कोरोना टीकाकरण:15 से 18 के 22.17% व 12 से 14 साल के 31.80 प्रतिशत बच्चे कोरोना वैक्सीनेशन से अभी भी वंचित

बाड़मेरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जिले में शुक्रवार एक साथ सात कोरोना केस सामने आने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने अलर्ट जारी कर दिया है। - Dainik Bhaskar
जिले में शुक्रवार एक साथ सात कोरोना केस सामने आने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने अलर्ट जारी कर दिया है।

जिले में शुक्रवार एक साथ सात कोरोना केस सामने आने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने अलर्ट जारी कर दिया है। जिले में शनिवार 12 लाेगाें की काेविड सैंपलिंग की गई, इनमें 11 की आरटीपीसीआर रिपोर्ट निगेटिव रही। वहीं एक की रिपोर्ट संदेहास्पद पाए जाने पर उसका दोबारा टेस्ट लगाया जाएगा। इधर, स्वास्थ्य विभाग की ओर से सैंपलिंग और वैक्सीनेशन बढ़ाने के आदेश जारी किए गए है। जिले में काेराेना वैक्सीन की पहली डाेज अब भी 10 प्रतिशत लाेगों ने नहीं लगवाई है। जिले में काेराेना के टीकाें की पर्याप्त उपलब्धता है।

जिला ड्रग वेयर हाउस में काेविशिल्ड की 93,600, काेवैक्सीन 78,200 तथा 12 से 14 साल के बच्चाें काे लगने वाली काेर्बीवैक्स के 60000 डाेज का स्टाॅक है। इनमें से काेविशिल्ड की लगभग 45000 टीकों की एक्सपायरी डेट 31 अगस्त व 31 दिसंबर हाेने के कारण स्वास्थ्य विभाग की ओर से पहले इन्हें लगाने के आदेश दिए है। काेराेना की चाैथी लहर पर काबू पाने के लिए बाड़मेर जिला अस्पताल व नाहटा अस्पताल बालाेतरा में सैंपलिंग जारी है ताे रिफाइनरी पचपदरा में भी सैंपल लेने के आदेश जारी किए गए है।

भास्कर एनालिसिस : 231800 टीके मौजूद, 45 हजार अगस्त में हो जाएंगे एक्सपायर
जिले में काेराेना टीकाकरण की पहली टीका से अब तक 9.95 प्रतिशत लाेगों ने नहीं लगवाया है। इनमें कई लाेग जिले से बाहर निवास कर रहे हैं ताे कुछ ने लापरवाही की वजह से डाेज लगाई ही नहीं। वहीं 49883 लाेगाें काेराेना टीके की प्रिकाॅशन डाेज लगा चुके हैं। 15 से 18 साल के बच्चाें में 22.17 प्रतिशत व 12 से 14 आयु वर्ग के 31.80 प्रतिशत बच्चे टीके से वंचित है।

जिले में काेराेना के रिफाइनरी पचपदरा से 3, पचपदरा से 2 तथा बालाेतरा शहर व माडपुरा से 1-1 केस सामने आए है। रिफाइनरी में सैंपलिंग की व्यवस्था अलग से की जाएगी। जिला अस्पताल बाड़मेर व नाहटा अस्पताल बालाेतरा में सैंपलिंग जारी है। जिले में लगभग 9 प्रतिशत लाेग टीके से वंचित है। सभी जिलेवासियाें से अपील है कि वैक्सीनेशन करवाएं तथा मास्क के प्रयाेग के साथ काेराेना गाइडलाइन की पालना करें। टीके की पर्याप्त मात्रा उपलब्ध है। प्रत्येक पीएचसी लेवल तक काेल्ड चेन प्वाइंट बनाए गए है और डिमांड के अनुसार वैक्सीन पहुंचाई जा रही है। एक्सपायरी डेट से पहले वैक्सीन उपयाेग में ले ली जाएगी। - डाॅ.बी.एल. विश्नाेई, सीएमएचओ, बाड़मेर।

घर-घर अभियान के तहत सभी स्वास्थ्य कर्मी पहुंच रहे हैं जाे लाेग टीके से वंचित है उनका टीकाकरण किया जा रहा है। काेविड केस आने के साथ टीकाकरण व सतर्कता अनिवार्य है। मेडिकल टीम सभी कोरोना संक्रमित के पास पहुंची है। इनमें से किसी की ट्रेवल हिस्ट्री नहीं पाइ गई है। दाे लाेगाें के सर्दी जुकाम के लक्ष्ण पाए गए है इन्हें घराें में आइसाेलेट किया गया है। -डाॅ. हरदान सहारण, एसीएमएचओ, बाड़मेर।

खबरें और भी हैं...