पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

दस्तावेज:लाइसेंस सहित पंजीयन के लिए एड्रेस के दो दस्तावेज जरूरी नहीं

जैसलमेर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

वाहनों के लाइसेंस और पंजीयन के लिए दस्तावेजों को लेकर परिवहन विभाग ने बडा बदलाव किया है। इनमें अब एड्रेस के दो दस्तावेज जरूरी नहीं है। केवल एक दस्तावेज से भी प्रमाण पत्र लिया जा सकेगा। परिवहन आयुक्त रवि जैन द्वारा जारी नए आदेश में स्पष्ट किया गया कि लाइसेंस व पंजीयन प्रमाण पत्र दोनों परिस्थितियों में आवेदक के राज्य का निवासी होने पर किसी भी लाइसेंस ऑथोरिटी व पंजीयन अधिकारी के पास आवेदन किया जा सकता है। पते के साक्ष्य के रूप में दो प्रमाण पत्र (स्थाई व अस्थाई पता) लेना औचित्यपूर्ण नहीं है। यह परिवर्तन संशोधित मोटर वाहन अधिनियम 2019 की धारा 40 के तहत किया है। इसमें

प्रावधान है कि प्रत्येक वाहन का स्वामी उस वाहन को उस राज्य से रजिस्टर करवाएगा, जिसकी अधिकारिता में उसका निवास या कारोबार का स्थान है, जहां वाहन आमतौर पर रखा जाता है। आरटीओ के अनुसार विभाग के नए आदेश से आमजन को दो बड़ी सहूलियत होंगी। पहला कोई भी आवेदक लाइसेंस के लिए राज्य में कहीं भी आवेदन कर सकता है। मतलब यदि आप बाड़मेर निवासी हैं और जोधपुर में लाइसेंस के लिए आवेदन करते हैं तो वहां भी बनाया जा सकता है। अब तक नए वाहनों के पंजीयन या अन्य राज्यों में पंजीकृत पुराने वाहनों के दुबारा पंजीयन के दौरान अस्थाई पते के प्रमाण के आधार पर ही कार्य किया जाता था। इसमें में कर चोरी या फर्जी कागजातों के आधार पर चोरी के वाहनों के भी पंजीयन या पुन: पंजीयन की आशंका बनी रहती थी।

खबरें और भी हैं...