पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

राहत भरी खबर:60 दिन की नहरबंदी समाप्त, 5 जून से बाड़मेर में होगी सप्लाई

बाड़मेर23 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

साठ दिन के इंतजार के बाद नहरबंदी समाप्त हो गई। शुक्रवार को हरिके बैराज से 3000 क्यूसेक पानी इंदिरा गांधी नहर में छाेड़ दिया गया है। बाड़मेर समेत पश्चिमी राजस्थान के 10 जिलाें की पेयजल किल्लत काे देखते हुए निर्धारित समय से 18 घंटे पहले नहर में पानी छाेड़ दिया गया। पांच जून तक बाड़मेर, जैसलमेर समेत सभी जिलों में नहर से जलापूर्ति शुरू होने की संभावना है।

इसके साथ नहरी परियोजना से जुड़े गांवों में पानी का संकट समाप्त हो जाएगा। गौरतलब है कि गर्मी की सीजन में नहरबंदी से शहर समेत ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजल की किल्लत खड़ी हो गई थी। अच्छी बात ये भी है कि कंवरसेन लिफ्ट में 500 क्यूसेक पानी छाेड़ा जाएगा जाे ज्यादातर सिंचाई के वक्त ही इतना छाेड़ा जाता है।

इस बार 500 क्यूसेक पानी इसलिए छाेड़ा जाएगा ताकि जलदाय विभाग की सभी स्कीमाें काे पीने के लिए पर्याप्त पानी मिले और साथ ही नहर से पानी तेज गति से आगे बढ़े। शाेभासर जलाशय भी चार जून तक पानी आ जाएगा। हरिके बैराज से सुबह 3000 क्यूसेक पानी छाेड़ा गया और अ‌ाधी रात काे उसे 7000 क्यूसेक कर दिया गया।

यानी पांच जून तक श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़, बीकानेर, बाड़मेर, जैसलमेर, जाेधपुर जिलाें की पेयजल समस्या दूर हाे जाएगी। हालांकि अभी तक जलदाय विभाग के पास सप्लाई को पानी उपलब्ध है।

नहरबंदी समाप्त होने के साथ हरिके बैराज में पानी छोड़ा गया है। 60 दिन की नहरबंदी के बाद नहर में पानी की आवक शुरू हो गई है। 5 जून तक बाड़मेर में पानी की सप्लाई पहुंचने की संभावना है। इसके साथ ही पानी का संकट समाप्त हो जाएगा।-सुरेशचंद्र जैन, एसई जलदाय विभाग।

खबरें और भी हैं...