पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

काळिंग रो सुकाळ:इत्ते सारे मतीरे; जिलेभर में अच्छी बारिश के बाद चारों ओर खुशियों की फसलें झूम रही

बाड़मेर24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

इस बार मानसून की मेहरबानी से गांव-गांव के खेत में फसलें लहलहा रहा है। जिलेभर में अच्छी बारिश के बाद चारों ओर खुशियों की फसलें झूम रही है। इन फसलों के साथ ही साल में एक बार होने वाले मतीरों की बेलें लटालूट है। अमूमन बरसात का इंतजार करते-करते यहां के कृषक का चौमासा अनाज की उपज के बिना ही निकल जाता है, लेकिन इस वर्ष ग्वार, ज्वार, मोठ, मतीरा, काचर, फळी, बाजरी,मतीरों की बहार है।

खरीफ की इन फसलों में कीटनाशक या रसायनिक खाद का प्रयोग नहीं किया जाता है। इस सीजन में होने वाली पैदावार पूर्णत: आर्गेनिक है। यह तस्वीरें बता रही है कि इस बार खेतों में मतीरों की कैसी पैदावार हुई है। मतीरे किसानों की आय का सहायक स्रोत है। इसके बीज महंगे दामों में बिकते हैं।

इस बार पैदावार को देखते हुए मतीरों से अच्छी आमदनी की उम्मीद है। खेतों में किसान मतीरे एक जगह पर एकत्रित कर रहे हैं। इसके बाद बीज निकालकर बाजार में बेचेंगे। इस बार मतीरा बीज के भावों में तेजी है। जिलेभर में बंपर पैदावार की संभावना है। किसानों ने बताया कि भावों में तेजी के कारण इस बार अच्छा मुनाफे की उम्मीद है।

इन 3 तस्वीरों से जानिए इस बार जमाने की खुशी

पहली तस्वीर: जिला मुख्यालय के निकट बलाऊ गांव के एक खेत में पड़े सैकड़ों मतीरों को एकत्रित करता किसान।

दूसरी तस्वीर: चौहटन क्षेत्र के उपरला गांव में अपने खेत में मीठे मतीरों के साथ मुस्काराती महिला सुगणी बिश्नोई।

तीसरी तस्वीर: खेत में मतीरे एकत्रित करने में बच्चे भी सहयोग करने में जुटे हैं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थल पर जाने का प्रोग्राम बन सकता है। साथ ही आराम तथा आमोद-प्रमोद संबंधी कार्यक्रमों में भी समय व्यतीत होगा। संतान को कोई उपलब्धि मिलने से घर में खुशी भरा माहौल ...

और पढ़ें