सरणायत गांव में बाढ़ के हालात:जैसलमेर की एका ग्राम पंचायत में तेज बारिश से बाढ़ जैसे हालात, पानी से घिरे घर, और बारिश के आने पर हालात होंगे ख़राब

जैसलमेर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सरणायत गांव में भरा पानी। - Dainik Bhaskar
सरणायत गांव में भरा पानी।

एका ग्राम पंचायत के सरणयात गांव में पिछले दो दिन से हो रही बारिश के बाद बाढ़ के हालत बन गए हैं। मंगलवार और बुधवार रात्री में हुई ज़बरदस्त बारिश के बाद रामदेवरा और एका ग्राम पंचायत की कई ढाणीयों में पानी भर गया है। बारिश इतनी तेज हुई की रामदेवरा और आस पास के ग्रामीण क्षेत्र में चारों तरफ़ खेतों में सिर्फ़ पानी ही दिख रहा है और कई गांव और ढाणी में आवागमन के रास्ते भी बंद हैं।

एका ग्राम पंचायत के गांव सरणयात और उसके पास स्थित सुजासर जाने वाला रास्ता भी पानी के भर जाने के कारण बंद हो गया है। ऐसे में इस गांव से उस गांव में जाने के लिए कोई विकल्प नहीं है। सरणयात गांव में स्थित नेखुखान की ढानी में पानी ग्रामवासीयों के घरों तक पहुंच गया है। ऐसे में घरों के गिरने की आशंका भी जताई जा रही है। नेखु खान की ढाणी में क़रीब 7 से अधिक घर हैं और पूरी ढाणी के चारों तरफ़ पानी के भर जाने से लोगों के बाहर निकलने का रास्ता भी बंद है।

जेसीबी की मदद से पानी निकालते हुए।
जेसीबी की मदद से पानी निकालते हुए।

दो दिन की बारिश ने बिगाड़े हालात

रामदेवरा और आस-पास के क्षेत्र में लगातार दो दिन की बारिश के बाद हालत और ख़राब हो गए। मंगलवार रात्री में बारिश के बाद बुधवार को सरणयात गांव से पानी को बाहर निकालने के लिए एका सरपंच और ग्रामसेवक मौक़े पर पहुंचे। जेसीबी से धोरे को तुड़वा पानी के निकासी को वयस्था की गई थी, लेकिन बुधवार रात्री में सरणयात में फिर से बारिश के बाद गांव के दूसरी तरफ़ रेलेवे ट्रेक के पास स्थित ढाणी में पानी भर गया। वहां से पानी के निकलने के लिए रेलवे ट्रेक के नीचे स्थित पुलीये के संकरा होने के कारण ज़्यादा पानी एक साथ नहीं निकल पाया। आस पास स्थित ओरण से भी पानी ढाणी के पास जमा हो गया। ऐसे में सरणयात गांव में पानी धीरे-धीरे ज़्यादा ज़मा हो रहा है और लोग प्रशासन से सहायता की उम्मीद लगाए बैठे हैं।

सांकड़ा प्रधान भंगवंत सिंह तंवर ने करवाई टैंट आदि की व्यवस्था।
सांकड़ा प्रधान भंगवंत सिंह तंवर ने करवाई टैंट आदि की व्यवस्था।

आज हुई बारिश तो हालात होंगे क़ाबू से बाहर

सरणयात गांव में आस-पास के खेतों से पानी निकल कर अब गांव में जमा हो रहा है। ऐसे में सरणयात में धीरे-धीरे हालात क़ाबू से बाहर हो रहे हैं। सांकड़ा प्रधान भगवंत सिंह तंवर भी वहां पहुंचे। उन्होंने ज़रूरतमंदों के लिए खाध सामग्री, टेंट, गैस सिलेंडर की व्यवस्था पंचायत की मदद से की। साकडा प्रधान भगवत सिंह तंवर के साथ ग्राम विकास अधिकारी चोथा राम, सहायक पुरखा राम, कंवराज भील भी मौजूद रहे ग्रामीण पूनम सिंह ने बताया की बारिश का पानी धीरे धीरे पूरे गांव के चारों तरफ़ फैल रहा है। और ऐसे में अभी तक कोई विशेष प्रशासनिक मदद के ना मिल पाने के कारण लोग मदद का इंतज़ार कर रहे हैं। ग्रामीण लोगों के अनुसार गुरुवार को फिर से बारिश के होने पर हालात काबू से बाहर चले जाएंगे।

कंटेट-गोपाल सिंह तंवर

खबरें और भी हैं...