पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Barmer
  • Effect Of Delimitation Of Wards, Shiva And Hanuman Temple In Same Ward, Ward 24 Confined In Four Lanes, Population Divided In 3 Wards Near Court Road Intersection

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पालिका चुनाव:वार्डों के परिसीमन का असर, शिव और हनुमान मंदिर एक ही वार्ड में, चार गलियों में सिमटा वार्ड 24, कोर्ट रोड चौराहे के पास बसी आबादी बंटी 3 वार्डों में

आबूरोडएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शहर में वार्डों के परिसिमन के बाद बांटे गए वार्डों के क्षेत्र का गुगल मैप।
  • आबूरोड नगरपालिका चुनाव को लेकर हुए वार्डों के परिसीमन के बाद बदली स्थिति, शहर में पहले थे 30 वार्ड, अब हुए 40
  • शहर के 12 व 39 वार्ड हुए सबसे लंबे, दोनों वार्ड का क्षेत्र 2 किलोमीटर लंबा फैला है, सबसे छोटा वार्ड 24 नंबर, जिसमें महज 4 गलियां

नगरपालिका चुनाव को लेकर इस बार हुए परिसीमन के बाद शहर के वार्डों की स्थिति ही बदल गई है। शहर में पहले 30 वार्ड थे, जो अब बढ़कर 40 हो गए हैं। ऐसे में कई वार्ड दूसरे वार्डों में बंट गए हैं, तो कई जगहों पर अलग-अलग वार्डों की जगह भी एक एक वार्ड में आ गई है।

शहर में परिसीमन से पहले वार्ड 22 के भाटवास स्थित शिवजी मंदिर, वार्ड 24 में गांधीनगर स्थित दक्षिणमुखी हनुमान मंदिर और भीलवास का शीतलामाता मंदिर अब नए बने वार्ड 28 में आ गए है। वहीं घनी आबादी क्षेत्र स्थित कोर्ट रोड चौराहा के पास बसी आबादी अब तीन वार्डों में बंट गई है। जबकि, परिसीमन से पहले यह आबादी वार्ड 12 व 13 में शामिल थी।

इसी तरह गांधीनगर के हनुमान चौराहा पर बसे लोग अब दो वार्डों में आ गए हैं, जबकि पहले यहां पर चार वार्ड आ रहे थे। जानकारी के अनुसार परिसीमन के बाद पहले कोर्ट रोड चौराहा से गौरवपथ मार्ग, पानी टंकी व बीके टेलर, मोहन वाटिका रोड की आबादी वार्ड 7 में, गांधीपार्क रोड से जगदीश चौराहा तक वार्ड 9 तथा सामने की ओर स्थित सहारा इंडिया कार्यालय भवन वार्ड 10 का हिस्सा थे।

पूर्व में यह आबादी दो वार्डों में बंटी हुई थी। इसी प्रकार शहर के गांधीनगर का अतिव्यस्ततम हनुमान चौक चौराहा पर बसी आबादी पहले चार वार्डों में शामिल थी और परिसीमन के बाद यहां दो वार्ड बन गए हैं। गांधीनगर के हनुमान चौराहा पर पूर्व में वार्ड संख्या 21, 22, 23 व 24 थे। अब यहां पर वार्ड 27 व 28 हो गए हैं। वार्ड 27 में डीजल शेड रोड, गैस ऐजेंसी, पॉवरहाउस व डीके त्रिवेदी फैक्ट्री वाला एरिया तथा वार्ड 28 में कारीगर मोहल्ला, भाटवास, मीणावास व भीलवास को शामिल किया गया है।

क्षेत्रफल में वार्ड 24 अब सबसे छोटा वार्ड

शहर में परिसीमन के बाद क्षेत्रफल के आधार पर वार्ड 24 सबसे छोटा वार्ड हो गया है। यह पूरा वार्ड चार गलियों में सिमट गया है। इसमें गांधीनगर अंबेडकर भवन, सामुदायिक भवन, डीजल शेड के आसपास तथा इंडियन पब्लिक स्कूल के क्षेत्र शामिल है। जबकि परिसीमन से पहले ये क्षेत्र वार्ड 20 में आता था, जो शहर का सबसे बड़ा वार्ड था और इसमें अर्बुदा औद्योगिक क्षेत्र, गेल कॉलोनी समेत फोरलेन से शहर की तरफ का हिस्सा शामिल था।

वार्ड 12 व 39 सबसे लंबे, तो 13, 22 और 25 अलग-अलग दिशाओं में बंटकर हुए सबसे बड़े
परिसिमन के बाद शहर में वार्ड 12 व 39 लंबाई में सबसे बड़े वार्ड बने है। यह दोनों वार्ड करीब दो किलोमीटर लंबे क्षेत्र में हो गए हैं। जबकि, पूर्व में यह वार्ड करीब एक से डेढ़ किलोमीटर की परिधि में बसे थे। इसी प्रकार वार्ड 13, 22 व 25 अलग-अलग दिशाओं में बंटे होने से बड़े वार्ड बन गए हैं।

अलग वार्ड में थे शिवजी व हनुमान मंदिर, अब एक ही वार्ड में

शहर में परिसीमन से पहले शहर के वार्ड 22 के भाटवास स्थित शिवजी मंदिर, वार्ड 24 में गांधीनगर स्थित दक्षिणमुखी हनुमान मंदिर एवं भीलवास के शीतलामाता मंदिर स्थित था। अब ये तीनों ही मंदिर वार्ड 28 में एक साथ आ गए हैं। इसी तरह पहले के वार्ड 21 में डीजल शेड रोड स्थित शिवजी मंदिर एवं वार्ड 23 में पॉवरहाउस स्थित शिवजी मंदिर स्थित, अब यह दोनों मंदिर वार्ड 27 का हिस्सा हो गए। इसी प्रकार पहले के वार्ड 23 स्थित शीतला माता मंदिर, वार्ड 24 के गुरुद्वारा व खेतलाजी मंदिर अब वार्ड 29 का हिस्सा हो गए हैं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- दिन उन्नतिकारक है। आपकी प्रतिभा व योग्यता के अनुरूप आपको अपने कार्यों के उचित परिणाम प्राप्त होंगे। कामकाज व कैरियर को महत्व देंगे परंतु पहली प्राथमिकता आपकी परिवार ही रहेगी। संतान के विवाह क...

और पढ़ें