पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बैठक:नर्मदा नहर से जुड़े किसानों को तीन नवंबर से मांग के अनुरूप मिलेगा पानी

बाड़मेर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • नर्मदा नहर परियोजना जल वितरण समिति की बैठक में दिए निर्देश

नर्मदा नहर परियोजना जल वितरण समिति की बैठक मंगलवार को संभागीय आयुक्त समित शर्मा की अध्यक्षता में संपन्न हुई। वर्चुअल बैठक में चार केंद्र जोधपुर, जालौर, बाड़मेर व सांचौर में आयोजित की गई। बैठक में जालौर-सिरोही सांसद, जल संसाधन संभाग जोधपुर के मुख्य अभियंता, जोधपुर, नर्मदा नहर परियोजना सांचौर के अभियंता उपस्थित रहे। इस दौरान बाड़मेर व जालौर जिला कलेक्टर, उपखंड अधिकारी, जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग, कृषि विभाग के अधिकारी भी उपस्थित रहे। परियोजना की जल वितरण समितियों के अध्यक्ष व जल उपयोगिता संगम के अध्यक्षों व कमांड के काश्तकारों ने भी भाग लिया। बैठक में जल प्रवाह शुरू करने की तिथि तय करने को लेकर चर्चा की गई। चर्चा के बाद सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि रबी वर्ष 2020 में सिंचाई के लिए 3 नवंबर से मांग के अनुरूप परियोजना की सभी नहरों में जल प्रवाहित किया जाएगा तथा 20 अक्टूबर से आवश्यकतानुसार पानी की मात्रा बढ़ाई जाएगी। इस दौरान कमांड क्षेत्र के काश्तकारों ने संभागीय आयुक्त को नहर तंत्र की विभिन्न समस्याओं से अवगत करवाया। आयुक्त ने स्थानीय प्रशासन एवं पुलिस के सहयोग से नहरों पर सिंचाई के अवैध साधन एवं अतिक्रमण हटाने को व्यापक अभियान चलाकर 15 दिन में संपूर्ण नहरी तंत्र को अतिक्रमण मुक्त करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि परियोजना की सब प्रणाली से संबंधित काश्तकारों, परियोजना के अधिकारी एवं कर्मचारी, स्थानीय प्रशासन एवं पुलिस का एक ग्रुप बनाया जाए ताकि उसमें सभी सदस्य अपनी समस्या व उनके निराकरण संबंधी कार्रवाई साझा कर सके। बैठक में जालौर-सिरोही सांसद ने सुझाव दिया कि नहरों के टेल के किसानों को प्राथमिकता से सबसे पहले पानी दिया जाए एवं माइनरों व सब माइनरों सहित सभी नहरों की सफाई करवाई जाएं। संभागीय आयुक्त ने नहरों की सफाई का कार्य महानरेगा के तहत करवाए जाने के निर्देश दिए। सांसद ने यह भी कहा कि पानी वितरण की बाराबंदी अभी से बनाई जाए एवं क्षतिग्रस्त नहरों की मरम्मत शीघ्र पूरी हो। संभागीय आयुक्त ने कार्रवाई के निर्देश दिए।

खबरें और भी हैं...