• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Barmer
  • 16 Beds Increased In Labor Room Of District Hospital, Now Total 49 Beds For Pre delivery, Post delivery And Pre delivery

मरीजों के लिए सुविधा व्यवस्था:जिला अस्पताल के लेबर रूम में बढ़ाए 16 बेड, अब प्रसव पूर्व पाेस्ट डिलवरी व प्री डिलवरी के कुल 49 बेड

बाड़मेर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जिला अस्पताल में प्रसूताओं के लिए लेबर रूम में 16 बेड और बढ़ाए गए है। लेबर रूम में पहले से प्रसूताओं के लिए 33 बेड की व्यवस्था है। एमसीएच विंग में लगातार प्रसूताओं की संख्या बढ़ने के कारण अस्पताल प्रशासन की ओर से बेड बढ़ाए गए है। अब प्रसव पूर्व पाेस्ट डिलवरी व प्री डिलवरी के लिए कुल 49 बेड की व्यवस्था की गई है।

इससे पहले लेबर रूम में प्रसव के लिए आने वाली प्रसूताओं के बने पाेस्ट डिलवरी वार्ड में 16 बेड की व्यवस्था थी। वहीं प्री-डिलेवरी वार्ड में लगे 17 बेड कम पड़ रहे थे। कई बार स्थिति ऐसी भी बन आती थी कि एक बेड पर ही दाे-दाे प्रसूताओं काे भी सुलाना पड़ रहा था।

बेड नहीं मिलने पर भी प्रसूताओं काे प्रसव पीड़ा के साथ अव्यवस्था के चलते परेशानियां झेलनी पड़ रही थी। ऐसे में अस्पताल प्रशासन की ओर से लेबर रूम के बाहर की गैलरी में कुछ दिन पूर्व ही बेड बढ़ाए गए थे, लेकिन अस्पताल में प्रसूताओं की तादाद बढ़ने के साथ एएनसी रूम व एक्स-रे रूम में भी बेड लगाए गए है।

जिला अस्पताल के अधीक्षक डाॅ. बीएल मसूरिया ने बताया कि लेबर में प्रसूताओं की संख्या बढ़ने के कारण अतिरिक्त बेड की व्यवस्था की गई है। पाेस्ट डिलवरी के 16 और बेड बढ़ाए गए है। फिलहाल प्रसव पूर्व व प्रसव के दाे घंटे बाद के लिए प्रसूताओं के लिए 49 बेड की व्यवस्था की गई है। एक्स-रे व एएनसी रूम में सात बेड लगाए गए है।

विधायक ने किया अस्पताल का निरीक्षण, दाे लाख के पांच एसी स्वीकृत
विधायक मेवाराम जैन ने अस्पताल के ऑर्थोपेडिक वार्ड में पांच एसी लगाने के लिए दाे लाख रुपए विधायक काेष से स्वीकृत किए। विधायक जैन ने शनिवार काे अस्पताल के लेबर रूम, एमसीएच विंग, ऑर्थोपेडिक वार्ड सहित निरीक्षण किया। ऑर्थोपेडिक वार्ड में निरीक्षण के दाैरान लगे पंखाें से मरीजाें काे पर्याप्त हवा नहीं आ रही थी।

इस दाैरान अस्पताल प्रशासन काे वार्ड में पांच एसी लगाने के लिए कहा गया। विधायक ने कोष से दाे लाख की राशि अस्पताल के लिए स्वीकृत की। विधायक ने कहा कि मरीजों की किसी भी प्रकार की असुविधा ने हाे इसका पूरा ध्यान रखा जाए। पूर्व में भी भामाशाह के सहयाेग से 50 पंखे उपलब्ध करवाए गए थे। इस दाैरान मेडिकल काॅलेज प्राचार्य डाॅ. आर.के. आसेरी, अधीक्षक डाॅ. बीएल. मसूरिया, एमसीएच विंग प्रभारी डाॅ. हरीश चाैहान, डाॅ. कमला वर्मा, डाॅ. सुरेंद्र चाैधरी, डाॅ. सवाई सिंह,नर्सिंग अधीक्षक सुरेश छंगाणी, पीआरओ जाेगाराम माली माैजूद रहे।

खबरें और भी हैं...