स्टेडियम में सजा ग्रीन पटाखों का बाजार:नगर परिषद ने 94 दुकानों की निकाली लॉटरी, 68 ने शुरू की बिक्री लेकिन ग्राहकी कमजोर

बाड़मेर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पटाखों की दुकान पर आए ग्राहक। - Dainik Bhaskar
पटाखों की दुकान पर आए ग्राहक।

बाड़मेर में दीपावली से पहले आदर्श स्टेडियम में ग्रीन पटाखों का बाजार सज कर तैयार है। नगर परिषद ने आवेदन लेकर लॉटरी प्रक्रिया से 94 पटाखों की दुकानों का आवंटन किया था, लेकिन बाजार में मंदी और 4 दिन के लिए पटाखों का लाइसेंस देने की वजह से 68 व्यापारियों ने पटाखा लाइसेंस के लिए निर्धारित राशि जमा करवाई। शेष 26 व्यापारियों ने निर्धारित राशि जमा नहीं करवाई।

दरअसल, सोमवार से पटाखा व्यापारियों ने अपनी दुकानों में पटाखों की ग्रीन वैरायटी भरकर अपना व्यापार शुरू कर दिया है और अब यहां पटाखों की खरीद के लिए लोग भी पहुंचने लगे हैं। पटाखा व्यापारियों की मानें तो उन्हें दिवाली से करीब हफ्ते भर पूर्व दुकानें आवंटित की जाती रही हैं, लेकिन इस बार दुकानों का आवंटन देरी से होने के कारण उनके व्यापार पर काफी असर पड़ा है। वहीं मात्र 4 दिन के व्यापार को देखते हुए व्यापारियों ने सीमित मात्रा में ही स्टॉक रखा है ताकि उन्हें नुकसान का सामना ना करना पड़े।

पटाखों की दुकान पर इक्का-दुक्का कंज्यूमर
पटाखों की दुकान पर इक्का-दुक्का कंज्यूमर

पटाखा व्यापारी दिलीप बंसल के मुताबिक इस साल मंदी की वजह से पटाखों में ग्राहकी नहीं है। कोरोना से पहले आदर्श स्टेडियम में 7-10 दिनों के लिए दुकानें खोलने की अनुमति होती थी लेकिन इस बार प्रशासन व सरकार ने 4 दिन के लिए दुकानें खोलने की अनुमति दी है। पहले दिन व दूसरे दिन इतनी ग्राहकी नहीं है जितनी पहले हुआ करती थी।

स्टेडियम में सजी पटाखों की दुकानें
स्टेडियम में सजी पटाखों की दुकानें

गौरतलब है कि कोरोना काल के चलते लोगों के रोजगार और आमदनी पर भी काफी असर पड़ा है। इससे त्योहारों में होने वाली खरीददारी में भी गिरावट देखने को मिल रही है। इससे पटाखा व्यापार भी काफी प्रभावित होता नजर आ रहा है। यही कारण है कि नगर परिषद द्वारा पटाखा बिक्री के लिए 94 दुकानें आवंटित तो की गईं, लेकिन इनमें 68 पटाखा विक्रेताओं ने ही नियमानुसार राशि वहन कर पटाखा व्यापार शुरू किया।