पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

आर्थिक सुरक्षा:कोरोना से मौत पर डाक कर्मियों के आश्रितों को मिलेगी 10 लाख की सहायता

बाड़मेर4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • आवश्यक सेवाओं की श्रेणी में शुमार होने पर कोरोना योद्धा की तरह कर रहे हैं काम, अनुकंपा नियुक्ति भी मिलेगी

कोरोना संक्रमण काल को देखते हुए डाक विभाग की ओर से अपने कर्मचारियों को आर्थिक सुरक्षा प्रदान की जाएगी। डाक विभाग अब डाक कर्मचारियों एवं ग्रामीण डाक सेवकों की सेवा काल में कोरोना संक्रमण से मृत्यु होने पर उनके आश्रितों को 10 लाख रुपए देगा।

कोरोना संक्रमण के बढ़ने पर सरकार द्वारा लगाए गए लॉकडाउन में भी डाक विभाग की आवश्यक सेवाओं को यथावत रखा गया है, जिसके चलते यह कर्मचारी अपनी सेवाएं दे रहे हैं। डाक विभाग आवश्यक सेवाओं की श्रेणी में आता है और इस विकट परिस्थिति में सभी डाक कर्मी कोरोना योद्धा बनकर जनता की सेवा में लगे हुए हैं। दुर्भाग्यवश कोरोना संक्रमण की रफ्तार में दिन-प्रतिदिन वृद्धि होती जा रही है। ऐसे में डाक विभाग ने डाक कर्मियों के कल्याण के लिए यह आवश्यक कदम उठाया है, ताकि उनके परिजनों को आर्थिक सहायता मिल सके।

डाक विभाग के अधिकारियों का कहना है कि यदि किसी विभागीय डाक कर्मचारी या ग्रामीण डाक सेवक की मृत्यु कार्य के दौरान कोविड-19 के संक्रमण से होती है तो संचार मंत्रालय, डाक विभाग की ओर से घोषित 10 लाख रुपए की आर्थिक सहायता राशि संबंधित कर्मचारी के आश्रितों को शीघ्र मिलेगी। इसके लिए प्रोसेस में भी किसी प्रकार की कोई देरी नहीं की जाएगी।

उनका कहना है कि कोरोना संक्रमण के दौरान डाक विभाग के कर्मचारियों का अहम योगदान रहा है, जिसके चलते विभाग को यह पहल करनी पड़ी। गौरतलब है कि कोरोना काल में केंद्र सहित राज्य सरकार के मेडिकल के अलावा कई विभाग ऐसे थे, जिनमें कर्मचारियों ने काम किया। ऐसे में सरकार द्वारा उन्हें प्रोत्साहित करने के लिए कई योजनाएं भी चलाई गई। अब डाक विभाग द्वारा चलाई गई यह योजना निश्चित रूप से लाभकारी साबित होगी।

मेडिकल सुविधा के साथ मिलेगी सुरक्षा उपकरण किट
डाक विभाग की ओर से डाक सेवा से जुड़े कर्मचारियों को सुरक्षा उपकरण दिए जा रहे हैं। इसमें आवश्यक मेडिसिन, मास्क, सेनिटाइजर, गर्ल्स, साबुन आदि शामिल है। कोरोना वायरस संक्रमण से अगर किसी डाक कर्मचारी की मौत होती है तो उसके आश्रितों को 10 लाख रुपए का मुआवजा दिया जाएगा।

इसके साथ ही संक्रमित कर्मचारियों को मेडिकल सुविधा भी मिलेगी। कोरोना से संक्रमित डाक कर्मचारी के लिए सीजीएचएस के जरिए मुफ्त चिकित्सा का भी प्रावधान है। कर्मचारी किसी भी निजी अस्पताल में जो सीजीएचएस से स्वीकृत है, इलाज करवा सकते हैं।

ग्रामीण डाक सेवक के लिए डाक विभाग ने कोरोना से संक्रमित ग्रामीण डाक सेवक को 20 हजार रुपए की सहायता राशि सर्किल वेलफेयर फंड से दिया जा रहा है। इसके अलावा डाक कर्मचारी की मृत्यु सेवाकाल में होती है तो उनके आश्रितों को अनुकंपा के आधार पर नौकरी भी दी जाएगी।

कोरोना से बचाव के पुख्ता प्रबंध कर रखे हैं

  • डाक कर्मचारियों एवं ग्रामीण डाक सेवकों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए कोरोना से बचाव के पुख्ता इंतजाम कर रखे हैं। डाकघरों में सैनेटाइजर समेत अन्य सुविधाएं उपलब्ध है। हाल ही में डाक विभाग ने डाककर्मी की कोरोना से मृत्यु होने पर आश्रितों को 10 लाख रुपए की आर्थिक सहायता का आदेश जारी किया है। - उदय सेजू, अधीक्षक प्रधान डाकघर बाड़मेर।
0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- लाभदायक समय है। किसी भी कार्य तथा मेहनत का पूरा-पूरा फल मिलेगा। फोन कॉल के माध्यम से कोई महत्वपूर्ण सूचना मिलने की संभावना है। मार्केटिंग व मीडिया से संबंधित कार्यों पर ही अपना पूरा ध्यान कें...

और पढ़ें