रिमझिम और हल्की बारिश का लगातार तीसरा दिन:20 किमी. की रफ्तार से हवा चली, दिन व रात का पारा 3 डिग्री गिरा

बाड़मेर19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
शहर की स्टेशन रोड पर बारिश से बच्चों को बचाते हुए। - Dainik Bhaskar
शहर की स्टेशन रोड पर बारिश से बच्चों को बचाते हुए।

पश्चिमी विक्षोभ इन दिनों सक्रिय है। इसी वजह से पिछले तीन दिन से मावठी सियाळे का मौसम बना हुआ है। रुक-रुक कर कभी हल्की तो कभी तेज बारिश का दौर जारी है। शुक्रवार को भी बाड़मेर जिले में बरसात हुई। 20 किमी. रफ्तार से चली हवा के कारण दिनभर ठंड बढ़ गई। कड़ाके की ठंड से हर कोई ठिठुरते हुए घर से ऑफिस पहुंचा। सुबह 7 बजे रिमझिम बारिश शुरू हुई, जो दोपहर 2 बजे तक रुक-रुक कर जारी रही। बाड़मेर शहर में 2 एमएम बारिश रिकाॅर्ड की गई।

जिले के गडरारोड, रामसर, चौहटन, सेड़वा, शिव इलाके में भी कहीं तेज तो कहीं हल्की बारिश हुई है। बर्फीली हवा के कारण दिन व रात का पारा 3-3 डिग्री तक गिर गया है। शुक्रवार को बाड़मेर जिले का अधिकतम पारा 18.0 और 11.9 डिग्री रहा।

बाड़मेर में सुबह हल्की बारिश से दिन की शुरूआत हुई। इसके बाद घने कोहरे की आगोश में पूरा बाड़मेर लिपट गया। कोहरे के कारण विजिबिलिटी कम होने से सड़कों पर वाहनों की रफ्तार भी थम गई। करीब 100 मीटर से ज्यादा कुछ भी दिखाई नहीं दे रहा था। ऐसे में छोटे-बड़े सभी वाहनों की रफ्तार थमी रही। इसके बाद अचानक कभी तेज बौछारें तो कभी हल्की बौछारे चली। 1 बजे तक रिमझिम और हल्की बारिश से करीब 3 एमएम बारिश रिकाॅर्ड की गई।

आगे क्या: पश्चिमी विक्षोभ का असर खत्म, आज से मौसम साफ हो जाएगा
मौसम विभाग के अनुसार शनिवार को पश्चिमी विक्षोभ का असर खत्म हो जाएगा। इसके बाद कई दिनों तक बारिश की संभावना नहीं है। शनिवार को दोपहर 12 बजे से ही मौसम साफ हो जाएगा। बादल छंटने के साथ ही धूप खिलेगी। पिछले तीन दिनों से बाड़मेर में सूरज नहीं दिखा है। मावठ की बारिश के साथ 15-20 किमी. की रफ्तार से चल रही शीत लहर के कारण दिन और रात के पारे में लगातार गिरावट हो रही है। पिछले 5 दिनों में दिन का पारा 10 डिग्री और रात का पारा 4 डिग्री तक गिर चुका है। सर्दी ऐसी है कि हर किसी को कंपकंपी छूट रही है। दिन में धूप नहीं खिलने से लोगों को राहत नहीं मिल रही है।

खबरें और भी हैं...