पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मौसम बदला:प्रदेश में सबसे ठंडा बाड़मेर, 3 दिन में पारा 12 डिग्री गिरा, 30 पर पहुंचा

बाड़मेर8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
चौहटन. पहाड़ियों से कुछ इस तरह बादल टकराए कि दिनभर हिल स्टेशन का नजारा रहा। फोटो: डूंगर राठी - Dainik Bhaskar
चौहटन. पहाड़ियों से कुछ इस तरह बादल टकराए कि दिनभर हिल स्टेशन का नजारा रहा। फोटो: डूंगर राठी
  • चार साल बाद पहली बार जुलाई में सबसे ठंडा दिन, रात और दिन के पारे में महज 4 डिग्री का अंतर

करीब चार साल बाद जुलाई में मंगलवार का दिन प्रदेश में सबसे अधिक ठंडा रहा है। अचानक बदले मौसम के बाद मंगलवार को दिनभर बादलों से आसमान ढका रहा है। दिनभर रिमझिम बारिश के फुहारें चली। मौसम खुशगवार ऐसा कि मानो ये कोई हिल स्टेशन हो। पहाड़ों को चीर कर गुजरते बादल और बादलों की धुंध के साथ ही मनोरम दृश्य लोगों को काफी आकर्षित कर रहा था।

लोगों ने पिकनिक के लिए ठंडे मौसम का जमकर लुत्फ उठाया। बच्चों से लेकर बड़े तक पार्क और पहाड़ी इलाकों में घूमने के लिए निकल पड़े। चार साल बाद पहली बार दिन का पारा 30.8 और रात का पारा 26.9 डिग्री सेल्सियस रहा, यानि दिन और रात के पारे में महज 4 डिग्री का अंतर रहा है। पिछले 3 दिनों में दिन का पारा 42 डिग्री सेल्सियस से लुढ़क कर 30 डिग्री पर पहुंच गया है।

बाड़मेर में सोमवार से अचानक मौसम बदला और बादलों ने डेरा डाल दिया। इसके बाद दो दिनों से सूरज दिखाई नहीं दिया है। बादलों की आवाजाही के साथ ही रिमझिम बूंदाबांदी भी हो रही है। इससे मौसम खुशगवार बना हुआ है। बादलों के कारण गर्मी और उमस गायब हो गई।

बारिश की आस में बैठे किसानों के लिए मंगलवार का दिन भी निराशा का रहा। जिले में कहीं भी तेज बारिश नहीं हुई है। 15 लाख हेक्टेयर में बुआई होनी थी, लेकिन अब तक महज 5-7 लाख हेक्टेयर में ही बुआई हुई है। इससे किसानों के लिए फसल बुआई का समय निकल रहा है। दो दिनों से ठंडी

आगे क्या: कल से तेज हवाओं के साथ बारिश होने की संभावना

बाड़मेर में जुलाई का औसत पारा 37 डिग्री तक रहता है। 17 जुलाई को अधिकतम पारा 42 डिग्री तक पहुंच गया था। पिछले तीन दिनों में तेजी से पारे में गिरावट आई। मौसम विभाग के मुताबिक मानसून के फिर से सक्रिय होने के साथ ही जिले के कई हिस्सों में तेज बारिश की संभावना है। गुरुवार को बारिश का येलो अलर्ट है।

खबरें और भी हैं...