पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

राहत की खबर:30 हजार डिफॉल्टर किसानों को मिलेगा ऋण, अब तक बांटा 5.70 करोड़ का कर्ज

बाड़मेरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जिले के करीब तीस हजार डिफॉल्टर किसानों को दो साल बाद सहकारी समितियों से कर्ज मिलेगा। सहकारिता विभाग के आदेश पर बाड़मेर सेंट्रल को-ऑपरेटिव बैंक ने प्रक्रिया शुरू कर दी है। जिले में खरीफ सीजन में 6.25 करोड़ रुपए का फसली ऋण बांटने का लक्ष्य दिया गया है। अब तक करीब 5.70 करोड़ रुपए का कर्ज वितरित हो चुका है।

इस बार 31 जुलाई तक ऋण वितरित किया जाएगा। हालांकि बैंक ने अपने स्तर पर 30 जून तक सभी पात्र किसानों को कर्ज बांटने की तैयारी कर ली है। गौरतलब है कि गत साल भास्कर ने डिफॉल्टर किसानों को फसली ऋण नहीं मिलने का मुद्दा उठाया था।

इस मामले को गंभीरता से लेते हुए सहकारिता मंत्री उदयलाल आंजना ने किसानों को राहत देते हुए ऋण वितरण के आदेश दिए थे, लेकिन ऑनलाइन साइट नहीं खुलने के कारण प्रक्रिया अटक गई थी। इस बार ऋण वितरण शुरू होते ही डिफॉल्टर किसानों को राहत दी जा रही है।

वर्ष 2018 एवं 2019 में ऋण माफी का लाभ लेने वाले अवधिपार ऋणी किसानों को फसली ऋण दिया जाएगा। राज्य सरकार द्वारा खरीफ 2021 फसली चक्र से अल्पकालीन साख सुविधा से जोड़ते हुए फसली ऋण मुहैया कराने का निर्णय किया है।

ऐसे किसानों को राशि 25 हजार रुपए या उसकी साख सीमा जो भी कम हो के आधार पर जिला केन्द्रीय सहकारी बैंकों के माध्यम से फसली ऋण उपलब्ध कराया जाएगा। ग्राम सेवा सहकारी समिति स्तर पर डिफॉल्टर किसानों के फिंगर प्रिंट लेने के साथ ऋण वितरण की कवायद शुरू हो चुकी है।

लक्ष्य बढ़ने से वंचित किसानों को मिलेगी राहत
इस बार सेंट्रल को-ऑपरेटिव बैंक को 6.25 करोड़ रुपए का कर्ज बांटने का लक्ष्य दिया गया है, लेकिन 30 डिफॉल्टर किसानों को भी सरकार ने शामिल कर दिया है। अभी तक सभी पात्र किसानों को भी कर्ज नहीं मिला है। इस स्थिति में डिफॉल्टर किसानों को लाभांवित करने के लिए लक्ष्य बढ़ाया जाएगा। ऐसे में लक्ष्य करीब आठ करोड़ तक पहुंचने की संभावना है। बैंक स्तर पर सूचियां तैयार की जा रही है।

डिफॉल्टर किसानों को भी मिलेगा फसली ऋ ण
राज्य सरकार ने डिफॉल्टर किसानों को ऋण वितरण की छूट दी है। जिले के करीब 25 से 30 हजार किसानों को राहत मिलेगी। बैंक स्तर पर सूचियां तैयार की जा रही है। 6.25 करोड़ के लक्ष्य के मुकाबले 5.70 करोड़ का खरीफ ऋण बांटा जा चुका है।-रामसुख चौधरी, एमडी सीसीबी बाड़मेर।

खबरें और भी हैं...