बच्चियों नहर में नहाने के लिए उतरी लेकिन दिखाई नहीं देने पर भाई ने घर पर जाकर सूचना दी। इसके बाद परिजन तुरंत ही नहर पर पहुंचे व दोनों बच्चियों की तलाश शुरू कर दी।

आसमा का शव नहर में मिल गया। लेकिन फातिमा की अब तक तलाश की जा रही है। घटना की जानकारी मिलने के साथ ही मोहनगढ़ थानाधिकारी अरूण कुमार माय जाब्ता मौके पर पहुंचे। इसके बाद आसमा के शव को परिजनों को सुपुर्द कर दिया गया है। वहीं फातिमा की तलाश की जा रही है।

नहर करवाई बंद, दिन भर चला रेस्क्यू ऑपरेशन

बुधवार को परिजनों ने आसमा के शव को तुरंत ही बाहर निकाल दिया। इसके बाद जैसलमेर से नागरिक सुरक्षा के स्वयंसेवक व गोताखोर को बुलाकर फातिमा की तलाश शुरू कर दी है। बुधवार को दिन भर रेस्क्यू कर फातिमा की तलाश की गई। लेकिन देर शाम तक फातिमा का पता नहीं चल पाया। नहर में बुधवार को दोनों बच्चियों के डूबन से हर कोई स्तब्ध रह गया। इसके साथ ही नहरी क्षेत्र से कई लोग भी मौके पर पहुंचे जिससे भीड़ जमा हो गई। इसके साथ ही आसमा का शव मिलने व फातिमा नहीं मिलने पर पूरे क्षेत्र में शोक की लहर फैल गई है।

रिश्ते में दोनों बच्चियां बुआ-भतीजी, आसमा का शव परिजनों को सौंपा,गांव में शोक की लहर

बुधवार को दोनों बच्चियों के नहर में डूबने की घटना की सूचना मिलने पर जीरो आरडी के पास ग्रामीणों की भीड़ जमा हो गई। जानकारी के अनुसार राणे खान के एक बेटा व बेटी फातिमा है। वहीं रमजान के दो पुत्र व आसमा के साथ एक पुत्री और है।

रिश्ते में रमजान और राणे खान दोनों काका भतीज है। आसमा व फातिमा रिश्ते में बुआ व भतीजी है। दोनों एक साथ 5वीं कक्षा में पढ़ती थी। इसी के चलते दोनों पहली बार नहर में नहाने के लिए गई थी। लेकिन उन्हें क्या पता था कि यह उनका आखिरी साथ होगा।

बुधवार को दोपहर 12 बजे घटना घटित होने के तुरंत बाद ही आसमा के शव को बाहर निकाल लिया गया था। जिसके बाद पुलिस भी मौके पर पहुंची और शव को परिजनों को सुपुर्द कर दिया है। वहीं पुलिस के निर्देशन में गोताखोरों व ग्रामीणों द्वारा फातिमा की तलाश की जा रही है।

नहर में पानी की आवक होने के कारण फातिमा के बहकर आगे निकलने की संभावना जताई जा रही है। घटना होने के साथ ही नहरी विभाग को सूचित कर नहर में पानी की आवक को बंद कर दिया गया है। अब धीरे धीरे पानी का स्तर गिर रहा है। जिससे फातिमा की तलाश आसान हो सके। वहीं फिलहाल नहर में 17 फीट पानी है। जिसके बाद अब पानी का स्तर कम होने से गोताखोरों को ढूंढने में आसानी रहे।

खबरें और भी हैं...