सेना का हौसला बढ़ाने आएंगे अमित शाह और राजनाथ सिंह:सेना के सबसे बड़े युद्धाभ्यास और बीएसएफ़ के राइजिंग डे में करेंगे शिरकत

जैसलमेर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अमित शाह और राजनाथ सिंह

भारत पाकिस्तान सीमा पर बसा जैसलमेर जिला सेना के दो बड़े आयोजनों का साक्षी बनेगा। सेना का मनोबल बढ़ाने उन आयोजनों में गृह मंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह शिरकत करेंगे। भारत के दोनों बड़े पदों पर आसीन व्यक्तियों के जैसलमेर यात्रा को लेकर आयोजन स्थलों पर तैयारियां तेज हो गई हैं। दरअसल सेना इन दिनों अरुणाचल प्रदेश से लेकर लद्दाख और कश्मीर से लेकर हिमाचल प्रदेश तक में जमकर सैन्य अभ्यास कर रही है। ये सेना का वार्षिक सैन्य अभ्यास है जिसे EWT यानी 'एक्सरसाइज विद ट्रूप्स' कहा जाता है। सेना के इस सबसे बड़े अभियान का जैसलमेर में 26 नवंबर को समापन होगा। सेना के सबसे बड़े युद्धाभ्यास के समापन में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह जैसलमेर आएंगे तथा सेना का मनोबल बढ़ाएंगे।

सेना का वार्षिक सैन्य अभ्यास EWT
सेना का वार्षिक सैन्य अभ्यास EWT

बीएसएफ़ राइजिंग डे पर अमित शाह करेंगे शिरकत

भारत की पहली रक्षा पंक्ति कहे जाने वाली सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) का स्थापना दिवस समारोह एक दिसंबर को पहली बार दिल्ली से बाहर मनाया जाएगा। इस बार बीएसएफ का स्थापना दिवस समारोह इंटरनेशनल बार्डर के जैसलमेर जिले में आयजित होगा। जैसलमेर में इसके लिए शहर के बीचों बीच बने पूनम स्टेडियम का चयन किया गया है। इस कार्यक्रम में बीएसएफ़ का मनोबल बढ़ाने के लिए गृह मंत्री अमित शाह जैसलमेर आएंगे तथा कार्यक्रम में शिरकत करेंगे।

गौरतलब है कि सीमा सुरक्षा बल की स्थापना 1965 में की गई थी। तब से लेकर पिछले साल तक स्थापना दिवस समारोह दिल्ली में ही आयोजित होता रहा है, लेकिन पहली बार दिल्ली से बाहर आयोजन करने का निर्णय लिया गया है। जैसलमेर के शहीद पूनम सिंह स्टेडियम में करीब तीन घंटे का कार्यक्रम होगा। इसमें जवान अपने साहसिक कारनामे दिखाएंगे। इस दौरान डॉग शो और राइजिंग परेड होगी। बीएसएफ ने समारोह की तैयारियां प्रारंभ कर दी है। बताया जा रहा है कि इसका आयोजन 1 दिसम्बर को होगा।

बीएसएफ़ के राइजिंग डे की तैयारियां
बीएसएफ़ के राइजिंग डे की तैयारियां