ASI के बेटे ने की थाने के मालखाने से चोरी:बर्थ-डे पार्टी में योजना बनाकर पिता के सहयोग से थाने से पार किया 10 क्विंटल डोडा पोस्त

बाड़मेर9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
एएसआई अमराराम। - Dainik Bhaskar
एएसआई अमराराम।

बाड़मेर जिले के पचपदरा थाने के मालखाने से चोरी डोडा पोस्त का पुलिस ने खुलासा किया है। पचपदरा थाने में कार्यरत तत्कालीन एएसआई अमराराम भील के बेटे ने अपने साथियों के साथ मिलकर 10 क्विंटल डोडा पोस्त चोरी किया था।

एएसआई अमराराम भील 2018 से 2020 के दौरान पचपदरा थाने में कार्यरत था। मालखाने की चौकी में ही रहता था। इसी दौरान मालखाने से डोडा पोस्त चोरी हुआ था। एएसआई के बेटे का भी आना-जाना लगा रहता था।

सितंबर में कराया गया था मामला दर्ज

दरअसल, 11 सितंबर 2021 को पचपदरा थानाधिकारी प्रदीप डागा ने अज्ञात चोरों के खिलाफ थाना के मालखाना से 1058 किलो डोडा-पोस्त चोरी होने का मामला दर्ज करवाया था। बताया कि पचपदरा पुलिस ने चार जून और 23 अगस्त 2019 को कार्रवाई कर 1058 किलो अवैध डोडा पोस्त बरामद किया था। इसके बाद डोडा पोस्त को पचपदरा मालखाने में रख दिया था। इसके बाद में मालखाना इंचार्ज बदलते गए। इस साल अप्रैल में पचपदरा हेड कांस्टेबल पदपपुरी को मालाखाना चार्ज दिया जा रहा था। तब चार्ज लिस्ट बनाने के दौरान डोडा पोस्त गायब होने की जानकारी मिली। मामले की जांच एएसपी नितेश आर्य कर रहे थे। जांच में खिड़की तोड़कर चोरी करने और मालखाना इंचार्ज की लापरवाही की बात सामने आई है।

बालोतरा एएसपी नितेश आर्य ने बताया कि पचपदरा चौकी से डोडा पोस्त चोरी का खुलासा हो गया है। कुछ आरोपियों जोधपुर पुलिस ने गिरफ्तार किया है। शेष आरोपी की तलाश कर रहे है। जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

पुलिस चौकी में मनाया था बेटे का जन्मदिन

पचपदरा में तैनात रहने के दौरान एएसआई अमराराम भील ने अपने बेटे सुरेंद्र कुमार का जन्मदिन चौकी के अंदर बेटे के साथियों के साथ सेलिब्रेट किया था। बेटे का चौकी में आना-जाना लगा रहता था। आरोपी खुलासे में सामने आया है कि चोरी 2018 से 20 के दौरान हुई है। एएसआई अमराराम भील गुड़ामालानी थाने में कार्यरत है।

एटीएम चोरी पूछताछ में खुलासा

जोधपुर के राजीव गांधी नगर थाने में एटीएम चोरी के मामले में गिरफ्तार आरोपी ने पूछताछ के दौरान एएसआई के बेटे के साथ मिलकर डोडा चोरी कर इसे बेचना स्वीकार किया है। डोडा चोरी के बाद आरोपियों ने एएसआई की बोलेरो एसएलएक्स व एक कैंपर से माल पार किया था। आरोपी अपने साथियों के साथ डोडा चोरी करने के बाद साथी भोमाराम के गांव में ढाणियों में लोगों को माल बेचते थे। चार आरोपी राजीव गांधी नगर थाने में एटीएम चोरी के मामले में गिरफ्तार है, वहीं एक आरोपी बालेसर थाने में है। मुख्य आरोपी किशोर सहित चार आरोपी फरार चल रहे हैं।

बाड़मेर से फरार हुआ था बाल अपचारी

सिवाना थाने में दर्ज हत्या के मामले का वांछित बाल अपचारी को बाल संप्रेषण गृह बाड़मेर भेजा गया था। जहां से वह चकमा देकर फरार हो गया था। बाल अपचारी एटीएम चोरी सहित अन्य मामलों में फरार चल रहा है। आरोपी लंबे समय से चोरी के मामलों में संलिप्त बताया जा रहा है।

चोरी का मास्टरमाइंड एएसआई का बेटा, फरार

पुलिस ने मामले में दस आरोपियों को नामजद किया है। इसमें से डोडा चोरी का मुख्य आरोपी मास्टरमाइंड सुरेंद्र कुमार पुत्र अमराराम भील फरार चल रहा है। वहीं भोमाराम, सुरेश कुमार पुत्र टेलाराम मेघवाल निवासी रणजीतगढ़, रावलराम पुत्र बुधाराम मेघवाल निवासी सोलंकियों का तला शेरगढ़ व कैलाश पुत्र चुतराराम मेघवाल निवास भाटियों की ढाणी व शिवप्रकाश पुत्र मांगाराम मेघवाल निवासी खींयासरिया से बालेसर थाने में चोरी के मामले में पूछताछ हो रही है। आरोपी हेमाराम पुत्र धर्माराम मेघवाल निवासी सोमेसर शेरगढ़, ईश्वर भील पुत्र प्रेमाराम निवासी खुडियाला बालेसर, जितुसिंह पुत्र खेमसिंह निवासी निवासी खुडियाला निवासी बालेसर व एक अन्य आरोपी फरार चल रहा है।

एएसआई पर ही शक, जांच में हो सकता है बड़ा खुलासा

पुलिस पूछताछ में सामने आया कि एएसआई अमराराम भील के पचपदरा थाने में कार्यरत रहने के दौरान चौकी (मालखाना) का कामकाज चल रहा था। यहां पर उसके पुत्र सुरेंद्र कुमार व उसके साथियों का आना-जाना लगा रहता है। चौकी में आरोपी सुरेंद्र कुमार की बर्थ डे पार्टी के दौरान उसका साथी आरोपी शिवप्रकाश भी यहां मौजूद था। पार्टी के दौरान ही इन्हें मालखाना से डोडा-पोस्त चोरी करने का आइडिया आया। इसके बाद आरोपी ने अपने साथियों के साथ मिलकर थाना के पीछे की पांच फीट की दीवार फांदकर अंदर घुसता और खिड़की से डोडा-पोस्त चुराकर बोलेरो से चुराकर ले जाता था। पूछताछ में सामने आया कि चौकी का कार्य चलने के दौरान एएसआई यहां कार्यरत श्रमिकों को रात 12 बजे बाद चौकी से बाहर जाने नहीं देता था। इस मामले में एएसआई की भूमिका संदेहे के घेरे में है।

खबरें और भी हैं...