खबर का असर:नकल गिरोह में शामिल 3 सरकारी शिक्षक निलंबित

बाड़मेर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

रीट परीक्षा में नकल करवाने और डमी अभ्यर्थी बिठाने में पकड़े गए प्रदेश के 13 शिक्षकों को शिक्षा विभाग ने निलंबित कर दिया है। इसमें गिड़ा निवासी भंवरलाल विश्नोई जो राउप्रावि. कदवाल डूंगरपुर में कार्यरत था। बहुत चर्चित खुद हिस्ट्रीशीटर होने के बावजूद भी नौकरी कर रहा था। डमी अभ्यर्थी बिठाने के मामले में डूंगरपुर में गिरफ्तार हुआ था। अब उसे शिक्षा विभाग ने निलंबित कर दिया है।

इसी तरह बाड़मेर पुलिस ने बालोतरा में सॉल्व पेपर देकर नकल करवाने के लिए मामले में रमेश कुमार राप्रावि. रामदेरिया लापुंदड़ा को गिरफ्तार किया था। इसके साथ सुरेश कुमार निवासी राउमावि. हालीवाल चितलवाना को गिरफ्तार किया था। दोनों को सस्पेंड कर दिया है।

इनके खिलाफ क्यों नहीं लिया गया एक्शन?
धोरीमन्ना के दो भंवरलाल विश्नोई हाल ही में दो अलग-अलग भर्ती परीक्षा में नकल करवाने के मामले में गिरफ्तार हुए थे। इसमें एक भंवरलाल विश्नोई जो जयपुर में एसआई भर्ती परीक्षा में डमी अभ्यर्थी बिठाने के मामले में 17 सितंबर को पकड़ा गया। दूसरा आरोपी हाल ही में जोधपुर पुलिस ने 25 सितंबर को पकड़ा था, जो रीट भर्ती परीक्षा में डमी अभ्यर्थी बिठाने की फिराक में था। दोनों आरोपी सरकारी शिक्षक है, लेकिन अभी तक सस्पेंड नहीं हुए है।

खबरें और भी हैं...