1.34 लाख किसानों को मिली 33.06 करोड़ की सब्सिडी:बकाया बिल राशि वाले उपभोक्ता बिजली बिल जमा कर योजना का उठा सकते हैं लाभ

बाड़मेर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

राज्य सरकार की किसान ऊर्जा मित्र योजना के तहत बाड़मेर जिले में सितंबर 2021 से अप्रैल 2022 तक करीब 1.34 लाख कृषि विद्युत बिलों में 33.10 करोड़ रुपए की सब्सिडी जारी की जा चुकी हैं। जिले में लक्ष्य की 84 प्रतिशत राशि कृषि बिलों में जारी की गई हैं। एसई अजय माथुर ने बताया कि मुख्यमंत्री राजस्थान सरकार द्वारा लागू की गई किसान ऊर्जा मित्र योजना के तहत सामान्य श्रेणी के मीटर व फ्लेट रेट वाले किसान जिनके विद्युत बिल बकाया नहीं हैं, उन्हें प्रति माह एक हजार रुपए एवं अधिकतम 12 हजार रुपए सालाना सब्सिडी विद्युत बिलों में देने का निर्णय किया गया था।

सितंबर 2021 को उक्त योजना शुरू की गई, इसके तहत अब 8 माह में करीब 1.34 लाख कृषि विद्युत बिलों में 33.10 करोड़ रुपए की सब्सिडी जारी की जा चुकी हैं। उन्होंने बताया कि जिले में करीब 51 हजार उपभोक्ता हैं। इनमें से करीब 43 हजार कृषि उपभोक्ताओं को अब तक इस योजना का लाभ दिया गया हैं।

कब-कब कितनी-कितनी मिली है सब्सिडी
किसान उर्जा मित्र योजना के तहत सितंबर 2021 में पहली बार उपभोक्ताओं के विद्युत बिलों में सब्सिडी लागू हुई। इसके तहत माह सितंबर 2021 में 5544 किसानों को 95.38 लाख रुपए, माह अक्टूबर में 17389 किसानों को 2.94 करोड़ रुपए, माह नवंबर में 13690 किसानों को 2.55 करोड़, दिसंबर में 17335 किसानों को 3.53 करोड़, जनवरी 2022 में 16272 किसानों को 3.80 करोड़, फरवरी में 20825 किसानों को 4.71 करोड़ एवं मार्च माह में अब तक 19068 किसानों को 4.55 करोड़ एवं अप्रैल 2022 में 24770 कृषि बिलों में 10.94 करोड़ रुपए की सब्सिडी जारी की जा चुकी हैं।

सितंबर 2021 से अप्रैल 2022 तक विद्युत सब्सिडी वितरण में राज्य सरकार द्वारा अब तक करीब 33.10 करोड़ रुपए जिले को जारी किए जा चुके हैं, इसका सीधा लाभ कृषि उपभोक्ताओं को विद्युत बिलों में हुआ हैं। उन्होंने बताया कि 51 हजार कृषि उपभोक्ताओं में से 43 हजार कृषि उपभोक्ताओं के 1.34 लाख विद्युत बिलों में यह राशि जारी हुई हैं।

समस्याओं के निराकरण की हो रही है मॉनिटरिंग
विद्युत विभाग द्वारा भीषण गर्मी के मौसम के मद्देनजर विद्युत आपूर्ति संबंधी समस्याओं के निराकरण के लिए स्थापित नियंत्रण कक्ष की प्रभावी मॉनिटरिंग की जा रही हैं। इसके लिए जिला मुख्यालय के साथ ही खंड स्तर पर भी नियंत्रण कक्ष स्थापित किए गए हैं। एसई अजय माथुर ने बताया कि जिले में इन दिनों भीषण गर्मी का दौर चल रहा हैं। इससे अत्यधिक विद्युत भार बढ़ रहा हैं।

इसके मद्देनजर विभाग को नियंत्रण कक्ष पर प्राप्त हो रही विद्युत व्यवधान संबंधी शिकायतों का त्वरित निस्तारण करने के प्रयास किए जा रहे हैं एवं इसकी प्रभावी मॉनिटरिंग भी सहायक अभियंता, अधिशाषी अभियंता स्तर पर की जा रही हैं। वहीं बढ़ते तापमान एवं विद्युत भार के मद्देनजर रखते हुए सभी आमजन व उपभोक्ताओं से आह्वान किया कि विद्युत ट्रांसफॉर्मर के पास, विद्युत लाइनों के नीचे, कोई हाथ ठेले, कोई झोंपे, कोई पशु बाड़े नहीं लगाए जाए।

खबरें और भी हैं...