• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Barmer
  • Angry Bus Driver And Conductor Sitting On Dharna, Said Arrest The Accused, Passengers Were Upset At The Bus Stand, Roadways Buses Closed

रोडवेज बस ड्राइवर-कंडक्टर को पीटा:गुस्साए बस ड्राइवर और कंडक्टर बैठे धरने पर, सूचना पर अधिकारी पहुंचे मौके पर, बसों का संचालन नहीं होने से यात्री हुए परेशान

बाड़मेर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
धरने पर बैठे रोडवेज कर्मचारी से बातचीत करते अधिकारी। - Dainik Bhaskar
धरने पर बैठे रोडवेज कर्मचारी से बातचीत करते अधिकारी।

बाड़मेर केंद्रीय बस स्टैंड से पैसेंजर को लेकर जयपुर जा रही रही रोडवेज बस के ड्राइवर व कंडक्टर से मारपीट का मामला सामने आया है। इस पर गुस्साए बस ड्राइवरों व कंडक्टर ने रोडवेज बसों का चक्काजाम कर दिया और बस स्टैंड पर धरने पर बैठ गए। बीते करीब चार घंटे से एक भी बस केंद्रीय बस स्टैंड से बाहर रवाना नहीं हुई जिससे पैसेंजर्स को इससे परेशानी हुई।0

सूचना मिलने पर डीएसपी और एसडीएम बस स्टैंड पहुंचे। रोडवेज कर्मचारियों की मांग है कि मारपीट करने वाले लोगों को गिरफ्तार की जाए। दरअसल, गुरुवार सुबह करीब दस बजे केंद्रीय बस स्टैंड से पैसेंजर को लेकर बाड़मेर से जयपुर के लिए रोडवेज बस रवाना हुई, लेकिन सिणधरी चौराहे से कुछ ही दूरी पर एक पैसेंजर ने हाथ देकर रुकवाया। इस दौरान निजी बसों के 8-10 लोग आए और बस ड्राइवर जोगाराम कंडक्टर के साथ मारपीट शुरू कर दी, पीछे से कोई बोला कि वाहन को जला दो। इस पर ड्राइवर डर के मारे बस को केंद्रीय बस स्टैंड लेकर आ गया। बस में पैसेंजर बैठे थे। इसके बाद गुस्साए बस ड्राइवरों व कंडक्टर वहीं पर हड़ताल पर बैठे गए। सूचना मिलने पर पुलिस डीएसपी आनंद सिंह राजपुरोहित, एसडीएम रोहित चौहान बस स्टैंड पहुंचे।

रोडवेज कर्मचारी से वार्ता करते एसडीएम और डीएसपी।
रोडवेज कर्मचारी से वार्ता करते एसडीएम और डीएसपी।

रोडवेज़ यूनियन इंटक शाखा प्रभारी रूगाराम ने बताया कि अवैध बसों के मालिक व ड्राइवर आए दिन मारपीट व गाली गलौज करते हैं। इस संबंध में एसडीएम और कलेक्टर से मिले थे, लेकिन किसी प्रकार का कोई हल नहीं निकला। उन्होंने मारपीट करने वाले आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की तथा सिणधरी चौराहा नो पार्किंग जोन घोषित होने के बावजूद बसें खड़ी रहती है इसको हटाया जाए।। मांगे माने जाने तक हड़ताल जारी रहेगी।

एसडीएम रोहित चौहान ने बताया कि रोडवेज बस व निजी बस में पैसेंजर को लेकर झगड़ा हो गया था इस दौरान मारपीट भी हुई है। रोडवेज ड्राइवर हड़ताल पर बैठे हैं इनसे बातचीत कर रहे हैं। उम्मीद है रोडवेज बसों को संचालन जल्द शुरू कर दिया जाएगा।

बस स्टैंड पर बस के इंतजार में पैसेंजर।
बस स्टैंड पर बस के इंतजार में पैसेंजर।

पैंसेजर हुए परेशान

करीब चार घंटे तक केंद्रीय बस स्टैंड से एक भी बस अन्य जिलों और जगहों के लिए रवाना नहीं होने से पैंसेजर को भारी समस्या का सामना करना पड़ा। इस दौरान पैसेजर स्टैंड पर बार-बार पूछते नजर आए कि बस कब रवाना होगी। कई पैसेंजर वापस घर की ओर चले गए तो कहीं अन्य साधनों से बाहर गए।

रोडवेज कर्मियों की हड़ताल के बाद डीएसपी आनंद सिंह राजुपरोहित, एसडीएम रोहित चौहान, बाड़मेर आगार प्रबंधक उमेश नागर व रोडवेज यूनियन के पदाधिकारियों के बीच करीब आधा घंटे तक वार्ता चली है। वार्ता के दौरान यूनियन ने दो मांगे रखीं कि सिणधरी सर्किल नो जोन पार्किग है इसके बावजूद भी गाडिया पार्किग में खड़ी रहती है और आए दिन लोगों के बीच झगड़ा होता है। दूसरी मांग मारपीट करने वाले आरोपियों को गिरफ्तार किया जाए। इस डीएसपी ने ट्रैफिक प्रभारी डींपल कंवर को बुलाया निर्देश दिए कि सिणधरी चौराहे कोई पार्किग गाड़ी खड़ी नहीं होनी चाहिए। हालांकि वार्ता सफल नहीं हो पाई है।

खबरें और भी हैं...