1 महिला से अफेयर, 45 घरों का हुक्का-पानी बंद:प्रेमिका ने कर दी थी पति की हत्या तो प्रेमी के संबंधी परिवारों को दी सजा, अब SP ने 30 पंचों को कर दिया पाबंद

जैसलमेर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पीड़ित परिवार ज्ञापन के साथ। - Dainik Bhaskar
पीड़ित परिवार ज्ञापन के साथ।

हत्या के एक साल पुराने मामले में जातीय पंचों ने एक साथ 45 परिवारों का हुक्का पानी बंद करने का फरमान जारी कर दिया। इस फैसले के खिलाफ अब जैसलमेर के एसपी ने फरमान जारी करने वाले 12 गांवों के 30 पंचों को पाबंद कर दिया है। एसपी ने पंचों को चेतावनी दी है कि अगली बार ऐसा कुछ किया तो सख्त कार्रवाई की जाएगी। शुक्रवार को पीड़ितों ने एसपी जैसलमेर, एसडीएम फतेहगढ़, पुलिस थाना सांगड व तहसीलदार फतेहगढ़ से मुलाकात कर न्याय की मांग की है।

पीड़ितों ने बताया कि मेघवाल समाज के सांकड़ा में 8 माह पूर्व एक महिला ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर पति की हत्या कर दी थी। इसके बाद उस मामले में शामिल पत्नी के प्रेमी के भाई व परिजनों के परिचित 45 परिवारों को समाज के 12 गांवों के 30 पंचों ने समाज से बेदखल करने का फरमान जारी कर दिया था। ये परिवार सांकड़ा थाना क्षेत्र के बेतिना गांव के 45 मेघवाल समाज से हैं, जिन्हें समाज से बहिष्कृत किया गया। पंचों का तर्क था कि युवक ने एक शादीशुदा महिला से प्रेम करने का अपराध किया है, इसलिए उसके रिश्तेदारों के परिवारों का हुक्का पानी बंद किया जा रहा है।

इस बारे में पीड़ितों ने एसपी जैसलमेर व पुलिस थाना सांगड़ में पेश होकर पंचों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है।

यह है मामला
सांकड़ा थाना क्षेत्र के माधोपुरा गांव में हरजी राम की ढाणी के कोशलाराम पुत्र भैरूराम की हत्या कोसला राम की पत्नी द्वारा 17 अगस्त 2020 को की गई थी। हत्या करने वाली पत्नी का बेतीना गांव निवासी मदन राम पुत्र विशनाराम फोन के संपर्क में था। मृतक की पत्नी व सासु ने मिलकर कौशलारम की हत्या की थी, जिसको लेकर हत्या में शामिल पत्नी के मदनराम के साथ प्रेम संबंध को लेकर समाज के पंचों ने मदनराम के परिजनों व उसके रिशतेदारों के 45 परिवारों को समाज से बहिष्कार कर दिया। ये सभी सांकड़ा थाना क्षेत्र के बेतीना गांव के निवासी है, इनका हुक्का पानी भी बंद कर दिया गया।

एसपी का एक्शन
जैसलमेर एसपी डॉ. अजय सिंह ने मामले की गंभीरता को देखते हुए सांगड़ थाना पुलिस को निर्देश दिए हैं कि इन जातीय पंचों को पाबंद करें। पीड़ितों को तुरंत न्याय दिलवाने के लिए निर्देश सांगड़ थाना को दिए।

खबरें और भी हैं...