• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Barmer
  • 53535 Water Bill Arrears Of 7 Quarters Of PHED, Allotment Of Houses Against Rules, Officers Working Outside Are Also Doing Residence

गड़बड़झाला:पीएचईडी के 7 क्वार्टर के 53535 रुपए पानी बिल बकाया, नियमों विरुद्ध आवास आवंटन, बाहर कार्यरत अधिकारी भी कर रहे निवास

बाड़मेरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पीएचईडी के सरकारी आवास के पानी के बिल भी लंबे समय से बकाया चल रहे हैं। एक ओर जलदाय विभाग सामान्य उपभोक्ता के बकाया राशि जमा नहीं करवाने पर कनेक्शन विच्छेद की कार्रवाई कर रहा है, लेकिन दूसरी ओर अपने ही कार्मिकाें काे बकाया के नाेटिस तक नहीं भेजे जा रहे हैं। विभाग के 21 में से 7 आवासाें के ही 53535 रुपए की राशि बकाया है ताे कुछ के बिजली बिल भी बकाया है। इतना ही नहीं कुछ आवासाें में रह रहे अधिकारियों के स्थानातंरण के बाद से उनका किराया तक जमा नहीं करवाया गया है।

ॉइधर, पीएचईडी के आवास आवंटन में भी गड़बड़झाला सामने आया है। विभागीय क्वाटर्स श्रेणी वार आवंटित नहीं किए गए है। एईएन मार्किंग क्वाटर्स में जेईएन ताे जेईएन क्वाटर्स में चतुर्थ श्रेणी कार्मिक या हेल्पर निवास कर रहे हैं। विभाग की ओर से इन आवास की समय पर मरम्मत भी नहीं करवाई जा रही है। ऐसे में नगर खंड एक्सईएन किराए के मकान में रह रहे हैं ताे इसी आवास में एईएन व जेईएन निवास कर रहे हैं। विभागीय अनदेखी के चलते जर्जर आवासाें की काेई सुध नहीं ली गई है।

पीएचईडी केे एसई भरतसिंह चाैधरी ने बताया कि सरकारी आवासों में रह रहे कार्मिकाें के पानी बिल नहीं भरे गए है ताे विलंब शुल्क के साथ बकाया राशि वसूली जाएगी। निवास कर रहे कर्मचारियों की बकाया राशि हाेने पर एनओसी जारी नहीं की जा सकती । ऐसे में कार्मिकाें के वेतन से कटौती की जाएगी। आवास की मरम्मत कुछ समय बाद करवाई जाएगी। एसई मार्किंग बंगला खाली हाेने के कारण एईएन काे दिया गया है। बायतु एईएन काे काेई आवास आवंटित नहीं है किसी और के नाम से उसका परिवार रह रहा हाेगा।

एसई आवास में एईएन का निवास, नगर खंड एक्सईएन का निवास किराए के मकान में
पीएचईडी के आवास आवंटन नियमाें काे ताक पर रख कर किए गए है। आवंटन में हेराफेरी के चलते एसई बंगला एईएन काे दे रखा है ताे बायतु एईएन काे जिला मुख्यालय पर एक्सईएन का क्वाटर्स आवंटन किया गया है। पीएचईडी के लक्ष्मीनगर स्थित नगर खंड कार्यालय के पास 8 तथा महावीर नगर स्थित एसई कार्यालय में 13 आवास है।

इनमें से अधिकांश आवास कैटेगरी वाइज आवंटित नहीं किए गए है। विभाग की ओर से आवास की अनदेखी की जा रही है। पिछले कई सालाें से आवास की मरम्मत तक नहीं करवाई गई है। विभागीय अधिकारियों काे भी पता नहीं कि आवास की मरम्मत कब करवाई गई? आवास आवंटित हाेने के बाद अधिकारी या कार्मिक ही अपने स्तर पर मरम्मत करवा रहे हैं।

खबरें और भी हैं...