जिला अस्पताल के बाद डाेम भी फुल:एक दिन में 20 नए डेंगू रोगियों की पुष्टि,अब तक 1279

बाड़मेरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जिला अस्पताल में राेजाना औसत 150 मरीजों काे भर्ती किया जा रहा है। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
जिला अस्पताल में राेजाना औसत 150 मरीजों काे भर्ती किया जा रहा है। (फाइल फोटो)

डेंगू सहित मौसमी बीमारियाें के कहर के चलते दीपावली का पर्व भी लाेगाें के लिए सकुन भरा नहीं रह सका। जिला अस्पताल में राेजाना औसत 150 मरीजों काे भर्ती किया जा रहा है। वहीं 150 से अधिक डेंगू राेगियाें काे हाई सेंटर ताे डाॅक्टराें की ओर से ही रेफर किया गया है।लगभग 150 से अधिक मरीज ताे ऐसे भी रहे जाे बिना बताए (एब्सकाेंडेड) तथा डाॅक्टराें की अनुमति से हाई सेटरों पर इलाज करवाने के लिए गए।

शहर व आस-पास के गांवाें में भी फाेगिंग व एंटी लार्वा एक्टीविटी नहीं करवाई जा रही है। शहर के राॅय काॅलाेनी, बेरियाें का वास, लक्ष्मीनगर, इंदिरा नगर, सरदापुरा क्षेत्राें में लगातार नए मरीजाें की पुष्टि हाे रही है। लेकिन वास्तविकता में यहां न ताे फाेेगिंग हाे रहा है न ही एंटी लार्वा एक्टीविटी।

एक दिन में डेंगू के 20 नए मरीजाें की पुष्टि
जिला अस्पताल की सैंट्रल लैब के माइक्राे बाॅयलाेजी विभाग से शनिवार काे 20 डेंगू मरीजाें की पुष्टि की गई। वहीं अस्पताल से अब तक 1279 मरीजाें की पुष्टि की जा चुकी है। अस्पताल में एलाइजा टेस्ट के किट की अनुपलब्धता के चलते कई मरीजाें के डेंगू कार्ड भी लगाए गए।

इनकी रिपोर्टिंग काे स्वास्थ्य विभाग वास्तविक नहीं मानता लेकिन ऐसे में आंकड़े इनसे भी कहीं अधिक सामने आ रहे है। वहीं सभी कार्ड पॉजिटिव मरीजाें का लाइनअप ट्रीटमेंट डेंगू राेगियाें की तरह ही किया जा रहा है।

जिला अस्पताल समेत डोम में 24 बेड ही खाली
जिला अस्पताल में राेजाना औसत इन दिनाें 150 मरीजाें काे भर्ती किया जा रहा है। ऐसे में अस्पताल प्रशासन की भी चिंताएं बढ़ती जा रही है। कुछ दिन अगर भर्ती हाेने वाले मरीजाें की स्थिति यथावत रही ताे काेविड काल की ही तरह मेडिकल काॅलेज में भी बेड लगाने पड़ सकते हैं। रात तक अस्पताल की इमरजेंसी में मरीज अपनी जांच करवाने पहुंचते रहे। अस्पताल सहित डाेम में 498 बेड में से अब सिर्फ 24 बेड ही खाली रहे।

वार्ड फुल होने पर बेड बढ़ाने की तैयारी है
अधीक्षक जिला अस्पताल डाॅ. बीएल. मसूरिया ने बताया कि अस्पताल में ओपीडी में मरीजाें की संख्या कुछ कम हुई है, वहीं आईपीडी की स्थिति यथावत बनी हुई है। डाेम में भी 81 मरीज भर्ती किए गए। शनिवार काे आईपीडी में दोपहर तीन बजे तक पांच व इमरजेंसी में तीन डाॅक्टराें की ड्यूटी लगाई गई। वार्ड फुल हाेने पर बेड बढ़ाने की याेजना बनाई जाएगी। सर्दी बढ़ने से मरीजाें की तादाद कम हाेगी।

खबरें और भी हैं...