कमलेश एनकाउंटर प्रकरण:कमलेश एनकाउंटर प्रकरण की जांच करने पहुंची सीबीआई टीम बाड़मेर, सर्किट हाउस में बनाया अस्थाई ऑफिस

बाड़मेरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
बाड़मेर सर्किट हाउस। - Dainik Bhaskar
बाड़मेर सर्किट हाउस।

राजस्थान के बहुचर्चित कमलेश प्रजापति एनकाउंटर केस में CBI ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। सीबीआई टीम शुक्रवार की शाम को बाड़मेर पहुंच गई है। CBI टीम ने बाड़मेर सर्किट हाउस में अस्थाई ऑफिस बना लिया है। सीबीआई टीम में 6 सदस्यों की टीम पहुंची है। सीबीआई टीम के लिए सर्किट हाउस में दो-तीन कप्यूटर, प्रिन्टर और स्केनर सहित आवश्यक उपकरण लगा दिये गये है। सीबीआई ने बुधवार को एफआईआर दर्ज की थी।

जानकार सूत्रों के अनुसार सीबीआई ने बाड़मेर पुलिस प्रशासन से गुरुवार को सम्पर्क कर लिया था। पुलिस को आने की सूचना दे दी गई है। पुलिस ने सीबीआई टीम के रुकने के लिए बाड़मेर सर्किट हाउस में बदोबस्त कर दिया है। सीबीआई बाड़मेर सर्किट हाउस में रहने और आफिस के लिए 5 रूम बुक किये हुए है। सूत्र यह भी बता रहे है कि सीबीआई कल से धरातल पर जांच शुरू कर देगी। अब अनुसंधान में यह साफ होगा कि कमलेश प्रजापत का एनकाउंटर सोची समझी साजिश और उनकी हत्या के प्रयास के लिए किया गया स्थानीय पुलिस का षड़यंत्र था या फिर कमलेश की मौत उसे पकड़ने के लिए पुलिस ऑपरेशन के दौरान अचानक उत्पन्न परिस्थितियों की वजह से हुई। इसके लिए सीबीआई टीम बाड़मेर में शुक्रवार को कभी भी पहुंच सकती है।

सीबीआई के लिए तैयार अस्थाई आफिस
सीबीआई के लिए तैयार अस्थाई आफिस

गत 23 अप्रैल को कमलेश प्रजापत एनकाउंटर पर लगातार उठ रहे सवालों और भारी विवाद के बाद राजस्थान सरकार ने सीबीआई जांच के लिए 31 मई को नोटिफिकेशन जारी कर दिया था। इसके आधार पर केन्द्र ने 2 जुलाई को नोटिफिकेशन जारी कर सहमति दे दी थी। केन्द्र के नोटिफिकेशन के बाद सीबीआई ने मामला दर्ज कर लिया है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कमलेश एनकाउंटर की जांच सीबीआई से करवाने की अनुशंसा केन्द्र को भेजी थी। इसकी सिफारिशी चिट्ठी और पूरे केस के दस्तावेज केंद्र सरकार को भेज दिए थे।

यह था मामला

22 अप्रैल को सदर थाना क्षेत्र के सेंट पॉल स्कूल के पीछे एक मकान में घिरे कमलेश प्रजापत को पकड़ने गई पुलिस ने उसके गेट तोड़ कर भागने के दौरान गोली मार कर एनकाउंटर कर दिया था।

खबरें और भी हैं...