राहत:जिला अस्पताल में निशुल्क दवा याेजना के तहत खुलेंगे 7 डीडीसी काउंटर

बाड़मेर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जिला अस्पताल में नए बने तीन आईसीयू के लिए 62 नर्सिंग स्टाफ की स्वीकृति - Dainik Bhaskar
जिला अस्पताल में नए बने तीन आईसीयू के लिए 62 नर्सिंग स्टाफ की स्वीकृति

जिला अस्पताल में आने वाले मरीजाें की राहत के लिए राजमेस की ओर से सात निशुल्क दवा केंद्रों तथा नव निर्मित बच्चों के आईसीयू के लिए नर्सिंग स्टाफ की नियुक्ति जल्द हाेगी। इसकी स्वीकृति राजमेस की ओर से जारी की गई है। अब जिला अस्पताल में निशुल्क दवा वितरण केंद्राें पर मरीजाें की लंबी कतारें लगता बंद हाेगी। अस्पताल की औसत ओपीडी 2133 हाेने से दवा केंद्राें पर मरीजाें काे घंटाें इंतजार करना पड़ रहा है।

ऐसे में जल्द ही एक साथ सात नए निशुल्क दवा काउंटर खाेले जाएंगे। वहीं नव निर्मित बच्चाें के लिए 10 व 20 बेड के बने दाे एनआईसीयू तथा 10 बेड के पीआईसीयू के लिए दाे नर्स ग्रेड फर्स्ट, 60 नर्स ग्रेड सैकंड तथा 21 वार्ड अटेंडरों के पदाें की स्वीकृत मिली है। ऐसे में अब जल्द स्टाफ की नियुक्ति के साथ नए वार्ड अस्पताल प्रशासन की ओर से खाेले जाएंगे।

इधर निशुल्क दवा काउंटरों के खुलने से मरीजों काे दवा के लिए भटकना नहीं पड़ेगा। अस्पताल की पुरानी बिल्डिंग तथा एमसीएच विंग में 24 घंटे निशुल्क दवा केंद्र खुलने से मरीजाें काे दवाइयां लेने पर सहूलियत हाेगी। दवा केंद्रों के लिए फार्मासिस्ट के 21, डाटा ऑपरेटरों के 21 तथा हेल्पर के 21 पदाें की स्वीकृति जारी की गई है। अस्पताल में काउंटरों की संख्या 7 से बढ़कर 14 हाेगी। नए स्वीकृत काउंटर अस्पताल के वार्डों के पास ही स्थापित हाेंगे। हालांकि अस्पताल में भर्ती मरीजों के लिए अस्पताल प्रशासन की ओर से वार्डों में फ्री दवा वितरण के तहत सप्लाई जारी है।

अस्पताल में पहले सात काउंटर अब बढ़कर हाेंगे 14
अस्पताल में फिलहाल सात निशुल्क दवा केंद्र संचालित किए जा रहे है। इनमें एमसीएच विंग में एक, इमरजेंसी वार्ड के पास एक, न्यू टीचिंग बिल्डिंग में दाे तथा पुराने भवन के सामने तीन केंद्र संचालित किए जा रहे हैं। ओपीडी समय में इन काउंटरों के बाहर मरीजों की लंबी कतारें लगी रहती है। अब नए काउंटर खुलने से मरीजों काे दवा केंद्रों पर लंबा इंतजार नहीं करना हाेगा। पहले से 16 फार्मासिस्ट, 8 डाटा ऑपरेटर तथा 3 हेल्पर दवा केंद्रों पर कार्यरत है। अब इन पदाें पर 21-21 कार्मिक लगाए जाने से मरीजाें काे राहत मिलेगी।

खबरें और भी हैं...