• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Barmer
  • 15 Patients Admitted, 168 Found So Far, OPD Has Crossed 2300, All Wards Of The Hospital Are Full From Patients Of Seasonal Diseases

29 दिन में जिला अस्पताल में 145 डेंगू मरीज आए:15 रोगी भर्ती, अब तक 168 मिले, ओपीडी 2300 पार पहुंची, माैसमी बीमारियाें के मरीजाें से अस्पताल के सभी वार्ड फुल

बाड़मेर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जिला अस्पताल परिसर में मौसम परिवर्तन के चलते उमड़ी मरीजाें की भीड़। - Dainik Bhaskar
जिला अस्पताल परिसर में मौसम परिवर्तन के चलते उमड़ी मरीजाें की भीड़।

जिले में डेंगू मरीजाें की संख्या में लगातार बढ़ाेतरी हाे रही है। जिला अस्पताल की लैब में इसी सप्ताह में 57 डेंगू मरीजाें की पुष्टि की गई है। वहीं सितंबर में कुल 145 डेंगू राेगी सामने आ चुके हैं। 31 जुलाई से अब तक जिला अस्पताल में डेंगू के 168 राेगियाें की पुष्टि की गई। इनमें से अधिकांश मरीजाें के एनएस वन प्रकार का डेंगू पाया गया है। इस डेंगू से मरीज की प्लेटलेट्स अचानक कम हाे जाती है।

अस्पताल में प्लेटलेट्स चढ़ाने की सुविधा नहीं हाेने पर कई राेगी हाई सेंटराें पर अपना इलाज करा रहे हैं। गनीमत यह रही कि इलाज के दाैरान अब तक किसी भी राेगी की माैत नहीं हुई है। डेंगू व माैसमी बीमारियाें के बढ़ते राेगियाें की संख्या ही स्वास्थ्य विभाग की ओर से माैसमी बीमारियाें की राेकथाम के चलाए जा रहे कार्यक्रमाें की पाेल खाेल रही है। स्वास्थ्य विभाग की अनदेखी व अप्रभावी कदम के चलते राेगियाें की संख्या में लगातार वृद्धि दर्ज की जा रही है।

जिला अस्पताल के मेडिकल वार्डाें में बुधवार 12 डेंगू मरीज भर्ती रहे, जिनका इलाज जारी है। वहीं माैसमी बीमारियाें के चलते बुखार के 44 व एक मरीज मलेरिया का भी भर्ती पाया गया। फिलहाल माैसमी बीमारियाें के कारण अस्पताल के सभी वार्ड मरीजाें से फुल हाे गए है। ऐसे में अस्पताल प्रशासन की ओर से साइकेट्रिक वार्ड व स्कीन वार्ड काे भी इन मरीजों के लिए अतिरिक्त खाेला गया है।

मरीजाें की तादाद बढ़ने के साथ लगभग सभी वार्डाें में माैसमी बीमारियाें के मरीजाें काे भर्ती किया जा रहा है। जिला अस्पताल की पिछले दस दिन में ओपीडी 21981 तक पहुंच चुकी है। वहीं आईपीडी भी 1387 रही। अस्पताल के फिजीशियन डाॅक्टराें का कहना है कि माैसमी बीमारियाें व डेंगू के मरीजाें की भरमार लगी हुई है। फिजीशियन ओपीडी व पर्ची काउंटर पर मरीजाें काे घंटाें इंतजार करना पड़ रहा है। इसी सप्ताह के तीन दिन में ही लगभग 8000 मरीज अपनी स्वास्थ्य जांच करवाने के लिए अस्पताल पहुंच चुके हैं।

शहर के इन 25 इलाकों में सामने आए डेंगू के मरीज

शहर के बेरियाें का वास, सरदार पटेल मार्ग, रैन बसेरा के पीछे, शिव नगर, जटियाें का नया वास, कल्याणपुरा, पुलिस लाइन, लक्ष्मीपुरा, राॅय काॅलाेनी, जूना केराडू मार्ग, उदय नगर, पनघट राेड, शास्त्री नगर, हिंगलाज नगर, ढाणी बाजार, सरदारपुरा, नवले की चक्की, रामदेव नगर, इंदिरा काॅलाेनी, रामनगर, बलदेव नगर, महावीर नगर, रेलवे कुंआ नंबर 3, अस्पताल परिसर, मधुबन काॅलाेनी, रानीगांव, मापुरी, सियाणी, महाबार, बाड़मेर आगाैर, मारूड़ी, गंगासरा, रेडाना, बावड़ी कला, बीसू कला, भाेजारिया, सरनू पनजी, रावतसर, भीमडा, निंबला, चवा, बायतु, शहदात का पार, नांद, जालीपा केंट, लालाणियाें की ढाणी, बालेरा, गरल, झणकली, मुंढाें की ढाणी, कगाऊ, सनावड़ा, भूणिया, खारची, बिशाला, पादरिया रामसर, बांड, राेहिली, सिणधरी, शिव, उण्डू काश्मीर, काेटड़ा, देतांणी, गुडीसर, स्वामियाें की ढाणी, सेतराऊ, सरली, जायडू, बालेबा, आदर्श ढूंढा, कुर्जा, सेलाऊ रामसर सहित गांवाें में तेजी से डेंगू राेगी सामने अा रहे हैं।

मौसम में परिवर्तन से खतरा बढ़ा, सतर्कता रखना जरूरी

अस्पताल में माैसमी बीमारियाें के मरीजाें की संख्या में लगातार बढ़ाेतरी हाे रही है। इनमें ज्यादातर मरीज बुखार, सर्दी, खांसी, जुकाम के सामने आ रहे हैं। कुछ मरीज डेंगू के भी सामने आ रहे हैं। माैसम परिवर्तन काे देखते हुए लाेगाें काे विशेष सतर्कता बरतने की जरूरत है। खान-पान का विशेष ध्यान रखें।

ठंडे पदार्थाें के सेवन से बचे। डेंगू के केस भी सामने आ रहे हैं ऐसे में घराें में साफ-सफाई का ध्यान रखते हुए पानी काे एकत्रित न हाेने दें। मच्छराें से बचाव जरूरी है। मच्छरदानियाें का प्रयाेग करें। पाैष्टिक आहार ले और बाहर की चीजें न खाएं।- डाॅ. अनिल सेठिया, असिस्टेंट प्राेफेसर मेडिसिन, जिला अस्पताल।

खबरें और भी हैं...