पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने बनवाया अस्पताल:48 घंटे में तैयार 100 बेड का आधुनिक कोविड अस्पताल; ग्रीन कारपेट युक्त वार्ड, मरीजों की पसंद अनुसार देसी भोजन

बाड़मेर2 महीने पहलेलेखक: लाखाराम जाखड़
  • कॉपी लिंक
बाड़मेर, बायतु मुख्यालय पर बने 100 बेड के कोविड अस्पताल में भर्ती मरीज। फोटो: नरपत रामावत। - Dainik Bhaskar
बाड़मेर, बायतु मुख्यालय पर बने 100 बेड के कोविड अस्पताल में भर्ती मरीज। फोटो: नरपत रामावत।

बायतु मुख्यालय पर महज 48 घंटे में 100 बेड का आधुनिक सुविधायुक्त अस्पताल तैयार कर दिया। अस्पताल में सुविधाएं महंगी होटल से कम नहीं हैं। मरीजों की देखरेख से लेकर खाने की व्यवस्था अस्पताल प्रबंधन की ओर से की जा रही है। ये कहे कि पॉजिटिव आने के बाद मरीज को अस्पताल तक छोड़ने के बाद सारी जिम्मेदारी अस्पताल की है। उसके इलाज से लेकर उसकी डिमांड के अनुसार देसी खाना उपलब्ध करवाया जा रहा है।

ये ही वजह है कि 15-20 दिन में ठीक होने वाले गंभीर रोगी यहां 8-10 दिन में ठीक हो रहे हैं। बायतु मुख्यालय पर सरकारी कॉलेज में सभी संसाधनों को महज 48 घंटे में जुटाकर इस अस्पताल को तैयार किया है। जहां इन दिनों 100 रोगी भर्ती है। राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने 25 लाख रुपए विधायक कोष से मेडिकल रिलीफ सोसायटी को दिए। इसके अलावा 5 लाख रुपए निजी आय से देकर अस्पताल की शुरूआत करवाई।

भोजन की व्यवस्था मंत्री और भामाशाह के सहयोग से की गई है। दवाई और डॉक्टर सरकारी है, जो कोरोना मरीजों का इलाज कर रहे हैं। पूरे अस्पताल का संचालन का जिम्मा मेडिकल रिलीफ सोसायटी बायतु को दे रखा है। कोरोना बढ़ते संक्रमण और लोगों की जान बचाने के लिए राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने बायतु मुख्यालय पर राजकीय महाविद्यालय में 100 बेड का अस्पताल तैयार करवाया है।

मरीजों की देखरेख भी यहां उनके परिजन नहीं अस्पताल के डॉक्टर, कंपाउंडर और वॉलेंटियर कर रहे हैं। मरीज के साथ आए परिजनों को कोविड वार्ड में एंट्री नहीं दी जा रही है।

अस्पताल के लिए टीम: एसडीएम विवेक व्यास के नेतृत्व डॉ. जोगेश चौधरी समेत पांच डॉक्टर, 7 नर्सिंग स्टाफ, 13 वालिंटियर , 2 स्वीपर, 2 गार्ड सेवाएं दे रहे हैं। सर्वर रूम बनाया गया है, जहां से पूरे अस्पताल की मॉनिटरिंग हो रही है।

खबरें और भी हैं...