कोतवाली पुलिस की गुंडागर्दी या कार्रवाई:व्यापारी को दिया 15 दिन का नोटिस, कार्रवाई चौथे दिन, घसीटकर ले गए

बाड़मेर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
व्यापारी को पकड़ ले जारी पुलिस। - Dainik Bhaskar
व्यापारी को पकड़ ले जारी पुलिस।

बाड़मेर शहर के स्टेशन रोड स्थित कॉस्मेटिक दुकान से एक व्यापारी सहित तीन लोगों को पुलिस घसीटकर थाने ले गई। व्यापारी पर धोखाधड़ी का मामला कोतवाली थाने में दर्ज है। पुलिस ने व्यापारी को 15 दिन में जांच के लिए थाने आने का नोटिस दिया था, लेकिन पुलिस नोटिस के चौथे दिन ही दुकान से तीन लोगों को ले गई। इससे व्यापारियों में पुलिस को लेकर रोष है।

दरअसल, दानजी की होदी निवासी भाखरसिंह पुत्र रीडमल सिंह ने कोतवाली थाने में 24 नवंबर को नवीन कुमार पुत्र मनोहरलाल पर धोखाधड़ी, छल करने का मामला दर्ज करवाया था। कोतवाली पुलिस ने 29 नवंबर को नोटिस जारी किया था। नोटिस में 15 दिन के अंदर व्यापारी को कोतवाली जांच के लिए कागजात व सबूत लाकर पेश होना था, लेकिन पुलिस ने नोटिस के चार दिन बाद गुरुवार को दोपहर में कोतवाल मय पुलिस टीम व्यापारी की दुकान पर पहुंचे।

पुलिस व्यापारी को साथ चलने का बोलने लगी। इस पर व्यापारियों ने पुलिस वारंट की कॉपी मांगी। इस दौरान व्यापारी और पुलिस में बहस होने लग गई। कोतवाल उगमराज सोनी मय जाब्ता दुकान के अंदर घुसे और व्यापारियों को जबरदस्ती घसीटते हुए बाहर लाकर पुलिस की गाड़ी में बैठा कर थाने ले गए। पूरे घटनाक्रम का वीडियो पर वहां पर खड़े किसी व्यक्ति ने बना दिया।

व्यापारी के पिता मनोहरलाल का कहना है कि चार दिन पहले कोतवाली पुलिस ने एक नोटिस दिया था। उस समय बेटा बाहर गया हुआ था। गुरुवार को ही बाड़मेर आया था। दोपहर में कोतवाल उगमराज सोनी, मुंशी सहित पुलिस के 8 लोग आए। बेटे को पकड़ कर ले जाने लगे। इस पर हमने बोला कि आपने 15 दिन का समय दिया है सबूत व गवाह लेकर कोतवाली आ जाएंगे। लेकिन पुलिसकर्मी धक्का-मुक्की करने लग गए। नोटिस में किसी तरह का हवाला नहीं है। दुकान से बेटे सहित तीन लोगों को जबरदस्ती ले गए है।

यह है मामला दर्ज

पुलिस कोतवाल उगमराज सोनी का कहना है कि कोतवाली थाने में व्यापारी के खिलाफ धोखाधड़ी व छल का मामला दर्ज है। भाखर सिंह ने व्यापारी की दुकान सहित पूरी बिल्डिंग खरीद रखी थी। व्यापारी को इस दुकान के बदले में दूसरी जगह दुकान दे दी थी। दोनों पक्षों के बीच में लिखित एग्रीमेंट हुआ है। इसके बावजूद भी दुकान खाली करने के लिए रुपए मांग रहा है। पुलिस व्यापारी की दुकान पर समझाने के लिए गई थी। व्यापारी व अन्य लोग पुलिस के साथ बदतमीजी करने लगे। इस पर नवीन कुमार पुत्र मनोहरलाल, दीपक कुमार मनोहरलाल व एक अन्य को शांतिभंग के आरोप में हिरासत में लिया है।